Articles Hub

शैतान-a new greatest horror story of the month in hindi language

a new greatest horror story of the month in hindi language

a new greatest horror story of the month in hindi language,ghost story in hindi language,ghost story in hindi pdf,ghost story in hindi with moral,ghost story in hindi online,ghost story novel in hindi,true love ghost story in hindi,ghost story in hindi new
ये कहानी मुझे मेरे दादा जी ने बताई थी। अब तो वो इस दुनिया में नहीं है पर जब वो इस दुनिया में थे तब उन्‍होंने मुझे बताया था की जब वो जवान थे तो वो लोग ज्‍यादातर गांव में ही रहा करते थे और खेती करते थे। वैसे मैं बता दूं कि यहां के ज्‍यादाततर लोग खेती ही करते हैं। और पुराने जमाने में लोग खेती करके ही अपना गुजारा करते थे। तो दादा जी ने मुझे बताया की जब वो लोग खेती किया करते थे तो रात में वो खेत के पास बने एक छोटे से बास के बने घर में रहते थे और वहीं खेत की रखवाली करते थे कि कोई जंगली जानवर खेत में ना आ जाएं। दादा जी ने बताया ऐसे ही एक साल खेती का सीजन था, मैं मेरे पापा-मम्‍मी और मेरा एक छोटा भाई हम लोग खेत में ही काम कर रहे थे। मैंने मेरे कुछ दोस्‍तों को भी बुला लिया था, मदद करने के लिए। हमने दिन-भर खेत में काम किया और रात में घर जाते वक्‍त मेरे पापा ने कहा कि आज तुम्‍हे खेत में ही सोना है और फसल का ध्‍यान रखना है। मुझे खेत में सोना बिल्‍कुल पसंद नहीं था पर क्‍योंकि पापा ने कहा था इसलिए मैं मना भी नहीं कर पाया। मैंने मेरे साथ मेरे एक दोस्‍त को भी वहीं रूकने को बोला और वो मान गया। शाम के शायद 6 या 7 बजे थे हम दोनों बहुत थक गए थे। रात में हम दोनों अकेले ही थे इसलिए हम दोनों ने शराब पी ये सोचकर की शायद थोड़ी थकान उतर जाएं। हम दोनो खेत के बाहर बास से बनी एक चारपाई पर बैठे थें। मेरा दोस्‍त पीते-पीते पता नहीं कब सो गया शायद वो बहुत ज्‍यादा थक गया था इसलिए मैंने भी उसे जगाना ठीक नहीं समझा। तो मैं वहीं एक कोने में जाकर बीडी पीने लगा। मैं वहां बीड़ी पी ही रहा था की अचानक बहुत तेज हवा चलने लगी। पहले ऐसी हवा नहीं चल रही थी। मैंने ज्‍यादा ध्‍यान नहीं दिया और फिर से बीड़ी पीने लगा। लेकिन, तभी मुझे ऐसा लगा जैसे कोई खेत में चल रहा है। पहले तो मुझे लगा की शायद मेरा दोस्‍त टॉयलेट जाने के लिए उठा होगा। इसलिए मैंने ज्‍यादा ध्‍यान नहीं दिया। खेत में पानी भरा था ओर कुछ ही मिनट बाद मुझे लगा की कोई खेत में पानी में चल रहा है। अब भी मुझे यहीं लगा की शायद वो मेरा दोस्‍त ही है। क्‍योंकि इतनी रात वहां कोई और नहीं आ सकता था मैंने उसे आवाज देते हुए पूछा की तुम उठ गए क्‍या पर उसने कोई जवाब नहीं दिया फिर मैंने पीछे मुड़कर देखा जहां वो सो रहा था तो देखा तो वो वहीं गहरी नींद में ही सो रहा था। मेरे दिल में उसी वक्‍त बहुत ज्‍यादा ड़र आ गया था। अगर वो वहां सो रहा था तो बाहर कौन था। कहीं कोई जंगली जानवर तो नहीं घुस आया था खेत में। मैंने एक ड़ंडा उठाया और खेत के चारों और देखने लगा लेकिन,

a new greatest horror story of the month in hindi language,ghost story in hindi language,ghost story in hindi pdf,ghost story in hindi with moral,ghost story in hindi online,ghost story novel in hindi,true love ghost story in hindi,ghost story in hindi new
और भी डरावनी कहानियां पढ़ना ना भूलें=>
एक खौफनाक आकृति का डरावना रहस्य
लड़की की लाश का भयानक कहर
पुराने हवेली के भूत का आतंक
वहां कोई नहीं था फिर तभी मुझे कोई दिखाई एक लंबा-सा आदमी मुझे देखकर इतनी तेज भागा जैसे कोई तेज जानवर हो और भागते हुए उसने एक बड़े से पैड़ पर छलांग मारी और एक झटके में पेड़ के ऊपर चढ़ गया और गायब हो गया। ऐसा करना किसी इंसान के बस का नहीं था। मैं कुछ सैंकण्‍स तक वहीं देखता रहा मानो की मैं बर्फ की तरह जम गया हूं। फिर उसी वक्‍त मुझे दूसरी तरफ से किसी से दौड़ने की आवाज आई वो मेरा दोस्‍त था जो की बहुत ज्‍यादा ड़रा हुआ था। उसने मुझसे पूछा तुम कहां चले गए थे? क्‍या हुआ मैंने पूछा। उसने बताया तो उसने बताया की जब वो सो रहा था तो उसे ऐसा लगा की कोई उसके साथ चारपाई पर लेटा है। पहले तो उसे लगा की वो मैं हू पर कुछ देर बाद वो जो कोई कुछ भी था अजीब सी आवाज निकालने लगा। बिल्‍कुल किसी सूअर की तरह। उसको लगा की मैं नींद में खर्राटे मार रहा हूं। उसने मुझे जोर से हिलाया पर वो जो भी था जरा -सा भी नहीं हिला जैसे की कोई चट्टान हो। फिर मेरे दोस्‍त ने उठकर उसकी तरफ देखा तो उसकी आंखे फटी-की-फटी रह गई। उस इंसान का चेहरा पूरा बालों से भरा था और उसमें से बहुत ही गंदी बदबू आ रही थी और वो उसकी तरफ देखकर हस रहा था वो देखकर जब उसके मुह से चीख निकली तो वो शैतान इतनी तेजी से वहां से भागा की कोई नार्मल इंसान इतनी तेज भाग ही नहीं सकता। ये सुनकर मेरा तो रोम-रोम खड़ा हो गया था। हम दोनों उसी वक्‍त वहां से भागे और जल्‍दी से अपने गांव पहुंचें। घर पहुंचकर उसने हाफ्ते हुए मुझसे पूछा कि वो क्‍या था? मैंने बोला पता नहीं। हम दोनों ने एक ही शैतान को देखा था। शैतान इसलिए बोल रहा हूं कि इंसान तो वो पक्‍का नहीं था। पता नहीं अगर उस दिन मेरी नजर उस पर नहीं पड़ी होती तो वो हमारे साथ क्‍या करने वाला था। हम दोनों ने अपने घरवालो को भी सारी बात बताई। और उस दिन के बाद से हम दोनों ने खेत मे अकेले सोना बंद कर दिया।
मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-a new greatest horror story of the month in hindi language,ghost story in hindi language,ghost story in hindi pdf,ghost story in hindi with moral,ghost story in hindi online,ghost story novel in hindi,true love ghost story in hindi,ghost story in hindi new

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like