Articles Hub

a motivational story in hindi language- तीन चिड़ियों की कहानी

 

हम हर दिन एक से बढ़कर एक प्रेरणादायक कहानिया प्रकाशित करते हैं। इसी कड़ी में आज हम तीन चिड़ियों की कहानी a motivational story in hindi language प्रकाशित कर रहे हैं।आशा है ये आपको अच्छी लगेगी।
लेखक- संजीव

a motivational story in hindi language

एक जंगल में एक पेड़ पर एक चिड़ियों का जोड़ा रहता था। एक बार उन्होंने तीन अंडे दिए। समय बीतने के साथ उसमे से बच्चे निकले जिसमे से दो बच्चे तो सामान्य कद काठी के थे पर तीसरा कमजोर और छोटा था। दोनों बड़े चूजे छोटे वाले को हमेशा कमजोर कहकर मजाक उड़ाते रहते थे और उसका खाना भी झपटकर खा जाते थे। इसी तरह समय बीतता गया और चिड़िया के तीनो बच्चे बड़े हो गए। दोनों बड़े बच्चे अपने माता पिता की तरह ही लम्बे चौड़े हुए पर तीसरा वाला कमजोर और छोटा ही रहा। एक दिन आया जब उन्हें घोसले से उड़ना था।
और भी प्रेरणादायक कहानियां पढ़ना ना भूलें=>
पंडित और अमीर आदमी
कुत्ते और मुर्गे की प्रेरणादायक कहानी
मदद करने का फल
चिड़िया और किसान की प्रेरक कहानी





a motivational story in hindi language, short moral stories for kids , panchatantra short stories, panchatantra tales, बच्चों के लिए प्रेरणादायक कहानियां
पहले दोनों बच्चे बड़े ही आराम ही उड़ गए पर तीसरा वाला उड़ान भरने से बहुत हिचकिचा रहा था। माता पिता ने बहुत समझाया और उसको प्रोत्साहन वाली बातें कहीं पर वो उड़ना ही नहीं चाह रहा था। आख़िरकार बहुत बोलने पर वो तैयार हुआ, अपने पंख फैलाये और घोसले से उड़ने के लिए कूद गया। पर ये क्या वो तो उड़ने के बजाये बिना पंख फरफराये सीधा मुँह के बल नीचे गिर गया और मर गया। असल में उसके अंदर इतनी ज्यादा नकारात्मकता भर चुकी थी की उसे अपने ऊपर एक जरा विस्वास नहीं रहा की वो उड़ भी सकता है। और यही उसकी मौत का कारण बनी।

कहानी से सीख- सकारात्मक सोच किसी को बहुत आगे बढ़ा सकती है वही नकारात्मक सोच किसी का भी बेडा गर्क कर सकती है।
मैं आशा करता हूँ की आपको ये “a motivational story in hindi language” आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट सब्सक्राइब करें। 

a motivational story in hindi language




loading...
You might also like