ga('send', 'pageview');
Articles Hub

माया का महल-A mystery palace new inspirational story from the epic mahabharata

माया का महल
A mystery palace new inspirational story from the epic mahabharata,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
पांडवों के अज्ञातवास समाप्त होने में कुछ ही दिन शेष था। पांचो पांडव और द्रौपदी जंगल में छुपाने की जगह ढूंढ रहे थे। अचानक शनिदेव की नज़र आकाश मंडल में पांचो पांडव पर पड़ी। उनके मन में विचार आया कि इनमे सबसे बुद्धिमान कौन है ?इसकी परीक्षा ली जाये . शनि देव ने एक माया का महल बनाया। कई योजन में फैले उस महल के चार कोने थे। पूरब, पश्चिम ,उत्तर और दक्षिण। अचानक भीम की नज़र उस महल पर पड़ी। भीम ने महल देखने के लिए युधिष्ठिर से अनुमति ले ली। भीम जब महल के द्वार पर पहुंचे तब शनिदेव दरबान के रूप में खड़े थे। भीम ने महल देखना चाहा शनिदेव ने ने कहा अगर महल देखोगे तो उसकी सार सहित व्याख्या करोगे। भीम ने शर्तें मान ली। पूरब की तरफ गया तो वहाँ अदभूत पशु ,पक्षी और फूलों और फलों से लदे वृक्षों को देखा। आगे उन्होंने तीन कुओं को देखा। अगल बगल में छोटे कुँवे और बीच में बड़ा कुवां। बीच वाले कुवें में उफान आता है और दोनों खाली छोटे कुवें को भर देता है। फिर कुछ देर बाद दोनों छोटे कुवें में उफान आता है और और खाली पड़े बड़े कुवें में पानी आधा रह जाता है। इस क्रिया को भीम कई बार देखता है। पर कुछ समझ नहीं पाटा और दरबान के पास लौटकर आ जाता है। दरबान के पूछने पर भीम ने जो देखा उसे स्पस्ट नहीं कर पाते। शर्त के अनुसार उन्हें बंदी बना लिया जाता है। अब अर्जुन महल देखने आते हैं। एक खेत में दो फसल उग रहे हैं एक में मक्के तो दूसरे में बाजरे की फसल। अजीब लगा उन्हें वापस दरबान के पास आते हैं और नासमझी के कारण शर्त के अनुरूप उन्हें भी बंदी बना लिया जाता है। नकुल आये उन्होंने देखा ,’बहुत सारे सफ़ेद गायें हैं जब उन्हें भूख लगती हैं तो वे छोटी बछियों का दूध पीती हैं। उन्हें भी कुछ समझ में नहीं आता।
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
हकीम लुकमान-Hakim Lukmaan a new short motivational story of a desi doctor
सिग्नल मैन-signal man new short mysterious story of Charles Dickens hindi language
एक बुढ़िया की कहानी-A new incident story of an old lady from old times
A mystery palace new inspirational story from the epic mahabharata,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
उन्हें भी बंदी बना लिया जाता है। सहदेव आये ,उन्होंने देखा कि सोने की एक बड़ी शिला एक चांदी के सिक्के पर डगमग तो कर रही होती हैं पर गिरती नहीं समझ में नहीं कुछ आया लिहाज़ा वे भी बंदी बना लिए जाते हैं। युधिष्ठिर आये उन्होंने स्थिति को स्पष्ट किया। कुवें के बारे में बताया कि यह कलियुग में होने वाला है। एक बाप अपने दो बेटों का पेट तो भर देगा पर दो बेटे मिलकर भी एक बाप का पेट नहीं भर पाएंगे। भीम को छोड़ दिया गया। अर्जुन से पूछे जाने पर उन्होंने फसल के बारे में बताया। उन्होंने कहा -‘यह भी कलियुग में ही होने वाला है। वंश परिवर्तन। यानी अंतर्जातीय विवाह होगा। अर्जुन को भी मुक्त कर दिया गया। नकुल ने जो देखा इस पर युधिष्ठिर ने कहा कलि युग में माताएँ अपने बेटियों के घर में पलेंगी और बेटी का दाना खाएंगी .और बेटे बिलकुल सेवा नहीं करेंगे। नकुल भी छूट गया। सहदेव ने जो देखा इसपर उन्होंने कहा -‘कलियुग में पाप धर्म को हमेशा दबाता रहेगा। पर धर्म फिर भी ज़िंदा रहेगा ,ख़त्म नहीं होगा। आज के कलियुग में सारी बातें सच साबित हो रही हैं।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-A mystery palace new inspirational story from the epic mahabharata,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like