ga('send', 'pageview');
Articles Hub

अद्भुत रहस्य कथा-a new unique mystery story in hindi language

a new unique mystery story in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
अद्भुत रहस्य कथा -पौराणिक ग्रंथों में एक कथा अज़ अथवा बकरे की आती है। एक बार की बात है एक बकरा दौड़ता हुआ आढ़त की दूकान में बेख़ौफ़ दाखिल होकर अनाज की ढेरी में से अनाज चबाने लगता है। एक युवक जो आढ़त का मालिक है एक अन्य दुकानदार से बातें कर रहा है ने जब बकरे को अन्न चबाते देखा तब उसने उसके पीठ पर डंडे से वार कर दिया। बकरा चिल्लाता हुआ भाग खड़ा हुआ। पास ही आद्य शंकराचार्य अपने शिष्यों के साथ बैठे हुए थे ,इस दृश्य को देखकर जोर -जोर से हंसने लगे। उनके शिष्य बिस्मित होकर हँसने का कारण पूछने लगे। तब आदिगुरु ने कहा -वत्स जो बकरा डंडे खाकर गया है वह इस आढ़त का मालिक था। उसने अपने पुत्र की सुख -सुविधाओं के लिए ना जाने क्या -क्या अनैतिक कार्य किये और आज वही पुत्र ईश्वर की कृपा से भ्रमित होकर उसे मार रहा है। इसलिए मुझे हंसी आ गई। बकरे की यह कहानी पुरानी हो चुकी है आइये आज इसे पुनर्जीवित करें। फेड्रिक श्लेटर नामक एक जर्मन अमेरिका में जाकर बस गया। उसकी दादी का नाम था केथोरिन सोफ़िया। वह सन १८७१ में ही आकर अमेरिका में बस गई थी। उसने बुड़वर्ण नाम के एक कृषक के साथ पुनर्विवाह कर लिया था। फेड्रिक किसी अन्य नगर में नौकरी करता था किन्तु वह अक्सर यहां आया -जाया करता था। एक दिन फेड्रिक अपनी बन्दूक लेकर निकला। उसे कोई जीव -जंतु दिखाई नहीं दिया जिसका वह शिकार कर सके पर उसकी नज़र पेड़ पर एक घोंसले पर गई जहां एक कौआ बैठा था। हारकर उसने कौवे पर ही निशाना साध लिया। गोली छोटानेवाली ही थी क़ि कौआ बुरी तरह काँव -कांव करने लगा। फेडरिक का चाचा अव्वाज़ सुनकर फेडरिक के पास दौड़ा -दौड़ा आया और बन्दूक छुड़ाते हुए बोला -यह कौआ तुम्हारी दादी का पालतू है ,इसे कभी मत मारना। कौआ अधिकाँश समय पेड़ पर ही रहता और हर दिन चार से पांच बार सोनिआ से जरूर मिलता। इस रहस्य को कोई नहीं जानता था। उस समय सोफ़िया की उम्र करीब 85 बर्षों की रही होगी। फेड्रिक अपनी दादी से बातें करने लगा। तभी खिड़की की तरफ पंखों की फड़फड़ाहट की अव्वज सुनाई दी।
a new unique mystery story in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
डार्लिंग-Darling a new after the marriage short love story in hindi language
वह कौन था-Who was that a new Strange story in hindi language
गलतफहमी-Misunderstanding a new short love story with emotional touch

वही बूढ़ा कौआ था। जिसके प्राण सोफ़िया के वर्तमान पति ने बचाये थे। वह सोफ़िया के गोद में आकर लुढ़क गया। और बिलकुल अबोध बालक की तरह लोटने लगा। दादी ने कहा -मैं नहीं जानती इसका किस जन्म का आकर्षण है कि यह मेरे पास आये बिना नहीं रह सकता। और मुझे भी इसके बिना चैन कहाँ पड़ता है। बात आई -गई हो गई। फेडरिक अमेरिकी सेना में भर्ती हो गया। वह जिस बैरक में रहता था वह उसके दादी के निवास स्थान से काफी दूर था वहां उस कौवे को उड़ते देखा। उसे घोर आश्चर्य हुआ। कौआ उसके पास आकर उसकी गोद में लोटने लगा। तभी उसे उसकी दादी के इंतकाल का तार मिला। यानी कौआ एक संदेशवाहक था। फेडरिक तब से उस कौवे को अधिक प्यार करने लगा।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-a new unique mystery story in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like