Articles Hub

भय-A new haunted story of a lady with child in hindi language of a night

A new haunted story of a lady with child in hindi language of a night
A new haunted story of a lady with child in hindi language of a night,ghost story in hindi language,ghost story in hindi pdf,ghost story in hindi with moral,ghost story in hindi online,ghost story novel in hindi,true love ghost story in hindi,ghost story in hindi new
ये लगभग 20 साल पहले की बात है। मेरे पापा के एक चचरे भाई है, जिनका नाम मनोज है। मनोज उस समय जवान थे और रात-रात भर अपने दोस्‍तो के साथ मस्‍ती किया करते थें। एक रात करीब 2 बजे के बाद अपने दोस्‍तों से विदा लेने के बाद वो वो अपनी बिल्‍ड़िंग के पास एक बरगद के पास बैठकर सिगरेट पीने लगें। तभी एक औरत बुरखा जिसने बुरखा पहना हुआ था उसने अपने हाथ में एक बच्‍चा लिया हुआ था, मनोज से आकर से बोली- भईया मुझे बाथरूम जाना है क्‍या आप मेरे बच्‍चे को संभाल लेंगे? मनोज ने शराब भी पी हुई थी और वो नशे में भी था। इसलिए उन्‍हें उस समय ज्‍यादा कुछ नहीं सूझा। नशे में ना होते थे तो शायद इतनी रात बच्‍चे के साथ किसी औरत को देखकर जरूर सोचते की ये यहां क्‍या कर रही है। उन्‍होंने बच्‍चे को ले लिया और वो औरत पास ही के एक पब्‍लिक टॉयलेट में चली गई। बहुत देर हो गई लेकिन, वो औरत वापस नहीं नहीं आई। और साथ ही मनोज को महसूस हुआ कि वो बच्‍चा जिसकों मनोज ने गोद में लिया हुआ था, वो भी साईज में थोड़ा बड़ा हो चुका है। और उसका वजन भी बढ़ गया है। मनोज को लगा शायद नशें की वजह से उसको ऐसा वहम हो रहा है। लेकिन, धीर-धीर बच्‍चें का वजन ओर बढ़ता गया। और अचानक मनोज का माथा ठनका। उसने सोचा की उस औरत को गए काफी वक्‍त हो चुका है। और साथ ही ये बच्‍चा भी कुछ अजीब है। उन दिनों शहर में काफी ज्‍यादा क्राईम था और गुंड़ा गर्दी रहती थी। इसलिए एक औरत का इतनी रात में निकलना और भी ज्‍यादा खतरनाक था। मनोज उठा और उस टॉयलेट की और चल दिया, जिस टॉयलेट में वो औरत गई थी। और उसके बाहर जाकर उस औरत को आवाजे लगाने लगा। तभी उसने देखा की उसके गोद में जो बच्‍चा है, ज्‍यादा ही भारी हो गया है और उसके पैर भी कुछ ज्‍यादी ही लंबे हो गए है, इतने लंबे की वो नींचे जमीन को छू रहे थें। वो समझ गया की ये औरत और वो बच्‍चा जरूर कोई छलावा है और उन्‍हें अपने दादा जी की बात याद आ गई की अगर कोई छलावा हम पर चढ़ जाए या हमने उसे पकड़ा हो तो उसे जोर से जमीन पर पटक देना चाहिए और भाग जाना चाहिए मनोज ने ठीक वैसा ही किया। हाथ में पकड़े उस चीज को जोर से जमीन पर पटका और तेजी से बिल्‍ड़िंग की तरफ भागने लगा लेकिन, तभी उसकी नजर उसके बाई तरफ गई उसने देखा की वहीं बुरखे वाली औरत बिल्‍ड़िंग के सामने खड़ी है। ठीक उनके बिल्‍ड़िंग जितनी ही लंबी हो चुकी है। वो बिल्‍डिंग कुछ 15 मीटर ऊंची थी और वो औरत भी उतनी ही लंबी हो चुकी थी। ये देखकर मनोज के तो होश ही उड़ गए और वो बिना कुछ सोचे- समझे पीछे की तरफ भागने लगा जिस तरफ हमारा घर था। वो भागते हमारे घर पहुंचा। उस समय तक मैं पैदा भी नहीं हुआ था। घर पर सभी ने उनसे पूछा कि क्‍या हुआ है? इतना ड़रे क्‍यों हुए हो? मनोज ने सबकुछ बता दिया और इसके बाद मनोज को 3 हफ्तों का बहुत तेज बुखार आया और वो बिस्‍तर पर ही पड़े रहे। उस रात के बाद मनोज ने सिगरेट, शराब और आवारागर्दी जैसी सारी बुरी आदते छोड़ दी।
A new haunted story of a lady with child in hindi language of a night,ghost story in hindi language,ghost story in hindi pdf,ghost story in hindi with moral,ghost story in hindi online,ghost story novel in hindi,true love ghost story in hindi,ghost story in hindi new
और भी डरावनी कहानियां पढ़ना ना भूलें=>
एक खौफनाक आकृति का डरावना रहस्य
लड़की की लाश का भयानक कहर
पुराने हवेली के भूत का आतंक
मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-A new haunted story of a lady with child in hindi language of a night,ghost story in hindi language,ghost story in hindi pdf,ghost story in hindi with moral,ghost story in hindi online,ghost story novel in hindi,true love ghost story in hindi,ghost story in hindi new

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like