ga('send', 'pageview');
Articles Hub

वो खौफनाक रात -a most horror story in hindi

a most horror story in hindi

a most horror story in hindi, latest horror story in hindi, short spirit story in hindi,best horror story in hindi language, scary story in hindi language, ghost in hindi, भूत की कहानी
हम एक से बढ़कर एक Horror Kahaaniyan प्रकाशित करते हैं। पेश है इसी कड़ी में आज हम “वो खौफनाक रात”a most horror story in hindi प्रकाशित कर रहे हैं . आशा है आपको ये Kahaani पसंद आएगी
मैं अपने मम्मी पापा के साथ शहर में रहता था, हलाकि छुट्टियों में मैं अक्सर अपने गाँव जाया करता था.मुझे शहर से गाँव में रहना ज्यादा पसंद था. दूर दूर तक खेत, ताज़ी हवा,शुद्ध पानी और हरा भरा प्रयावरण. शहर की गर्मी और प्रदूषण से दूर मेरा गाँव मुझे बहुत ही प्यारा था. गाँव में दादा दादी के साथ साथ छोटे वाले चाचा भी रहते थे, छोटे वाले चाचा ने 4 कुत्तों को पाल रखा था, जो बड़े और शक्तिशाली थे, वो कुत्ते मेरे दोस्त थे, गाँव में आलिशान घर था और घर से कुछ ही दुरी पर बहुत बड़ा खेत था. खेत के बीचो बिच एक मचान बनाया हुआ था, जिसमे एक रूम था. कभी कभी दिन में मैं खेत घूमते घूमते थक जाता तो उसी मचान वाले घर में सो जाता. कुत्ते भी मेरे साथ ही रहते थे, इस बार गांव में फसल बहुत अच्छी हुई थी, मुझे खेतो में घूमना बहुत अच्छा लगता था, खेत खत्म होने के बाद जंगल शुरू होता था, हलाकि जंगल में कोई खतरनाक जानवर नहीं थे, इसलिए सभी जंगल आया जाया करता थे, पहले जंगल बहुत बड़ा हुआ करता था, लेकिन धीरे धीरे जंगल के पेड़ काट दिए गए और जंगल भी सिमट कर रह गया था. एक शाम में अपने दोस्तों से बात कर रहा था, बात करते करते काफी देर हो गयी थी, मुझे याद आया की मैंने कुत्तो को खाना नहीं खिलाया, मैं घर जा आकर खुद खाना खाया और कुत्तो के लिए खाना ले कर खेतो की तरफ बढ़ गया, मचान पहुंच कर मैने कुत्तो को खाना खिलाया, खाना खिलाते हुए काफी रात हो गया इसलिए मैंने यहीं सोने का मन बना लिया, काफी रात हो चुकी थी मैं गाना सुनते सुनते कब सो गया मुझे खुद पता नहीं चला,

और भी भूत की कहानियां horror stories पढ़ना ना भूलें==>
एक प्रेतात्मा का कहर
खुनी चुड़ैल और गर्ल्स हॉस्टल का आतंक
खुनी गुड़िया का कहर
खुनी हवेली का रहस्य

अचानक से मुझे पेशाब लगा और मैं उठ गया, निचे उतरा तो देखा कुत्ते कहीं नहीं आ रहे हैं, मुझे आस्चर्य हुआ की कुत्ते कहाँ चले गए खैर मैं पेशाब करके वापस मुदा तो मुझे एहसास हुआ की कोई मुझे देख रहा है, लेकिन आखिर कौन मुझे पता नहीं चला मैं तेजी से मचान पर चढ़ गया और अंदर रूम में गया तो देखा सभी कुत्ते रूम के नादेर कोने में दुबके हुए थे, मुझे आस्चर्य हुआ की इतने शक्तशाली कुत्ते इस तरह का व्यवहार क्यों कर रह हैं वह इतने डरे हुए क्यों हैं इसका मतलब था की कुछ तो है जिसे देख कुत्ते भी शांत बैठे हुए हैं फिर मुझे दूर से किसी रौशनी दिखाई दी यह रौशनी जंगल की तरफ से आ रही थी, मुझे आस्चर्य हुआ की भला रात को जंगल में कौन होगा? फिरवह रौशनी मेरे तरफ बढ़ने लगी ज्योँ ज्योँ वह रौशनी मेरे करीब आती मुझे डरने लगा, आम तौर पर कुत्ते खतरा भांप कर भौंकने लगते हैं यहाँ तो कुत्ते बिलकुल शांत हो गए थे, इसलिए मेरा डरना लाजमी था. लेकिन वह रौशनी अचानक बहुत करीब आ गयी यह रौशनी नही जबकि दो आँखें थी, जो बिलकुल लाल थी, जिसे देख कर मैं डर गया .लेकिन इतना हिम्मत था की मेरे साथ चार कुत्ते हैं, लेकिन आखिर वह चीज क्या थी मुझे मालूम नहीं थी, लेकिन जो भी हो वह बहुत ही बड़ी और भहायवाह थी.मुझे डर लगें लगा मैं तेजी से गेट खोला और घर की तरफ दौड़ने लगा मैं तब तक दौड़ा रहा जब तक मैं घर नहीं पहुंच गया, और चाचा के साथ सो गया, सुबह जब मुझे चाचा जगाने आये तो मेरी नींद खुली
चाचा ने मुझे मचान पर ले गए जहाँ मैंने देखा की चारो कुत्ते के लाश खून से सने हुए, जिसे देख मैं रो दिया.मैंने रात की पूरी घटना चाचा को बताई, लेकिन यह साफ़ नहीं हो पाया की आखिर वह क्या चीज थी………..
मैं आशा करता हूँ की आपको ये kahaani आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।
Tags-a most horror story in hindi, latest horror story in hindi, short spirit story in hindi,best horror story in hindi language, scary story in hindi language, ghost in hindi, भूत की कहानी

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like