ga('send', 'pageview');
Articles Hub

अपना अंदाज़-a best inspirational story for the beginning of your day

a new short motivational story in hindi language of a poor man,,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
प्राचीन समय की बात है ,नजूमी नाम का व्यक्ति अपने पिता का कारोबार संभाला था। एक बार वह अपने ऊँट पर कुछ सामान लादकर दूसरे शहर की तरफ जा रहा था। कटींले और रेतीले रास्ते तिसपर प्रचंड गर्मी। अचानक तेज़ आंधी आई। वह एक सराय के सामने अपने ऊंट से सामान उतारा और उस सराय में ठहर गया। ऊंट को बाहर ही बाँध दिया। सुबह वह जब सो कर उठा तब उसने ऊंट को नहीं पाकर घबरा गया और रोने लगा। तभी उसने देखा कि उसका सामान भी गायब है। नजूमी रोते -रोते सराय के मालिक के पास पहुंचा। परन्तु सराय के मालिक को इस सम्बन्ध में कोई जानकारी नहीं थी। वह अपनी ऊंट की खोज में तेज़ी से शहर की तरफ चल दिया। सड़कें सुनसान थी कोई नज़र नहीं आ रहा था। काफी दूर जाने पर एक राहगीर मिला जिससे उसने अपनी खोये हुए ऊंट के बारे में पूछा। राहगीर ने अपनी अनभिग्यता जताई पर कहा -‘मुझे लगता है कि आपका ऊंट काना है। उसने राहगीर का हाथ पकड़ लिया पर उसने कहा कि मैंने आपका ऊंट नहीं देखा है। नजूमी राहगीर के साथ -साथ चलने लगा ,शायद वह बातों -बातों में चोर का पता बता दे। उसने कहा ,भाई साहब ,क्यों आप अपना वक़्त बर्बाद कर रहे हैं ,?यह सड़क सीधे शहर की तरफ जाती है। तेज़ी से जाएँ तो आपका ऊंट मिल जाएगा। मुझे लगता है कि आपके ऊंट के एक तरफ चीनी की बोरी लदी हुई थी। नजूमी हैरत में पद गे ,इसे कैसे मालूम कि ऊंट काना है और इसपर एक तरफ चीनी की बोरी लदी हुई है ?नजूमी ने उसे कहा की आप ठीक फरमाते हैं पर क्या आप बता सकते हैं कि ऊंट के दूसरी तरफ क्या है ?
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
मैले कपडे-a new inspirational story about dirty clothes with a deep message
कुछ बेहतरीन पंक्तियाँ-a new inspirational story with some wonderful lines in hindi language
अहंकार-a true motivational story in hindi language of MahaKavi Kaalidas
a new short motivational story in hindi language of a poor man,,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

शायद कोई अनाज होगा ,उस राहगीर ने जवाब दिया। नजूमी उससे झगड़ने लगा। तभी उसने एक स्थान परूंटों का झुण्ड देखा। उसका ऊंट एक पेड़ से बंधा था। वह चीख पड़ा ,-मेरा ऊंट यहां कौन लाया है ?किसी ने कोई जवाब नहीं दिया। वह अपना ऊंट लेकर सराय की तरफ चल पड़ा। वही राहगीर मिला उसने पूछा ,-‘मिल गया आपका ऊंट ?’नजूमी क्रोधित होकर बोला ,-‘एक तो ऊंट चुराते हो उस पर भोले बनकर नकारते हो ,’उसने राहगीर की सारी बात क़ाज़ी को बता दी। क़ाज़ी ने पूछा ,-‘सच बताओ ,नहीं तो तुम्हे कारागार में डाल दिया जाएगा। राहगीर ने बिना डरे कहा -‘रास्ते में दाहिनी तरफ की डंडियाँ और पट्टियां बिलकुल सलामत थी जबकि बायीं तरफ की पत्तियां खायी हुई थी। इससे पता चला की जानवर एक आँख से काना है। रास्ते में चीनी के दाने बिखरे मिले जिनपर मख्हियाँ भिनभिना रही थी। इसी से पता किया की जानवर के पीठ पर चीनी की बोरियां लड़ी होंगी। इसी प्रकार अनाज के दाने बिखरे मिले जिससे पता चला की ऊंट के पीठ की दूसरी तरफ अनाज की बोरियाँ लदी होंगी। काज़ी ने राहगीर की बुद्धिमता की खूब प्रशंसा की और नजूमी अपने व्यवहार के लिए लज़्ज़ित होकर माफ़ी मांगी। —

आज का सुविचार —-जीवन बहुत छोटा है ,उसे आनंदपूर्वक जियो ,प्रेम दुर्लभ है ,उसे पकड़ कर रखो /क्रोध बहुत खराब है ,उसे दबा कर रखो /भय भयानक है ,उसका सामना करो /स्मृतियाँ को संजों कर रखो /अगर आपके पास मन की शान्ति है तब समझ लेना कि आपसे अधिक भाग्यशाली कोई नहीं है।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-a best inspirational story for the beginning of your day,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like