ga('send', 'pageview');
Articles Hub

बाज़ का गीत-A song of eagle story by maxim gorky now in hindi language

बाज़ का गीत -मक्सीम गोर्की

A song of eagle story by maxim gorky now in hindi language
A song of eagle story by maxim gorky now in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

नादिर ओगली क्रीमिआ का रहनेवाला एक वृद्ध गडरिया था,एक दुबला -पतला,समझदार बुजुर्ग। हम रेत पर पड़े थे। रहीम और मैं मछलियों का शोरबा पका रहे थे। सागर तट छपछपा रहा था। मानो वे हमारे अलाव से अपने आप को गरमाने की याचना करना चाह रहा हो। रहीम सागर की तरह मुंह किये पड़ा था। ऐसा प्रतीत हो रहा था मानो वह सागर से बातें कर रहा हो। काला सागर अधिक उजला हो चला था। मैंने रहीम से कोई किस्सा सुनाने को कहा। उसने किस्से के बदले एक गीत सुनाया। ऊँचे पहाड़ पर एक सांप रेंग रहा था और कुंडली मारकर समुद्र की तरफ देख रहा था। लहरें चट्टानों से टकरा रही थी। अचानक उसी दर्रे में जहां सांप कुंडली मारे बैठा था एक बाज़,जिसके पंख खून से लथपथ थे ,जिसके पंखों में एक घाव था,आकाश से वहाँ आ गिरा। वह चट्टान पर गिरते ही क्रोध में छाती पटकने लगा। पहले तो सांप ने सोचा की वो तो पल -दो -पल का मेहमान है। वह घायल पक्षी के पास गया और फुंफकार मारते हुए पूछा -‘मर रहे हो क्या ?’ हाँ मर रहा हूँ बहुत सुख देखा मैंने। मैंने आकाश की ऊंचाइयां नापी है।
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
मक्का चोर-Maize thief a motivational story of farmers three sons and a frog
तीन प्रश्नो के उत्तर लियो टॉलस्टॉय-Three questions a new Hindi inspirational story
अनंत इच्छाएं-Infinite desires a new sensational story of Leo Tolstoy in hindi language
A song of eagle story by maxim gorky now in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
‘आकाश ,एक शून्य मैं भला वहाँ कैसे रेंग सकता हूँ ?सांप ने जवाब दिया। फिर मन ही मन सोचा -चाहे रेंगो ,चाहे उडो सबको इसी धरती पर मरना है। धुल बनना बाज़ ने अपनी सारी शक्ति बटोरी और चीख कर कहा-काश एक बार फिर मैं आकाश में उड़ सकता बाज़ और काई जमी चट्टान पर पंजो के बल फिसलने लगा। कगार पर पहुंचते ही वह शून्य में कूद गया। नदी ने उसे लपक लिया। और समुद्र की तरफ ले चली। पक्षी की लाश समुद्र के व्यापक विस्तारों में ओझल हो गई थी। क्या देखा सांप ने,उस मृत बाज़ को इस शून्य में या अनन्तहीन आकाश में ? वह हवा में उछाला और और बाज़ की तरह उड़ना चाहा। पर जो धरती पर रेंगने के लिए जन्मे हैं वे उड नहीं सकते। चट्टानों पर गिरा और मरा नहीं ,हंसा -तो यही है आकाश में उड़ने का आनंद? नीचे गिराने में हास्यास्पद पक्षी आकाश में ख़ुशी की खोज जहां केवल शून्य है। फिर वहाँ कौन सा आनंद है भला? आत्मबोध के दिव्य गीत कौन गाते होंगे?

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-A song of eagle story by maxim gorky now in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like