trending love story in hindi-प्यार की खातिर

trending love story in hindi

पड़ोस में रहने वाला नीरज एक रेस्टुरेंट में काम करता था, वो बहुत मेहनती था, चुकी रेस्टुरेंट में उसकी ड्यूटी 12 घंटे की थी, और वो साथ ही साथ 3 घंटे का ओवरटाइम भी किया करता था,वो बहुत मेहनती था, मेरी उससे बात ना के बराबर हुआ करती थी,क्योंकि वो ज्यादातर समय रेस्टुरेंट में ही रहता था,वहीँ खाना भी खाता था, सिर्फ सोने के लिए और फ्रेश होने के लिए ही घर आता था, एक रात वो काफी देर से आया,और वो मेरा दरवाजा खटखटाने लगा,इतनी रात को कौन आया ये सोच कर जब दरवाजा खोला तो नीरज को बाहर खड़ा पाया,उसने शराब भी पी रखी थी, उसने लड़खड़ाते हुए बोला की उसके रूम का चाभी रेस्टुरेंट में ही रह गया,इसलिए क्या रात को मेरे रूम में सो सकता है, मैंने हाँ कहते हुए अपने रूम में सोने दिया, वो बहुत बेचैन था, मैंने इससे पहले उसे इस हालत में कभी नहीं देखा,मैंने उसकी परेशानी का सबब पूछा तो वो रोने लगा,और कहा, उसकी बीवी के साथ बहुत बड़ा वाला झगड़ा हुआ है,इसलिए उसने शराब पी ली है,मुझे आज पता चला की नीरज शादी-शुदा भी है, मैंने पूछा झगड़ा क्यों हुआ? इस पर नीरज ने बताया की वो यहाँ आना चाहती है,और मैं उसे कुछ दिनों के बाद आने को बोल रहा हूँ, कुछ दिनों के बाद मेरी सैलरी बढ़ जाएगी तो मुझे ओवरटाइम नहीं करना पड़ेगा,लेकिन उसे मुझ पर शक है की मैं यहाँ किसी और के साथ रहता हूँ,इसलिए मैं उसे यहाँ आने से रोकता हूँ, जबकि मैंने उससे प्रेम-विवाह किया है,फिर भी उसे मेरे पर शक है। वो शराब के नशे में पूरी बात बताने लगा, उसने कहा की उसे पढ़ने में कभी से मन नहीं लगता था, उसे अपना व्यवसाय करना था,लेकिन पापा के पास इतना पैसा नहीं था,जो वो मुझे दे सके,इसलिए वो मुझे बार बार पढ़ कर जॉब करने के लिए बोलते थे। लेकिन मेरे दिमाग में व्यवसाय करना है, यही चल रहा था,इसलिए बारहवीं करने के बाद मैं अपने मामा के साथ उनके व्यवसाय में हाथ बटाने लगा, उनका घर बनाने के लिए यूज़ होने वाले सामान जैसे- सीमेंट,बालू,छड़, गीट्टी का व्यवसाय था । मैं वहीँ उनके साथ काम पर लग गया, मैंने वहां काफी मेहनत की जिसकी वजह से मुझे काफी पैसा मिलने लगा,काम के सिलसिले में अपने शहर से दूर-दूर दूसरे शहर और गांव भी जाने लगा, मेरा सिर्फ एक ही उदेश्य था की जहाँ भी घर बने हमारे ही दुकान से सामान जाये,इसलिए मैं औरो से कम पैसो में सामान बेचता था,इसी दौरान मेरे दुकान पर शर्मा जी आये जो अपना माकन बनाना चाहते थे, वो काफी परेशान थे,क्योंकि वो अकेले थे और घर बनाने की जिम्मेदारी उनकी ही थी, मैंने उनकी घर बनाने में मदद की और मैं उनके घर तक खुद सामान पहुंचवाता था, इसी दौरान उनकी बेटी स्वेता से मेरी मुलाकात हुई,जो बहुत सुन्दर थी,उसे देखते ही मुझे प्यार हो गया, अब मैं रोज कोई ना कोई बहाने से उसके घर चला जाया करता था, अब तो मैं ज्यादातर समय उसी के यहाँ रहने लगा,और खुद मकान भी बनवाने लगा, शर्मा जी बहुत खुश हुए,क्योंकि उनकी टेंशन मैंने अपने सर पर जो ले ली थी, स्वेता भी समझ चुकी थी की…..
ये trending love story in hindi अगली पेज में जारी है, आगे पढ़ने के लिए निचे क्लिक करें।


loading...

No Responses

  1. Pingback: My Homepage July 21, 2017

Add Comment