Articles Hub

Short hindi stories with moral values- साँप और मुर्ख मेंढक की कहानी

Short hindi stories with moral values, hindi story, short moral stories in hindi, panchatantra short stories, panchatantra tales, प्रेरणादायक कहानियां
हम हर दिन एक से बढ़कर एक प्रेरणादायक कहानिया प्रकाशित करते हैं। इसी कड़ी में आज हम साँप और मुर्ख मेंढक की कहानी Short hindi stories with moral values प्रकाशित कर रहे हैं। आशा है ये आपको अच्छी लगेगी।
लेखक-संजीव
एक जंगल में एक बहुत बड़ा तालाब था और उसमे बहुत सारे मेंढक रहा करते थे। तालाब में पानी बहुत था और खाने की बहुतायत थी इसीलिए उनके दिन मजे से कट रहे थे। सारे मेंढकों में टोडरमल नामक मेंढक थोड़ा मस्तमौला था और वही करता था जो उसके मन में आता था। उस समय वो किसी की भी बात नहीं मानता था। इस वजह से कुछ मेंढक उससे नाखुश रहते थे। बरसात का समय आया और एक दिन मेंढको में एक बात फैली की साँपों को इस तालाब के बारे में पता चल गया है और वो इधर ही आ रहे हैं। ये सुनकर कुछ मेंढक जान बचाकर दूसरी जगह के लिए निकल गए और जो रह गए वो अगले दिन जाने की तैयारी में थे की सांप सचमुच में आ गए।
और भी प्रेरणादायक कहानियां पढ़ें==>
तीन मछलियों की कहानी
कुत्ते और गधे की प्रेरणादायक कहानी
एक सौदागर और नौकर की पंचतन्त्र की कहानी
कहानी तितली की





Short hindi stories with moral values, hindi story, short moral stories in hindi, panchatantra short stories, panchatantra tales, प्रेरणादायक कहानियां
सब मेंढक मुँह दबा कर चुपचाप छिप गए ताकि सापों को उनके छिपने के स्थानों का पता ना चले। साँपों को तालाब में एक भी मेंढक नहीं दिखा तो वो वापस जाने लगे तभी टोडरमल का मन टर्र टर्र कर गाने का हुआ। बांकी मेंढको ने उसे बहुत रोका पर उसने जोर जोर से टर्राना शुरू कर दिया। इससे सापों को उनके छिपने के स्थल का पता चल गया और उन्होंने टोडरमल सहित सभी मेंढकों को मार दिया।
कहानी से सीख – सही वक़्त देखकर ही कोई काम करना चाहिए नहीं तो असफलता और निराशा हाथ लगती है।
मैं आशा करता हूँ की आपको ये “Short hindi stories with moral values” आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर शेयर करें। धन्यवाद्।



loading...
You might also like