Articles Hub

जुगाड़ी लाल-a funny story in hindi

a funny story in hindi,most unbelievable story in hindi,funny but true news in hindi satire news in hindi language, satire news in hindi, hindi satire quotes, faking news hindi, hindi satire quotes, हिंदी में व्यंग्य
दिनेश को अपने गाँव में सभी जुगाड़ी लाल कहते थे, वजह भी थी जब कोई काम किसी से नहीं होता तो दिनेश से हो जाता, वह कोई ना कोई जुगाड़ जरूर कर लेता, इंटर पास करने के बाद उसने आई टी आई में एडमिशन ले लिया और वहां भी जुगाड़ से मशीन बनाया करता था, हलाकि उसका दिमाग बहुत तेज था, कोई ना कोई जुगाड़ जरूर कर लेता, हाँ उसकी एक आदत बहुत खराब थी, वह हमेशा गुटका खाया करता था, जब भी टेंशन होता उसका गुटका भी बढ़ जाता था, कभी कभी तो पूरा मुँह ही गुटका से भरा रहता था, खैर जुगाड़ से उसका काम चल रहा था, उसने कॉलेज में भी एडमिशन जुगाड़ से लिया और अब रहने का खर्च भी जुगाड़ से कर लिया था, उसके कुछ गाँव के ही कुछ दोस्त कॉलेज के पास ही रहते थे, वह उन्ही के साथ रह गया , इस तरह उसे रूम रेंट भी नहीं देना पड़ता था, कुछ दिनों के लिए रहने आया दिनेश आज दो सालो से वही टिका हुआ था, धीरे धीरे उसकी पढ़ाई पूरी हो गयी और उसे सी एम सी कंपनी में जॉब मिल गयी, उसका काम था आस पास के एरिया में जितने भी ए टी एम मशीन थे, उसका केयर करना और छोटी मोटा जो खराबी होता उसे सही करना. हलाकि उसे सैलरी ज्यादा नहीं मिल रही थी लेकिन शुरू में ठीक ही था, वो कहते हैं, ना से हाँ भला. वही दिनेश के साथ था. एक बार दूसरे एरिया में एक ए टी एम मशीन खराब हो गयी, और वहां का सुपरवाइजर मशीन को सही नहीं कर पाया, फिर सुपरवाइजर ने एरिया हेड को कॉल किया वह भी मशीन सही नहीं कर पाया, फिर कंपनी में कॉल गया और वहां से इंजीनियर आये वो भी थक गए लेकिन मशीन काम नहीं किया, अब तो सभी परेशान, वहीँ जुगाड़ी लाल भी खड़ा हो कर सब देख रहा था, उसने भी इक्षा जताई को वो भी मशीन को देखना चाहता है, सभी हसने लगे क्योंकि बड़े बड़े इंजीनियर सही नहीं कर पाए, फिर यह किस खेत की मूली है, फिर कम्पनी ने सोचा एक मौका देते हैं और सभी ए टी मशीन के रूम से बाहर निकल गए, रूम में काफी गर्मी भी लग रही थी, दिनेश को भी समझ नहीं समझ नहीं आ था की मशीन काम क्यों नहीं कर है, सब कुछ तो सही है, टेंशन बढ़ी और दिनेश को गुटखा खाने का तालाब जागा, उसने गुटखा फाड़ा और खा लिया लेकिन गुटखा का रेपर कहाँ फेंकता, इसलिए उसने ए टी एम मशीन के अंदर ही गुटखा के रेपर को डाल दिया,
a funny story in hindi,most unbelievable story in hindi,funny but true news in hindi satire news in hindi language, satire news in hindi, hindi satire quotes, faking news hindi, hindi satire quotes, हिंदी में व्यंग्य
और भी व्यंग्य कहानियां पढ़ें=>
क्या सोनम गुप्ता बेवफा है.
ऑनलाइन मजाक
ये हैं बाबा
फेसबुक ने मारा बिट्टू को
ये क्या मशीन चलने लगी, अब तो दिनेश को खुद विश्वास नहीं हुआ की मशीन खुद कैसे चलने लगी, बाहर सभी खड़े इंजीनियर भी हैरान, सबो ने दिनेश से पूछा भला ये चमत्कार कैसे हुआ, लेकिन दिनेश ने कुछ नहीं बताया, अब तो कम्पनी की नजर ने दिनेश हीरो बन गया उसे एरिया इंचार्ज बना दिया गया और उसकी सैलरी भी बढ़ गयी, अब उसे खुद समझ नहीं आ रहा था की मशीन सही कैसे हुआ, कुछ महीनो के बाद वही मशीन फिर खराब हुआ और एक बार फिर इंजीनियर को बुलाया गया तो उसने मशीन के अंदर गुटखा का रेपर पाया, उसे ताजुब हुआ की यह रेपर यहाँ कहाँ से आया, उसने रेपर निकला और मशीन को उठाया, मशीन चलने लगी, दरसल हुआ यह था की मशीन से जहाँ से पैसा निकलता था वहां से सिस्टम थोड़ा निचे हो जाने के कारन पैसा निकल नहीं पाता था, गुटखा का रेपर लगाते ही, मशीन और सिस्टम आमने सामने आ जाने की वजह से पैसा निकलने लगा,वाकई दिनेश आज अपने जुगाड़ की वजह से कम्पनी में अच्छे पोस्ट पर पहुँच चूका था………..
मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-a funny story in hindi,most unbelievable story in hindi,funny but true news in hindi satire news in hindi language, satire news in hindi, hindi satire quotes, faking news hindi, hindi satire quotes, हिंदी में व्यंग्य

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like