Articles Hub

कुएँ का भूत-A new hindi short horror story of a scary well

A new hindi short horror story of a scary well,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
इस संसार में जो जन्म लेताहै वह एक दिन मरता ही है। मृत्यु के बाद अतृप्त आत्माएं भटकती हैं हैं जबतक उन्हें मुक्ति नहीं मिल जाती हैं। इसका कोई बैज्ञानिक आधार नहीं है। फिर भी कभी -कभी हमारी अवधारणायेँ भी सच साबित होती हैं। बात कुछपुरानी है। एक गांव में एक कुआं था। वह कुआं बर्षों से प्रयोग में नहीं था। एक दिन गांव के दो ब्यक्ति बाज़ार जा रहेथे। रास्ते में कुआँ पड़ता था। उन्होंने एक अजीबोगरीब दृश्य देखा। कुआ एकाएक लबालब भर गया और के उसमे से एक हट्ठा -कट्ठा आदमीनिकला उसके शरीर से कुछ अधिक ही पानी टपक रहां था। वे उस आदमी के पास पहुंचे और उसके बारे में पूछा। उसने इधर-उधर की बातें की। दोनों में से एक ने कुँए के पानी से नहर निकालने की बात की ताकि खेतों में पटवन किया जा सके। तब उस आदमी ने अपने आप को कुँए का चौकीदार बताया। फिर उसने नहर खोदने की इज़ाज़त दे दी.मौक़ा पाकर उसनेएक कोजिंदा ही खा गया। दूसरा डर के मारे गांव भाग आया। फिर तो रोज गांव से एक ना एक आदमी गायब होने लगे। लोगों का शक उस अनजान बिचित्र ब्यक्ति पर हुआ। सरपंच ने गांव वालों से निदान पूछा। एक ने बताया की वह एक रोज उस अनजान ब्यक्ति को एक ब्याकतो को निगलते हुए देखा। डर के मारे वह कांपने लगा और किसी तरह घर की ओर भागा। जरूर वह अनजान ब्यक्ति भूत है जोकुएँ में वास करता है। सभी ने उस ब्यक्ति के शक पर सहमति जताई। फिर एक प्लान बना।

और भी डरावनी कहानियां पढ़ना ना भूलें=>
एक खौफनाक आकृति का डरावना रहस्य
लड़की की लाश का भयानक कहर
पुराने हवेली के भूत का आतंक
A new hindi short horror story of a scary well,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
चार लोग उस कुँए के पास गए। जाल बिछाया गया। दो ब्यक्ति पेड़ के पीछे छिप गए। उनके हाथों में जाल के डोर थे। कुँए के पास पहुंचे उन दोनों में से चौकीदार से नहर खोदने की अनुमति मांगी। उसने अनुमति दे दी। इसीबीच जब एक ब्यक्तिजब फावड़ा से मिटटी खोदने मिलेगा था तभी उस चौकीदार ने दूसरे ब्यक्ति को ज़िंदा ही निकल लिया। पेड़ के पीछे छिपे दोनों ब्यक्तियों ने जाल के फंदे को जोरसे खींचा वह चौकिदारयाणी कुँए के भूत के जाल के फंदे में दोनों पेअर फँस गए। अब दोनों ने बिपरीत दिशाओं में रस्सी खींचना शुरू किया। उसके शरीर दो भागों में विभक्त हो गए। चौकीदार यानी कुँए का भूत मारा जा चुका था। सभी उस ब्यक्ति के तक़रीब पर खुश थे। उस दिन के बाद से किसी ने उस भूत को कभी नहीं देखा। भूत होतें हैं की नहीं यह पुख्ते तौर पर कहा नहीं जा सकता। हमारे अवचेतन में जो इमेज बनते हैं वही कभी ना कभी विश्वास में बदल जाता है।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-A new hindi short horror story of a scary well,ghost story in hindi language,ghost story in hindi pdf,ghost story in hindi with moral,ghost story in hindi online,ghost story novel in hindi,true love ghost story in hindi,ghost story in hindi new

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like