ga('send', 'pageview');
Articles Hub

देवता और दैत्य-a new short mythological story of gods and demon in hindi

देवता और दैत्य-a new short mythological story of gods and demon in hindi

a new short mythological story of gods and demon in hindi,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
प्रजापति की दो पत्नियाँ थी। अदिति और दीती। अदिति के लड़के देवता थे और दीती के लड़के दैत्य थे। स्वाभाविक रूप से बचपन से ही दोनों के बीच दुश्मनी थी। प्रजापति दोनों के बीच हमेशा संघर्ष देखकर चिंतित थे ,और झगड़ा ख़त्म करने के उद्देश्य से देवताओं के लिए ऊपर स्वर्ग बनाया और दैत्यों के लिए पाताल लोक, फिर कहा -तुम लोग हमेशा आपस में लड़ते रहते हो लिहाज़ा अलग अलग अपने लोक में अब से रहा करो। दैत्यों ने जिद की वे स्वर्गलोक में ही रहेंगे उधर देवता भी जिद पर ठन गए कि वे पाताल लोक में कतई नहीं रहेंगे दोनों लड़ते ही रहे। प्रजापति ने इस मसाले का शीघ्र हल निकालने के लिए बच्चों से कहा कि दोनों में से कोई एक भू लोक पर जाकर रहे और वहाँ अपनी मेहनत से धन का अर्जन करे ,जो भी धन अधिक कमायेगा उसकी जीत होगी और वही स्वर्ग का हक़दार होगा बांकी पाताल लोक में रहेंगे। इसपर देवता और दैत्य दोनों राज़ी हो गए। दोनों ने अपना -अपना एक -एक भाई चुना और दोनों को भू लोक पर भेज दिया। यहां आकर उन्होंने देखा कि मनुष्य कैसे जी रहे हैं .दैत्य ने पूछा -तुम यहाँ कैसे रहोगे ?देवता ने कहा -जैसे यहां मनुष्य रहते है। मैं भी इन्ही की तरह मिहनत कर जीयूंगा दैत्य ने कहा -तुम मिहनत कर जियो ,मैं तो बिना मिहनत कर ही जिऊँगा . दोनों मिलकर एक जमींदार के पास गए। और उनसे काम माँगा। जमींदार ने दोनों को एक -एक हल -और एक -एक जोड़ा बैल दिए और जमीन दिखाकर हल चलाने को कहा। दैत्य थोड़ी ही देर हल चलाकर ऊब गया और अपने बैलों को खुला छोड़ दिया। खुद एक पेड़ के नीचे शाम तक सोता रहा। जब उसकी नींद खुली तब तक अन्धेरा छा चुका था अब दोनों जमींदार के घर पहुंचे। जमींदार ने उन्हें सोने के लिए एक छोटी सी अँधेरी कोठरी दी।
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
कितनी जमीन-a new short motivational story of three sisters about land
चतुराई-a new short motivational story in hindi language about the cleverness
स्वप्न-a new short motivational story about the dream in cemetery
a new short mythological story of gods and demon in hindi,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
सुबह मिलने को कहा। देवता दिन भर का थका था सो उसे तुरत नींद आ गई पर दैत्य को नींद भला कैसे आती। वह तो दिन भर सोया ही तो था। सुबह दैत्य ने देखा देवता के शरीर पर सोने की धुल चिपटी है। पर दैत्य के शरीर पर कुछ भी नहीं था। जमींदार ने कहा -यह जो सोने का धुल तुम्हारे शरीर से लिपटा है यही तेरा मिहताना है। दैत्य बहुत निराश हुआ। अगले दिन भी एक और खेत दोनों भाइयों को दिखाया गया। दोनों खेत में हल जोतने लगे। दैत्य आदतन कुछ ही देर बाद बैलों को खुला छोड़कर और उसने अपने शरीर में ढेर सारे गोंद चिपका लिए ताकि सोने की धुल उसके शरीर से सट सके वह पेड़ के नीचे सोता रहा। इधर देवता कड़ी मिहनत कर दिन भर खेत जोतता रहा। घर पहुंचते ही दो नाद दिखाते हुए अपने -अपने बैलों को पानी पिलाने के लिए जमींदार ने कहा। देवता के बैल प्यासे थे सो नाद का सारा पानी पि गए किन्तु दैत्य के बैल दो चार घूँट पानी पीकर ही चले गए। जमींदार ने खाली नाद के ताल में सोना दिखाई और कहा =’यही तुम्हारी मज़दूरी है ,ले लो. दैत्य ने पूछा -और मेरी मज़दूरी कहा है ? ना तो तुमने मिहनत की ना ही बैलों ने। पानी नाद से भरा रहा तो सोना कैसे मिलेंगे इसमें मैं क्या करूँ ?देवता सब देख रहे थे और उन्होंने अपनी भाई की जीत की एवज़ में स्वर्ग माँगा पर दैत्य अब भी राज़ी नहीं थे। प्रजापति ने दोनों को समुंद्र जाकर मछलियां पकड़ने को कहा। जो भी सबसे ज्यादे मछलियां पकड़ेगा उसे ही स्वर्ग मिलेगा। दैत्यों ने मिलकर एक चाल चली। उनमे से कई दैत्य समुन्द्र में जा घुसे और भाई के जाल में मछलियां भरने लगे। देवता ने अपना जाल निकाला तो उसमे ढेर सारी मछलियां थी। दैत्य के जाल में दस गुना ज्यादे मछलियां थी लिहाज़ा वज़न अधिक होने से जाल फट गया और साड़ी मछलियां समुन्द्र में वापस चली गई। इस तरह छल -कपट से दैत्य देवताओं को परास्त नहीं कर पाए और स्वर्ग देवताओं का हुआ और दैत्य पाताल लोक में रहने लगे।
मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-a new short mythological story of gods and demon in hindi,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

loading...
You might also like