ga('send', 'pageview');
Articles Hub

एक मछुआरा-a fisherman a new short inspirational Story in hindi language

a fisherman a new short inspirational Story in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
एक समय की बात है दो मछुआरा भाई जंगल की तरफ मछलियां पकड़ने गए। पास में ही एक बूढ़ा आदमी अपनी बेटी के साथ रहता था। मछली कैसे पकड़ा जाय इसका गुर सिखने के लिए उनसे दोस्ती की। कुछ समय बाद दोनों भाई उस खूबसूरत लड़की के मोह -पाश में बांध गए लेकिन लड़की निर्णय नहीं ले पा रही थी कि उनमे से किसके साथ वह विवाह करे ? उसकी दादी अम्मा ने कहा -दोनों तुम्हारे लिए अनजान हैं पर शादी उसी से करो जो सबसे अच्छा फिशरमैन हो। दोनों में से जो भी ज्यादे मछलियां पकड़कर लाएगा वही उत्तम जीवन साथी होगा। बड़ा भाई का नाम सुकी और छोटा भाई का नाम काना था। दिन गुजरने लगे सूकी अधिक से अधिक मछलियां पकड़ के लाता पर हमेशा तनाव में और थका रहता जबकि काना हमेशा प्रसन्न रहता। सुकि केवल ज्यादे से ज्यादे मछलियां पकड़ता जबकि काना कुछ ही समय मछलियां पकड़ने में लगाता। पिता ने सुकि मिहनती है और अच्छा वर्कर भी है। पर वह काना से काम मछलियां पकड़ता है -लड़की ने कहा। वह हमेशा चिंतित रहता है जब तुम उससे शादी करोगी तब वह और मछलियां पकड़ने में मशगूल रहेगा। दादी ने कहा -उस आदमी से शादी क्या करना जो सुबह से रात तक काम करता रहे ,घर लौटे तो थका सा ,बुझा सा ,और इस काबिल भी ना रहे कि कुछ बात करे ,डांस करे ,या कुछ गीत गुनगुनाये। इसलिए काना से विवाह करो। लड़की ने ना कर दी। एक दिन वह सुकि के पास पहुंची जहां वह मछली मार रहा था। जाल पानी में फेंका था और वह एक पेड़ के नीचे सोया था। वह चुप चाप देख रही थी शाम होते ही उसने जाल समेटा और मछली लेकर वापस घर आ गया। एक मछुआरे की जिंदगी इतनी भी सहज नहीं होती और काना की तरह मेरा भाग्य प्रबल नहीं है सुकि ने कहा। वह जासूसी कर रही थी ,पिता को यह मालूम था। एक आदमी को जीवन में आराम भी चाहिए -पिता ने कहा। उसे लगा कि सुकी चीट कर रहाा है। सुकि क्या तुम कुछ लकड़ियां ला सकते हो। -दादी अम्मा ने कहा। मैं बहुत थक चुका हूँ क्या ये काम काना नहीं कर सत्ता ? तुम दोनों भाई कुछ हप्तों से मछली पकड़ रहे हो। अब समय आ गया है कि मैं अपना फैसला सूना दूँ कि मेरी बेटी किस्से शादी करेगी। निर्णय तो कठिन है इसी बीच लड़की ने चिल्ला कर कहा -तुम दोनों में से मैं किसी से विवाह नहीं करना चाहती। तुम लोग सुस्त ही नहीं हो बल्कि चीटर भी हो। तुम दिन भर सोतेरहते हो और बमुश्किल एक घंटा मछली पकड़ने में लगाते हो। और घर लौटकर थक जाने का बहाना बनाते हो -लड़की ने कहा।
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
मन का दर्पण-mirror of mind a new motivational story about the mind
बर्बरीक कौन थे-Who is barbaric a character sketch of barbaric from mahabharata
बुद्धि का उपयोग-Use of brain a new short motivational story of a mahatma
a fisherman a new short inspirational Story in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

दादी और लड़की ने चुपचाप छिपकर उनकी गतिविधियां देख थी। लेकिन पिता ने कहा कि काना एक आदर्श पुरुष है जिससे वह अपनी बेटी की शादी कर सकता है। सुकी क्रोधित तो हुआ पर कर क्या सकता था -वह चला गया इधर शादी की तैयारी होने लगी। सो अगर आप किसी से मिले जो हमेशा अपने आप को व्यस्त बताता हो और जिसके पास किसी की मदद करने के लिए बिलकुल वक़्त ना हो सुकी और मछली को जरूर याद कीजियेगा। हमेशा व्यस्त आदमी ही कठिन परिश्रम करने वाले नहीं होते। और चलते -चलते –
अनुकूल और प्रतिकूल परिस्थितियों में जीना जीवन का हिस्सा कहलाता है, लेकिन उन सभी परिस्थितियों में मुस्कुराना जीवन की कला कहा जाता है – अनुकूल और प्रतिकूल परिस्थितियों में रहना जीवन का हिस्सा कहलाता है, लेकिन उन सभी परिस्थितियों में मुस्कुराना जीवन की कला कहलाता है।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-a fisherman a new short inspirational Story in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like