Articles Hub

छलावा का कहर-A new horror story with a great and unique twist

A new horror story with a great and unique twist,ghost story in hindi language,ghost story in hindi pdf,ghost story in hindi with moral,ghost story in hindi online,ghost story novel in hindi,true love ghost story in hindi,ghost story in hindi new
विजय पुर नामक एक गाँव था इस गाँव के पास एक बहुत बड़ा तालाब था बड़े बुजुर्गो का कहना था यह तालाब एक भूतिया तालाब हैं जो की बड़े बुजुर्ग लोग इस तालाब की हकीक़त को जानते थे उन्होंने देखा था की इस तालाब के पास जाने पर क्या हो सकता हैं कई बच्चों की लाशे इस तालाब में मिली इन लाशो का सर नीची गढ़ा हुआ और दोनों पैर उपर इस प्रकार की घटनाये इस तालाब में हो चुकी थी तो गाँव के लोग अपने बच्चों को समझाते थे की इस तालाब के पास न जाए जब ज्यादा घटनाये घटने लगी तो लोगो ने इस तालाब के रात को तो दूर दिन जाना छोड़ दिया था लोगो अक्सर इस तालाब से ये काम रहता था की पूरा गाँव इस तालाब पर शोच के लिए जाता था तो जेसे ही इस तालाब पर अकेले शोच पर गए आदमी की ही ज्यादा मौते होती थी क्योकि छलावा केवल अकेले आदमी को देख कर उसको अपना शिकार बनाता हैं कई बच्चे जो खेलने के लिए तालाब पर जाते थे उन बच्चों में से रहष्य में डंग मौत हो जाती थी मौते सभी एक प्रकार की ही होती थी सर नीचे दोनों पैर ऊपर एसा होने पर गाँव के लोग इस तालाब की पूरी हकीक़त जान चुके थे
गाँव के सभी लोगो ने इस तालाब पर शोच के लिए जाना बंद कर दिया और डब्बे में पानी भर खेतो में शोच के लिए जाया करते थे इस प्रकिर्या को अपना तो गाँव यह घटना कम हो गयी फिर किसी मौत नहीं हुई क्योकि वहा कोई जाता नहीं था समय बीतता गया 10 साल हो गए गाँव में सुधर आ गया पहले सभी घर कच्चे बने हुये थे अब इस गाँव में हर किसी के पास अपना मक्का माकान था जयादा से ज्यादा लोग शिकक्षित थे सभी के पास सोचालय थे तो उन गाँव के लोगो तालाब के पास जाने की जरुरत क्या थी यह सब हादसे विल्कुल शुन्य प्रतिशत हो गए ज्यादातर लोग इस तालाब की पिछली कहानी भूल गए क्योकि जो बड़े बुजुर्ग थे वह ज्यादा संख्या में गुजर चुके थे उनमे से दो या तीन लोग ही बच्चे थे जो की इस तालाब के बारे में जानते थे लेकिन यह सच्चाई केवल एक कहानी के रूप में देखा जाता था इस सच्चाई पर कोई विश्वाश नहीं करता था तो जो बड़े बुजुर्ग थे वह अपना मजाक नहीं बनबाना चाहते थे इसलिए वह कुछ नहीं बोलते थे .
गाँव में ग्राम प्रधान के यहाँ शादी थी ग्राम प्रधान का नाम नत्थू राम था नत्थू राम की एक लोटी बेटी थी नत्थू राम अपनी बेटी की शादी बड़ी धूम धाम से करना चाहते थे इसलिए अपने सभी रिश्तेदारों को बुलबाया जो कुछ रिश्तेदार शहर में रहा करते थे जो काफी मालदार भी थे शादी में शादी के तीन चार दिन पहले सारे महमान आ चुके थे शादी का प्रोग्राम अच्छा चल रहा था उन महमानों में दो लड़के थे
A new horror story with a great and unique twist,ghost story in hindi language,ghost story in hindi pdf,ghost story in hindi with moral,ghost story in hindi online,ghost story novel in hindi,true love ghost story in hindi,ghost story in hindi new
और भी डरावनी कहानियां पढ़ना ना भूलें=>
एक खौफनाक आकृति का डरावना रहस्य
लड़की की लाश का भयानक कहर
पुराने हवेली के भूत का आतंक
एक का नाम दीपक था और दुशरे लड़के का नाम सोनू था यह दोनों लड़के शहर में पले बड़े हुए थे गाँव में आकर गाँव की भाषा और सहन देख कर इनको हसी आती थी क्योकि गाँव अक्सर देहाती भाषा को ही बोला जाता हैं दीपक की बॉडी काफी अच्छी थी तो दीपक अपनी बॉडी के गुरुर में रहता था और किसी बात नहीं माता था दीपक और सोनू दोनों गाँव के बहार गाँव केसा है यह देखने चले जाते दो दिन बीत गए शादी को सिर्फ एक दिन शेष बचा शादी की तयारी चल रही थी दीपक को किसी व्यक्ति ने तालाब के बारे में बताया और उधर न जाने को कहा दीपक ने यह बात इसलिए टाल दी क्योकि दीपक समझ रहा था की गाँव के लोग उन्हें डराना चाहते हैं अगला दिन हुआ बारात गाँव में आ गयी दी की बारात थी बारात २ बजे टाइम तक चढ़ चुकी थी और फेरो का इंतजाम चल रहा था
लड़की की पाजेब की आबाज से फसाया छालवा ने
फेरे फेरे सब निबट गए और नत्थू राम की बेटी विदा हो कर चली गयी शाम के बज चुके थे दीपक और सोनू ने शराब पी और नशे में होकर दीपक ने सोनू से कहा सोनू चल उस तालाब के पास चलते नशे होने के कारण सोनू ने भी हा कर दी और एक बोतल लेकर तालाब के पास चल दिए और तालाब के पास जाकर बेठ गए और बोतल खोकर पैक मरने लगे दीपक हस रहा था की इस तालाब के पास को जाने के लिए गाँव के लोग हमें मना कर रहे थे लेकिन यहाँ तो कुछ एसा नहीं हैं आधा घंटे तक दीपक और सोनू बेठे रहे और आधे घंटे बाद एक लड़की की पाजेब की आबाज सुने देने लगी दीपक ने सोचा कोई लड़की यहाँ पर है दीपक ने सोनू को वहा से उठाया और पाजेव की आबाज को सुनकर उसका पीछा करने लगे कुछ देर बाद यह आबाजे आना बंद हो गयी रात के समय में अकिले लड़की सुनसान जगह पर आई है इसका मतलब हमारी तो मौज हो गयी दीपक ने सोचा की लड़की हमसे छुपने की कोशिश कर रही है लेकिन दीपक और सोनू को यह नहीं पता था की वह लड़की की पाजेव की आबाज नहीं है वह एक छलावे का झासा हैं कुछ देर बाद उन दोनों को पाजेवो की आबाजे सुने देने लगी ये आबजे तालाब के किनारे से आ रही थी .
दीपक और सोनू इन आबाज के जरिये तालाब के किनारे तक पहुच गए और उन्हें एक लड़की पानी में खडी दिकाही दे रही थी और अपने पास बुलाने का इशारा दे रही थी दीपक और सोनू ने इन इशारो देखा तो वह गदगद हो गए और पानी के अंदर जाने लगे जेसे ही पानी के अंदर गए वेसे छलावा ने दीपक और सोनू को पानी में डूबा कर उनकी हत्या कर दी जब सुवह को देखा तो दीपक और सोनू घर में मोजूद नहीं थे घर सदश्यो उन दोनों को तलाशना चालू कर दिया जब सब जगह उन्हें डूड लिया लेकिन उनका कुछ पता नहीं चला गाँव के ही एक आदमी ने तालाब पर तलाश करने कहा जब वहा जाकर देखा तो दोनों की लाशे तालाब में गाड़ी हुई थी जो बड़े बुजुर्ग कहते थे वो सच था सब की समझ में आ गया.
मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-A new horror story with a great and unique twist,ghost story in hindi language,ghost story in hindi pdf,ghost story in hindi with moral,ghost story in hindi online,ghost story novel in hindi,true love ghost story in hindi,ghost story in hindi new

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like