Articles Hub

hindi horror story-श श श कोई है.

hindi horror story, horror stories in hindi in indian, indian ghost stories in hindi, real horror story in hindi, real ghost stories in hindi
हम एक से बढ़कर एक डरावनी और खौफनाक कहानियां प्रकाशित करते हैं। पेश है इसी कड़ी में खौफनाक आत्मा hindi horror story. आशा है,ये आपको पसंद आएगी।
राजन अहमदाबाद में रहता था। वो वहीँ एक मॉल में काम करता था,राजन बहुत ही मेहनती और ईमानदार था। इसलिए मॉल के मालिक राजन पर पूरा विश्वास करता था। पूरा मॉल राजन के अंडर था,वही देख रेख करता था। धीरे-धीरे राजन ने व्यवसाय के सरे गुर सिख लिए,कस्टमर से कैसे बात किया जाता है,उन्हें कैसे डील किया जाता है,ये सारा गुण राजन में आ गया था,इसलिए मॉल की कमाई भी तेजी से बढ़ने लगी थी और राजन की वेतन भी तेजी से बढ़ने लगी थी। राजन अकेला था,इसलिए उसका खर्चा ना के बराबर था,उसकी सारी कमाई बच रही थी और वो बचा रहा था, उसे खुद का दुकान खोलना था,इसलिए वो मॉल का सामान जहां से लाता था, वहां भी उसने अपनी अच्छी पकड़ बना ली थी,मतलब साफ़ था की उसने अपना पूरा दिमाग लगा रखा था, जिससे वो अपना दुकान चला सके ।आखिर वो दिन आ ही गया जब उसने खुद का दुकान खोल लिया, इसमें उसकी मदद उसके मॉल की मालिक ने भी की । धीरे-धीरे अपनी पूरी मेहनत से वो अपना दुकान भी चला लिया। उसने जब दुकान खोला तो महिलाओ के लिए भी कपडे रखे, जिसके लिए उसने स्वेता को दुकान पर रखा जिसका काम था, महिलाओ को कपड़ा दिखाना था,बाकि का सारा काम खुद राजन कर लेता था, उसके बात से विचार से स्वभाव से और जान पहचान से उसका दुकान तेजी से आगे बढ़ने लगा। स्वेता,राजन की पूरा-पूरा मदद करती थी, दुकान तेजी से आगे बढ़ने लगा दुकान एक साथ काम करने से स्वेता और राजन में प्यार होने लगा, धीरे-धीरे स्वेता और राजन का प्यार गहरा होने लगा ,ज्यों-ज्यों समय बीतता गया, दोनों करीब आते गए और एक दिन राजन ने स्वेता से शादी की बात कही, स्वेता मान गयी,जिसके बाद राजन ने स्वेता से शादी कर ली।

hindi horror story

दोनों ख़ुशी-ख़ुशी रहने लगे, राजन ने अहमदाबाद से थोड़ी दूर पर ही जमीन ले कर एक डुप्लेक्स मकान बना लिया। अब वहीं से दोनों दुकान जाते थे, लेकिन कुछ सालो के बाद स्वेता ने एक खूबसूरत बेटी को जन्म दिया, उसके बाद स्वेता घर पर ही रहने लगी और राजन अकेले दुकान जाने लगा, लेकिन अकेले वो दुकान नहीं संभाल पा रहा था,इसलिए उसने एक दूसरी लड़की जिसका नाम ख़ुशी था उसे अपने दुकान पर काम करने के लिए रख लिया । वक्त के साथ साथ राजन ख़ुशी के करीब आने लगा और वो अब शराब भी पिने लगा था। धीरे-धीरे राजन पर पैसा का गुमान चढ़ने लगा, और इस कदर चढ़ा की वो शराब की नशे में डूब गया। अब वो घर शराब पी कर जाने लगा, स्वेता काफी समझाती थी लेकिन राजन पर कोई असर ही नहीं पड़ती था। स्वेता हमेशा कहती थी की मेहनत से बनाया आशियाना नहीं तोड़ो, वो बेटी की कसम भी खिलाती थी लेकिन राजन था की मानता ही नहीं था,धीरे-धीरे स्वेता हार मान ली और राजन को बोलना छोड़ दी। इधर राजन अब रात को भी घर नहीं आता था,वो ख़ुशी के साथ ही उसके घर पर रह जाता था,जब ये बात स्वेता को पता चली तो वो बहुत दुखी हुई,लेकिन सिर्फ और सिर्फ अपनी बेटी वजह से चुप चाप सब कुछ देखती रहती थी।
और भी भूतों की कहानी पढ़ें==>
खुनी हवेली
वो कौन थी
एक आत्मा से मुलाकात की कहानी
एक आत्मा से मुलाकात की कहानी भाग 2
एक खौफनाक आत्मा से मुलाकात
एक ऐसी आत्मा जो हैरान कर गयी
एक ऐसी आत्मा जो हैरान कर गयी पार्ट 2
वो कौन थी
कोई है
जब भूतनी ने बदला लिया

hindi horror story, horror stories in hindi in indian, indian ghost stories in hindi, real horror story in hindi, real ghost stories in hindi




उसका दिल कह रहा था की एक दिन राजन को समझ में आ जायेगा,और वो वापस घर लौट आएगा,लेकिन राजन था की उसे शराब और ख़ुशी की लत लग गयी थी,वो स्वेता और अपनी बेटी को भूल सा गया था,इसी बिच स्वेता की बेटी बीमार पड़ी और उसने राजन को कल किया लेकिन राजन नहीं आया और उसकी बेटी चल बसी जिससे स्वेता को बहुत दुःख हुआ और उसने अपने ही घर में ख़ुदकुशी कर ली , जब घर से बदबू आने लगा तो आस पास के लोगो ने पुलिस को कल किया तो पता चला की स्वेता ने अपनी जान दे दी। ये बात राजन को पता चली तो वो अपने घर आया और तब उसे पता चला की स्वेता के साथ साथ उसकी बेटी भी नहीं रही,राजन टूट चूका था और एक बार फिर शराब के नशे में डूब चूका था। अब तो वो ख़ुशी को अपने घर ही ले आया था,स्वेता के मरे अभी कुछ ही दिन हुए थे की राजन की एक बार फिर अय्याशी शुरू हो गयी थी वो भी उसी घर में जिस घर को स्वेता ने बड़े ही अरमानो से बनाया था, स्वेता की शायद आत्मा भटक रही थी और उसने जब अपने ही घर में ये सब देखा तो उसकी आत्मा बर्दास्त नहीं कर पायी,और उसने बदला लेने का सोचा,इसलिए वो अब राजन और ख़ुशी को परेशां करने लगी।राजन और ख़ुशी समझ नहीं पा रहे थे की आखिर उन्दोनो के साथ क्या हो रहा है? दोनों काफी परेशान थे,उन्दोनो ने काफी कोशिश की लेकिन स्वेता की आत्मा ने उन्दोनो को लगातार परेशान करती रही,अंत में दोनों वो मकान छोड़ दिए, स्वेता के आत्मा ने दुकान में आग लगा दिया,उनका व्यवसाय बंद हो गया,राजन को खाने के लाले पड़ गए।उसकी ये हालत देख कर ख़ुशी राजन को छोड़ दी,अब तो ख़ुशी के जाने के बाद राजन और अकेला हो गया,आज उसे असली जिंदगी का मतलब समझ में आने लगा,उसे लगा की दुनिया में कोई नहीं है,उसे बहुत अफ़सोस होने लगा की आखिर उसने ये क्या कर दिया उसने खुद से अपनी जिंदगी बर्बाद कर ली,पत्नी और बेटी होने के साथ साथ एक घर और दुकान था,लेकिन आज उसके पास कुछ नहीं था, वो जब भी ख़ुशी के बारे में सोचता वो बहुत परेशान हो जाता,उसे समझ में आ गया की उसने अपनी जिंदगी एक ऐसी लड़की की वजह से बर्बाद कर ली,जो कभी उसकी थी ही नहीं,जब सब कुछ था तो उसके साथ थी आज कुछ नहीं है तो उसके साथ कोई नहीं है ,उसे अपने किये पर पछतावा हो रहा था,वो वापस घर लौट कर आया और बार बार स्वेता से माफ़ी मांग रहा था,और धीरे धीरे वो अपनी मौत का इंतजार करने लगा और आखिर कार उसने अपने घर में दम तोड़ दिया।

आशा है की ये डरावनी कहानी “hindi horror story” आपकी पसंद आयी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर शेयर करें



hindi horror story

loading...
You might also like