ga('send', 'pageview');
Articles Hub

राजकीय अभिवादन-A new short hindi story of an inspirational incident of royal welcme

A new short hindi story of an inspirational incident of royal welcme
A new short hindi story of an inspirational incident of royal welcome,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
राजकीय अभिवादन -डेयिल फॉल स्टोर्स -प्रतीक्षा कितनी लम्बी और कठिन थी। वह बार -बार शयनकक्ष के पास रुकता और सुनता -कोई आवाज़ नहीं। वह अपने आप को असहाय महसूस कर रहा था। खिड़की के बाहर देखा -नदी बह रही थी। पानी जगमगा रहा था। पूल के नीचे बर्फ के लोदें बह रहे थे। समुद्री चिड़ियाँ मछली के लिए गोते लगा रही थी। युवा पति ने खिड़की खोली और लम्बी सांस ली। उसने दासी से पूछा -वह जो दायीं तरफ है वह सबसे पुरानी बोतलों में से है ? हाँ -दासी ने कहा। उसे तभी ख्याल आया कि इस शराब को उसकी पत्नी बहुत पसंद करती थी। हाँ ,इस पुरानी ,तेज़ शराब ने कई मतभेद पैदा किये हैं। पर अंत तो हमेशा हंसी और चुम्बन में ही हुआ है। वह और डॉक्टर दोनों मिलकर पिएंगे दो मोठे गोल आंसू उसके गालों पर लुढ़क गए। दुखमय संशय ने उसे घेर लिया। अंदर एक संघर्ष चल रहा था। यह उसकी प्यारी पत्नी ही थी जिसको उसे सहन करना था। एक उत्तरदायित्व और साथ आनंद भी। उसके लिए जीवन -मृत्यु का प्रश्न था। क्या वह अपना जीवन समाप्त कर दे ? विवाह हुआ ,सब कुछ कितना सूंदर था। वह असत्री को बेपनाह प्यार करता था। वह संसार की हर वस्तु से भी ज्यादे प्यारी थी। तुम्हे संतोष करना चाहिए -डॉक्टर ने कहा। पर वह संतुष्ट कैसे हो सकता था जबकि वह इतनी पीड़ा झेल रही थी। और वह असहाय सा खड़ा था। तुम शोक में बच्चे पैदा करोगी उसने धीरे से कहा। उसकी पत्नी की शहादत उसका भावुक प्यार , यातना से खरीदी खुशियां अब इन शब्दों में क्या रखा था ? परमात्मा ने श्राप दिया तो स्त्री को ही उत्तात्दायी ठहराया। एकाएक एक हृदयविदारक चीख कुछ देर बाद दूसरी चीख ,आशाहीन कराहें -फिर एक खामोशी। चेतनाशून्य , मृत्यु की भाँती पीला , दयापूर्ण ,एक असहाय आकृति वह डगमगाते हुए द्वार की तरफ बढ़ा। हे परमात्मा ,उसे बचा लो — फिर उसकी कानो में एक दुर्बल सी चीख सुनाई दी। वह चिल्लाया -हमें बच्चा मिल गया। द्वार खुला डॉक्टर अंदर आया। कैसी है वह ? ठीक -ठाक ,उसे आराम चाहिए। लड़का हुआ है कि लड़की ? उसने पूछा। लड़का ,क्या मैं अंदर जा सकता हूँ ? हाँ पर सिर्फ एक नज़र के लिए। उसने अपनी बाहें फैलाई जैसे अपनी पत्नी और बच्चे को लपेटना चाहता हो। क्या तुम्हे नींद आ रही है प्रिये ,कोई उत्तर नहीं मिला। उसने बच्चे को छुवा और धीरे से बाहर आ गया , वह अपनी माँ की तरह लगता है। बाप हमेशा ऐसा ही कहते हैं। तोप की आवाज़ें आ रही थी। नर्स मरीज़ा को शांत करने का प्रयास कर रही थी। सबकुछ गड़बड़ होने लगा था। डॉक्टर कमरे में ही था। उसे बचाने की पुरजोर कोशिश हो रही थी। वह जंगली था ,एक शैतान उसने बच्चे को चुरा लिया था। उसने अपने पति के माथे को चूमा फिर क्रोधित होकर मुड़ी। उसका शरीर अकडने लगा और एक तेज़ चीख के साथ उसने अपने हाथ फैला दिए और वह लुढ़कर पीछे गिर गई। बाहर उदासीनता से तोप गुंजी यह वास्तव में एक रानी के लिए राजकीय अभिवादन था। -उस रानी के लिए जिसने मातृभूमि को जीवन देने के लिए अपना बलिदान कर दिया
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
अच्छा सेल्समेन-a new short inspirational story of a young salesmen
चरवाहा-Herdsman a new best short inspirational story of the march month in hindi language
बाहर आने का रास्ता-The way of going out a hindi incomplete love story
A new short hindi story of an inspirational incident of royal welcome,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-A new short hindi story of an inspirational incident of royal welcme,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like