Articles Hub

a horror story in hindi-एक डरावनी आत्मा की खौफनाक कहानी

a horror story in hindi, real spirit stories in hindi language, indian ghost stories in hindi, real horror story in hindi, भूत की कहानियां
हम एक से बढ़कर एक डरावनी और खौफनाक कहानियां प्रकाशित करते हैं। पेश है इसी कड़ी में एक डरावनी आत्मा की खौफनाक कहानी a horror story in hindi आशा है,ये आपको पसंद आएगी।

a horror story in hindi

नीरज अपने माता-पिता के साथ-साथ 4 भाई और 3 बहनो के साथ रहता था,उसके पापा एक कंपनी में अकाउंटेंट थे,सैलरी बहुत कम थी,और परिवार इतना बड़ा इसलिए घर का खर्चा बहुत ही मुश्किल से चलता था. ऊपर से रूम का किराया भी बहुत था,और जगह भी कम था,इसलिए नीरज और उसके भाई-बहन बहुत ही मुश्किल से गुजरा कर पाते थे,नीरज से बड़ा दो भाई और एक बहन थी,जबकि दो बहन और एक भाई उससे छोटा था. सबसे बड़ा भाई बिच में ही पढ़ाई छोड़ कर काम करना शुरू कर दिया था,जिसकी कमाई की वजह से घर का खर्चा चल पता था,वो शीशे का व्यवसाय करता था. धीरे-धीरे उसके बड़े भाई की इनकम बढ़ने लगी और परिवार खुशाल होने लगा,लेकिन वक्त के साथ साथ मंगहाई भी बढ़ने लगी और इसलिए खर्चा भी बढ़ना लाजमी था. जिसकी वजह से नीरज के पापा बहुत ही परेशान रहते थे. एक दिन नीरज के पापा के ऑफिस में एक आदमी आया और नीरज के पापा को परेशान देख कर उनसे परेशानी की वजह पूछी तो नीरज के पापा ने रूम बहुत ही छोटा है जिससे उनका परिवार सही से रह नहीं पा रहा है, उनकी परेशानी सुन कर उस आदमी ने उन्हें सस्ता में एक फ्लैट दिखाया,फ्लैट बहुत बड़ा था और काफी दिनों से बंद था,और किराया भी बहुत ही कम था, नीरज के पापा ने आनन्-फानन में उस फ्लैट में शिफ्ट करने का मन बना लिया और घर में सभी को सामान पैक करने को बोल दिया, सारा सामान सामान पैक हो गया और सभी उस फ्लैट में रहने चले गए,बहुत ही बड़ा और अच्छा फ्लैट था, सभी आराम से रहने लगे. फ्लैट में आये दो ही दिन हुए थे की नीरज के छोटे भाई को अहसास हुआ की इस फ्लैट में उनके अलावे कोई और है,क्योंकि रात में पढ़ने समय अचानक लाइट बंद हो जाता था,वो जला देता और लाइट बंद हो जाती,उसे समझ में नहीं आता की लाइट अपने आप कैसे बंद हो जाती है , वो डर के सो गए, तभी उसे लगा उसका चादर कोई खींच रहा है वो उठ कर बैठ गया लेकिन वहां कोई नहीं था. अगले दिन जब उसने अपनी माँ को सब बात बताई तो सभी उस पर हसने लगे,अगले दिन सभी अपने अपने कॉलेज चले गए तो दिन में नीरज के छोटे भाई को रैक पर दो हाथ दिखाई दी,वो डर गया और चुप चाप रूम छोड़ कर अपनी माँ को बुला लाया,माँ ने भी जब हाथ देखा तो वो भी डर गयी और उसने नीरज के पापा को फोन किया,नीरज के पापा जब ऑफिस से भागते आये तो उन्हें कुछ नहीं दिखा,उन्होंने नीरज के छोटे भाई और उसकी माँ को डाटा कुछ नहीं है सिर्फ मन का वहम है, तुम लोग को यहाँ नहीं रहना इसलिए ऐसा बोल रहे हो,इतना सस्ता और अच्छा फ्लैट कहीं नहीं मिलेगा और मंहगा फ्लैट ले नहीं सकते,इसलिए यहीं रहना है और चुप चाप शांति से रहो. कोई क्या कर सकता था?
और भी भूतिया कहानियां पढ़ना ना भूलें==>
खौफनाक इश्क़ की दास्तान
खुनी आत्मा का खौफ
एक फ़िल्मी भूत की कहानी
वो कौन थी




a horror story in hindi, real spirit stories in hindi language, indian ghost stories in hindi, real horror story in hindi, भूत की कहानियां
उसके पापा को यकीं नहीं हो रहा था, अगले दिन नीरज का छोटा भाई घर से बाहर जा रहा था की पीछे से किसी ने उसे धक्का दिया और वो गिर गया,पीछे मुड़ कर देखा तो वहां कोई नहीं था,उसे अहसाह हुआ की कोई तो था,उसे बहुत चोट आयी,लेकिन उसने किसी को नहीं बताया,क्योंकि उसकी बात पर कोई विश्वास नहीं करता. अब तो धीरे-धीरे सभी को एहसास होने लगा, नीरज की बहन की छोटी कोई खींच लेता तो उसके भाई को थप्पड़ लग जाता,सभी डर से गए थे,लेकिन उसके पापा को कभी कुछ एहसास नहीं हुआ इसलिए वो मानने के लिए तैयार नहीं थे. एक दिन नीरज को भी एहसास हुआ जब उसने पाया की कोई हाथ उसे अपनी तरफ खींच रहा है, ताजुब की बात थी की सिर्फ हाथ दिख रहा था,नीरज काफी डर गया और वो कुछ दिनों के लिए अपने दोस्त के लिए चला गया,क्योंकि उसने अपने पापा को जो देखा बताया,लेकिन उसके पापा मानने के लिए तैयार नहीं थे. एक शाम नीरज का बड़ा भाई बहुत खुश था,क्योंकि उसे बहुत बड़ा मुनाफा हुआ था,इसलिए उसने शराब भी पी रखी थी,शाम को घर पहुँचने के बाद वही दो हाथ उसके तरफ बढे तो वो शराब के नशे उन दोनों हाथ के साथ दो-दो हाथ कर लिया,जिसका नतीजा निकला की रात को उसे परदे से बांध कर गला घोंट कर मार दिया गया, लेकिन किसी को कुछ नहीं पता चला, सभी काफी दुखी थे,इस दुःख के माहौल में घर में कोई भी अजीबो गरीब घटना नहीं घटी, अगली रात जब नीरज के पापा सोये हुए थे तो नीरज के बड़े भाई जिनकी हत्या हुई थी वो सपने में आये और उसने पापा को बताया की उसकी हत्या किस तरह की गयी है,जब पापा का नींद खुला तो उन्होंने देखा सिर्फ दो हाथ उनकी पत्नी की तरफ बढ़ रहे हैं,उन्होंने लाइट जला दी और अगली सुबह वो बिना किसी को बोले सामान पैक करने लगे और वहां से चले गए,उन्हें बहुत अफ़सोस हुआ की उनकी वजह से उनके बड़े बेटे की जान चली गयी.

आशा है की ये डरावनी कहानी “a horror story in hindi” आपकी पसंद आयी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर शेयर करें.

a horror story in hindi




loading...
You might also like