Articles Hub

गरीब किसान-a new short hindi story of a poor farmer

a new short hindi story of a poor farmer,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

एक गांव में एक किसान रहता था परिवार में उसके अलावे उसकी पत्नी और उसके दो बच्चे थे। वह बहुत नेक और ईमानदार इंसान था। पर निर्धनता ने उसे लाचार कर दिया था। जिस दिन उसे कोई काम नहीं मिलता ,वे सभी भूखे रह जाते। एक दिन उसे कोई काम नहीं मिला। वह साहूकार के पास गया और कोई काम देने को कहा। उसने कहा कि या तो उसे कोई काम दिया जाए या कुछ रुपये उधार दिया जाय साहूकार ने सोचा की यह तो उधार रुपये लौटाने से रहा ,लिहाजा इसे खेतों पर काम पर रख लिया जाए साहूकार ने कहा -ठीक है कल से मेरे खेतों पर काम करना। मैं तुम्हे २०० रुपये रोज दूंगा। वह राजी हो गया। वह खेतों में खूब मिहनत कर काम करने लगा। कुछ दिनों बाद साहूकार अपने घर का भी काम करने लगा। वह मौन रहकर सारा काम करता। खेतों पर काम संपन्न हो चुका था। साहूकार ने उसकी छुट्टी कर दी। किसान घबराया उसने साहूकार से काम देने की विनति की। पर साहूकार ने उसे दरवाजे से भगा दिया। किसान दूसरे दिन फिर साहूकार के पास आया और काम पर रख लेने का आग्रह किया। साहूकार ने कहा की अब उसके लिए कोई काम नहीं है। किसान गिड़गिड़ाया और बोला- साहूकार जी भले ही १०० रुपये ही देना पर कोई काम पर रख लीजिये अन्यथा .मेरा परिवार भूखे मर जाएगा। साहूकार का फिर भी दिल नहीं पसीजा और उसे वापस लौटा दिया। पर किसान ने हिम्मत नहीं हारी ।
a new short hindi story of a poor farmer,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
उड़ान-a new hindi inspirational story of the march month
बुद्धि एक अमूल्य धरोहर-three new motivational stories in hindi language
लवंगी-जगन्नाथ-A new hindi story from the the period of shahjhan
वह रोज साहूकार के पास आता और काम की मांग करता। साहूकार परेशान हो गया। वह एक दिन किसान के आने के पहले ही सपरिवार शहर चला गया। करीब सप्ताह बाद घर लौटा। उसने लोगों से किसान के बारे में पूछा। एक ग्रामीण ने बताया कि जब आपलोग जब शहर चले गए थे तो एक रात कुछ चोर आपके हवेली में घुसने का प्रयास किया। पर किसान आपकी हवेली की रखवाली कर रहा था। उसने चोरों से जमकर मुकाबला की और वह घायल हो गया। उसे कई जगह गंभीर चोटें लगी। चोरों को भागना पड़ा। यह सुनकर साहूकार को बड़ी आत्मग्लानि हुई। वह किसान के घर पहुंचा और देखा की किसान बिछावन पर पड़ा है। वह दर्द से कराह रहा था। साहूकार ने माफी मांगी और बोला की मैंने तुम्हे बहुत सताया है। . साहूकार ने उसका समुचित इलाज कराया तथा उसके सारे रूपये लौटा दिए। उसे अपनी हवेली पर स्थायी रूप से काम पर भी रख लिया। किसान सपरिवार खुशीपूर्वक जीवन जीने लगा। बेईमानी का फल हमेशा खराब होता है। किसी नेक इंसान से छल नहीं करना चाहिए। हमेशा गरीबों की मदद करनी चाहिए।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-a new short hindi story of a poor farmer,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like