Articles Hub

भोला रामजी की आत्मा-a new short hindi inspirational story about the corrupt system

a new short hindi inspirational story about the corrupt system,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

एक बार की बात है की भोलरामजी चल बसे उनके प्राण को लेने यमलोक से दूती। पहुंचा। प्राण को लेकर दूत उड़ ही रहा था की भोलाराम जी छिटक कर गायब हो गए ‘दूत परेशान ऐसा पहले कभी हुआ नहीं। यमलोक में सब परेशान। दूत सात दिनों तक भोलूजी के प्राण को ढूंढता रहा। पर वो मिला नहीं। अंततः यमलोक पहुंचा खूब खरी खोटी सुनी। यमराज चित्रगुप्त क्रोधित मुद्रा में थे। नारायण ,नारायण ,नारदजी यमलोक हाल-चाल लेने पहुंचे। बातें सुनी और चल पड़े पृथ्वीलोक की तरफ। भोलाराम के घर पहुंचे। उनकी पत्नी ने रो-रोकर सारा हाल सुनाया। महाराजजी ,घर खाने तक को कुछ नहीं -गहने कपडे बर्तन सब बिक गए बच्चों समेत भूखों मर रहे हैं। पांच सालों तक पेंशन हेतु ऑफिस के चक्कर लगते रहे पर रिश्वत नहीं देने के कारन पेंशन नहीं मिला। अर्जियां फाइल में दब गई। नारदजी पेपर वेट के महत्व समझ गए। उन्होंने अफसर से भोलाराम के अटके पेंशन के बारे में पूछा। बाई थे वे ,ये वीणा तो बहुत खूबसूरत है मेरी बेटी संगीत सीख रही है अगर आप वीणा दे दें तो। .नारदजी तैयार हो गए उन्होंने अपनी वीणा दे दी। चलो वीणा ही ले लो पर पेंशन तो स्वीकृत कर दो। अफसर ने फाइल तालाब किया। फाइल में सैकड़ो अर्जियां पड़ी थी। रिश्वत,चढ़ावा नहीं देने के कारण पेंशन अटका पड़ा था। इसी बीच फाइल के पन्नो से आवाज आई। मैं यहाँ हूँ। महात्माजी आप मुझे तबतक नहीं ले जासकते जबतक मेरा पेंशन स्वीकृत नहीं हो जाता। भोलाजी के बारे में नारदजी ने यमराज को साड़ी बातें बताई। भोलरामजी को मरणोपरांत पेंशन मिला की नाहीसो तो मालूम नहीं पर घिनोने सिस्टम के बारे में जरूर जाना। भोलरामजी का दूत के चंगुल से छिटकने और फाइल में चिपकने की गाथा सचमुच अदभूत है। सलाम भोलाराम जी। ।

और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
उड़ान-a new hindi inspirational story of the march month
बुद्धि एक अमूल्य धरोहर-three new motivational stories in hindi language
लवंगी-जगन्नाथ-A new hindi story from the the period of shahjhan
मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-a new short hindi inspirational story about the corrupt system,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

loading...
You might also like