ga('send', 'pageview');
Articles Hub

करामाती दाना-a new short inspirational story in hindi language about the greed

a new short inspirational story in hindi language about the greed

a new short inspirational story in hindi language about the greed,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
बात बहुत पुरानी है। एक भिखारी सड़क के किनारे रहता था। वह प्रतिदिन कंधे पे झोला लटकाये भीख माँगा करता था। जो मिलता उसी से अपना पेट भर लेता। लोग उसे वैगी कहकर बुलाते थे। एक दिन वैगी को भीख में कुछ भी नहीं मिला। भूख से उसका बुरा हाल था। एक बूढी स्त्री को उसके हाल पर दया आ गयी उसने वैगी को गेहूं का एक दाना देते हुए कहा कि यह एक करामाती दाना है ,जब तक यह तुम्हारे पास रहेगा तुम्हे भोजन की कोई कमी नहीं रहेगी। वैगी के कुछ पूछने के पहले वैगी गायब हो चुकी थी। वैगी ने दाना को अपने झोले में डाला और चल पड़ा। सामने होटल था। एक व्यक्ति ने कहा ,’तुम यहां पेट भर भोजन कर सकते हो। वैगी पेट भर खाना खाकर बाहर निकला। अगले दिन एक घर के सामने पहुंचा। घर की मालकिन ने उसे भर पेट खाना खिलाया और रात भर के लिए पनाह भी दी। वैगी को अब यकीं हो गया कि सचमुच यह दाना करामती है। वैगी ने वह दाना उस स्त्री को यह कहते हुए दे दी कि सुबह जाते वक़्त वह इस कीमती दाने को ले लेगा। मेज़बान स्त्री ने उस दाने को प्लेट में रख दिया ,सुबह होते ही एक मुर्गी कमरे के भीतर बचे -खुचे दाना खाने लगी। वैगी ने मुर्गी को देख लिया। वैगी को दौड़ते देख मुर्गी मेज़ पर चढ़ गयी और प्लेट में रखे दाना को खा गई। वैगी ने शोर मचाना शुरू कर दिया। वह अपना दाना मांगने लगा। मालकिन ने कहा -‘दाना तो मुर्गी खा चुकी ,है आप चाहें तो मुर्गी ले जा सकते हैं। वह मुरगिलेकर चल पड़ा। वैगी ने मालकिन को अपना थैला और मुर्गी संभाल कर रखने को कहते हुए सोने चला गया।
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
बौने और मोची-a new short motivational story of dwarf and cobbler
ईश्वर कौन है-three motivational mythological stories in hindi language
अदभूत आदमी-an interesting hindi story of a strange Canadian merchant
a new short inspirational story in hindi language about the greed,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
सुबह मालकिन ने देखा मुर्गी के पंख बिखरे पड़े हैं। कुत्ते ने उसे मारकर खा लिया था। वैगी चिल्लाने लगा। मालकिन ने अपना पालतू कुत्ता उसे दे दिया। वैगी ने कुत्ते को थैले में डाला और चल पड़ा। वह एक बंगले के पास रुका। राजकुमारी को देख उसने सोचा कि अगर किसी तरह यह कुत्ता मर जाए तो बदले में वह राजकुमारी को मांग लेगा। राजकुमारी बंगले के बगीचे में अपनी सहेलियों के साथ खेल रही थी। तभी कुत्ता राजकुमारी पर झपट पड़ा। राजकुमारी ने उसपर डंडे से वार कर दिया। कुत्ता मर गया। मालकिन ने दूसरा कुत्ता देने की पेशकश की पर वैगी बोला -‘जिसने मेरे कुत्ते को मारा है ,वही मुझे दे दीजिए ‘मालकिन को गुस्सा आ गया उसने उसे एक हज़ार मुहरे देती हुई बोली कि इससे एक महीने में दुगुना कर के लाओ तभी मैं अपनी बेटी का हाथ तुम्हे दूँगी। वैगी खुश हो गया उसने कुछ महीने आराम से जिंदगी बिताने की सोची फिर दुगुना करने पर सोचेगा .रास्ते में रूककर जैसे ही थैले में हाथ डाला सैकड़ों कीड़े -मकोड़े उसे काटने लगे। उसने थैले को नदी में फ़ेंक दिया। अब उसके सामने फिर से भीख मांगने के अलावे कोई चारा नहीं था। सच ही तो है ,लालच बुरी बला।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-a new short inspirational story in hindi language about the greed,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like