Articles Hub

Latest

भीगा मन-an inspirational story of an Indian guy about rain

कबीर बारबार घड़ी की ओर देख रहा था. अभी तक उस का ड्राइवर नहीं आया था. जब ड्राइवर आया तो कबीर उस पर बरस पड़ा, ‘‘तुम लोगों को वक्त की कोई कीमत ही नहीं है. कहां रह गए थे?’’ ‘‘साहब, घर में पानी भर गया था, वही निकालने में देर हो गई.’’ ‘‘अरे यार, तुम लोगों की यही मुसीबत है. चार बूंदें गिरती नहीं हैं कि तुम्हारा रोना शुरू हो जाता है… पानी… पानी… अब…
आगे पढ़ें...

सफ़ेद घर-a new horror and scary story of White house

हम समुन्दर के किनारे पर रहते थे और मेरे पापा के पास एक बढ़िया पाल वाली नौका थी। मैं उसे बड़ी अच्छी तरह चला सकता था – चप्पू भी चलाता था, और पाल खींचकर भी जाता था।…
आगे पढ़ें...

समझौता नहीं समर्पण-A new motivational story in hindi…

रिश्ते बनते तो प्यार से हैं, लेकिन निभाए समझौते से ही जाते हैं, जो जितना ज़्यादा समझौता करेगा, उसका जीवन और रिश्ता उतना ही सुखी दिखेगा लोगों को.” मनस्वी ने खिड़की…
आगे पढ़ें...

हिंदी पहेली उत्तर सहित-Some New Hindi paheliyan with answers

तुम न बुलाओ मैं आ जाऊँगी, न भाड़ा न किराया दूँगी, घर के हर कमरे में रहूँगी, पकड़ न मुझको तुम पाओगे, मेरे बिन तुम न रह पाओगे, बताओ मैं कौन हूँ? उत्तर -…
आगे पढ़ें...

सत्यभामा द्वारा कृष्ण दान के उपरांत की कथा-two new hindi…

जब सत्यभामा ने श्री कृष्ण को दान कर दिया, तो नारद जी कृष्ण को साथ लेकर चल दिये। भगवन् ! आप इनका उचित मूल्य ले लें -सत्यभामा ने प्रार्थना की। कोई भी वस्तु लेकर…
आगे पढ़ें...

धन्य है श्रीवृंदावन-two new motivational story of Lord…

एक बार गोस्वामी तुलसीदास जी वृन्दा वन के कालीदह के निकट स्थान में रुके थे। उस समय वृन्दावन के संत नाभा जी जिन्होंने भक्तमाल ग्रन्थ लिखा है, ने उस समय वृन्दावन…
आगे पढ़ें...

रामभरोसे जलेबी जासूस-a new spy thriller hindi story with…

रामभरोसे कई दिनों से उसे नोटिस कर रहा था। वह सवेरे ही आकर एक बेंच कब्जा लेता और जाने क्या अपने में सोचता रहता। उसके पीठ पीछे हरे रंग का एक झोला टंगा होता। झोला…
आगे पढ़ें...

फलक तक-discover a new love story in hindi language

स्वर्णिमा खिड़की के पास खड़ी हो बाहर लौन में काम करते माली को देखने लगी. उस का छोटा सा खूबसूरत लौन माली की बेइंतहा मेहनत, देखभाल व ईमानदारी की कहानी कह रहा था.…
आगे पढ़ें...

ऐसी भक्ति जगी, शरीर पर उग आए शंख चक्र के निशान-Two new hindi…

ऐसी भक्ति जगी, शरीर पर उग आए शंख चक्र के निशान) यह कथा है आमेर नरेश श्री पृथ्वीराज जी स्वामी की। एक बार इनके गुरु पयोहारी जी द्वारिका जी यात्रा पर जाने लगे…
आगे पढ़ें...