Articles Hub

abdul kalam biography in hindi-अब्दुल कलाम की जीवनी

abdul kalam biography in hindi

abdul kalam biography in hindi, apj abdul kalam books in hindi pdf, apj abdul kalam, biography in hindi free download,a p j abdul kalam in hindi speech





देसिकहानियाँ में हम महापुरुषों की जीवनी प्रकाशित करते रहते हैं। पेश है इसी कड़ी में अब्दुल कलम के जीवनी abdul kalam biography in hindi
किसको पता था, कि एक छोटे से गाँव में एक छोटा सा लड़का जो रोज पेपर बांटता था वो एक दिन भारत देश का राष्ट्रपति बन जायेगा. साथ में इस देश को अन्तरिक्ष में भी पहुँचा देगा. जी हाँ, हम बात कर रहे हैं, भारत के स्वर्गीय पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम जी की, जिन्होंने अपने संघर्ष से शिखर पर पहुचें.


भारत रत्न पाने वाले और मिसाइल मैन के रूप में अपनी पहचान बना चुके, डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम जी का जन्म 15 अक्टूबर 1931,तमिलनाडु में रामेश्वरम के एक छोटे से गाँव धनुषकोडी में हुआ था. उन्हें बचपन से ही पढ़ने का बहुत शौक था, उन्होंने अपने पिता से अनुशासन, इमानदारी और उदार स्वभाव में रहना सिखा था. उनकी माता जी इश्वर में असीम श्रधा रखने वाली थीं. कलाम जी के तीन बड़े भाई थे और एक बहन थीं, उन सभी का गरीबी से करीब का रिश्ता था.
कलाम साहब नई चीजें सिखने के लिए हमेशा तत्पर और तैयार रहते थे. उनके अंदर सिखने की भूख थी और वो पढ़ाई पर घंटों धयान देते थे.
कलाम जी की जिंदगी काफी कठिन थी, लेकिन उनकी अपने सपनों को पाने की इच्छा ने उन्हें मद्रास यूनीवर्सिटी से फिजिक्स में ग्रेजुएशन की डिग्री दिलवाई।
इसकें बाद वो DRDO में वैज्ञानिक के रूप में भर्ती हुए, यहाँ वो भारतीय सेना के लिए एक छोटे हैलीकॉप्टर का डिज़ाइन बनाया. इसके बाद उन्होंने कई बड़े-बड़े कारनामें किये, फिर वर्ष 1969 में वो ISRO में पहुँच गए. जहाँ उन्होंने प्रथम उपग्रह ‘रोहिणी’ को प्रथ्वी की कक्षा में वर्ष 1980 में स्थापित किया,
इसके बाद उन्होंने देश को अग्नि और प्रथ्वी जैसी मिसाइलें दीं, जिसके बाद से उनको मिसाइल मैन के नाम से जाना जाने लगा. वो हमेशा देश की उन्नति के बारे में ही सोंचते थे.
इसके बाद कलाम साहब सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी व विपक्षी कांग्रेस दोनों के सर्मथन के साथ वर्ष 2002 में राष्ट्रपति चुने गए. उनके कार्यकाल के दौरान उन्हें ‘जनता का राष्ट्रपति’ कहा गया. अपने पांच वर्ष के कार्यकाल की सेवा के बाद वह शिक्षा, लेखन, और सार्वजनिक सेवा के अपने जीवन में वापस लौट आये. कलाम जी ने भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान सहित कई प्रतिष्ठित पुरस्कार भी प्राप्त किये. डॉ. कलाम साहब ने एक बार अपनी स्पीच में कहा था कि अगर कोई सूरज की तरह चमकना चाहता है, तो उसे सूरज की तरह जलना भी होगा और वास्तव में, उनकी योग्यता पर पूरे देश को आज गर्व है और हम उन्हें तेज चमकने वाले सूरज के रूप में ही जानते हैं। कलाम साहब ये भी कहते हैं कि इतिहास ने सिद्ध किया है कि जो लोग असंभव कल्पना करने की हिम्मत रखते हैं, वे सभी मानव सीमाओं को तोड़ते हैं। आप अपने क्षेत्र में मेहनत और प्रयास करके सीमाओं को तोड़कर दुनिया को बदल सकते हैं। सीवी रमन, सर आइजैक न्यूटन और अल्बर्ट आइंस्टीन ने अपनी कल्पनाओं की सीमाओं को तोड़कर दुनिया को बदल दिया। कलाम साहब का मानना है कि अगर किसी देश को सुन्दर मन वाले लोगों का देश बनाना है तो, मेरा मानना है कि समाज के तीन प्रमुख सदस्य यह कर सकते हैं और वे हैं- माता, पिता और शिक्षक। शिक्षकों के पास दिमाग को विकसित करने का शानदार अवसर है। शिक्षकों के पास नवजवानों को शिक्षित करने और उन्हें नए ड्रीम्स देना का अवसर है।
abdul kalam biography in hindi, apj abdul kalam books in hindi pdf, apj abdul kalam, biography in hindi free download,a p j abdul kalam in hindi speech
उन्होंने सबको अलविदा कहने का तरीका भी बताया
एक बार उन्होंने कहा था, कि मेरे हिसाब से दुनिया को अलविदा कहने का सबसे अच्छा तरीका यह होगा कि ‘व्यक्ति सीधा खड़ा हो, जूते पहना हो और अपनी पसंद का कार्य कर रहा हो’। जब वो 27 जुलाई को भारतीय प्रबंधन संस्थान, शिल्लोंग में छात्रों को सम्भोधित कर रहे थे, तो उनको दिल का दौरा पड़ा, इसके बाद वो हम सब को छोड़ कर परलोग चले गए. आज उनके विचार, उनके द्वारा लिखी गईं किताबें उनका जीवन हम सबके लिए मार्गदर्शन बन गए हैं.
हमें आशा है की आपको ये “abdul kalam biography in hindi” पसंद आयी होगी। कृपया इसे फेसबुक और व्हाट्स ऐप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें और ऐसी ही और जीवनियों पढ़ने के लिए देसिकहानी की वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।




abdul kalam biography in hindi

 

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like