Articles Hub

adult non veg jokes – 18+ नॉन वेज जोक्स जिन्हे पढ़ कर नहीं रुकेगी हसी

adult non veg jokes

देसिकहानियाँ में हम हर दिन एक से बढ़कर एक अजब गजब नॉन वेज जोक्स प्रकाशित करते हैं। इसी कड़ी में हम आज “adult non veg jokes ” प्रकाशित कर रहे हैं। आशा है ये आपको अच्छी लगेगी।
लेखक – आनंद

पत्नी: सुनो जी अब जब हम शादी के बंधन में बंध गए है तो हमें हमारी सेक्स लाइफ मैनज कर लेनी चाहिए।

पति: हाँ, बोलो मेरी जान।

पत्नी: तुम जब ऑफिस से आओ और मेरे बाल बने हुए देखो तो इसका मतलब है मैं सेक्स के मूड में हूँ।

अगर मेरे बाल हल्के बिखरे हुए और हल्के बने हुए हैं तो मैं सेक्स कर भी सकती हूँ और नहीं भी।

और अगर मेरे बाल बिगड़े हुए है तो मैं पूरा सेक्स के मूड में हूँ।

ठरकी पति का दिमाग खराब हुआ तो वह बोला ठीक है जानू लेकिन मेरी भी कुछ शर्ते हैं।

पति आगे बोला, अगर मैं ऑफिस से एक पैग पीके आया तो मैं सेक्स के मूड में नहीं हूँ।

अगर मैं 2 पैग पीके आया तो सेक्स कर भी सकता हूँ और नहीं भी।

लेकिन अगर 3 पैग पीके आया तो माँ चुदाने गया तेरे बालों का स्टाइल, चुदाई तो होकर ही रहेगी।

2.
मांगता हूँ तो देती नहीं हो,
जवाब मेरी बात का;

और देती हो तो खड़ा हो जाता है,
रोम-रोम जज्बात का,

मुंह में लेना तुम्हे पसंद नहीं,
एक भी कतरा शराब का,

फिर क्यों बोलती हो कि धीरे से डालो,
बालों में फूल गुलाब का,

वो सोती रही मैं करता रहा,
इंतज़ार उसके जवाब का,

अभी उसके हाथ में रखा ही था कि उसने पकड़ लिया,
गुलदस्ता गुलाब का,

उसने कहा पीछे से नहीं आगे से करो,
दीदार मेरे हुस्न-ओ-शबाब का,

3.
उसने कहा बड़ा मज़ा आता है जब अन्दर जाता है,
कानो में एक एक लफ्ज़ तेरे प्यार का!
एक NRI हिंदुस्तान घूमने आया। आते ही उसकी पुराने यादें ताज़ा हो गई। उसने एक ढाबे पे कटींग चाय मंगवाई। तो वहां एक छोटे लड़के ने उसको गिलास में एक उंगली अंदर डालके चाय दी।

NRI (चाय पीते पीते): तुम लोग कब सुधरोगे? चाय इस तरह नही पकडते।

लड़का: साहब, उंगली में दर्द है, डॉक्टर ने सेंकने के लिये कहा है।

NRI: तो मादरचोद, गांड में क्यो नही रखी उंगली, वहाँ सबसे ज्यादा सेंक मिलेगा।

लड़का: साहब, वहीं थी, आपने चाय मंगवाई तो निकालनी पडी।

4.
मोनू के पापा मम्मी आपस मे बात कर रहे थे।

पापा: शर्मा जी का फोन आया है उन्हे अपना मोनू बहुत पसंद है, वो आज शाम अपनी बेटी को लेकर बात पक्की करने आ रहे हैं।

मम्मी: ये तो बहुत अच्छी खबर है।
(यह बात मोनू ने भी सुन ली वो खुशी से उछलता हुआ अपने कमरे मे चला गया।)

मम्मी: मेहमान आ रहे हैं और गैस का सिलेंडर भी खत्म होने वाला है।

पापा: मैं ऑफिस से फोन लगा दूँगा, लडका आकर सिलेंडर दे जायेगा।

मम्मी: पर मुझे तो बाजार जाना है।

पापा: मोनू तो रहेंगा न घर पर उससे कह देता हूँ।

(पापा ने मोनू को आवाज लगाई।)

मोनू: जी पापा।

पापा: बेटा आज वो आयेगा…

तभी बीच में ही बात काटकर खुश होते हुए मोनू बोला, “मुझे पता है, मैंने आपकी बाते सुन ली थी।

(मोनू के दिमाग में शर्मा जी और उनकी बेटी थी।)
पापा: हाँ तो बेटा वो आए ना तो यह जरूर देख लेना कि सील पैक तो है, अगर सील टूटी हुई हो तो इनकार कह देना।
(मोनू के पसीने छूट गए, इससे पहले वो कुछ कहता मम्मी बोल पडी।)

मम्मी: अरे आपको नहीं पता है, आज-कल सभी सील टूट कर ही आती हैं। गुप्ता जी के यहाँ भी सील टूटी आई, माथुर जी के यहां भी सील टूटी, वहां के लोग आज-कल सील तोडकर जांच करते हैं ताकि जिसके घर जाये उसको कोई परेशानी न हो।

पापा: ऐसे कैसे, सील तोडनी जरूरी है तो हमारे सामने हमारे घर मे आकर तोडो ना।
(इससे पहले कि मोनू बेहोश होता पापा बोले।)

पापा: और हाँ मोनू आज वो शर्मा जी और उनकी बेटी बात पक्की करने आ रहे हैं।

मोनू पसीना पोछकर: अभी आप इतनी देर से सील टूटने कि किसकी बात कर रहे थे?

पापा: गैस सिलेंडर की, हरामखोर तू किसकी समझ रहा था?

मोनू: शर्मा जी की बेटी की।

5.

एक लड़की की शादी हुई और उसकी सहेली को उसकी सुहागरात के बारे में जानने की बड़ी ही उत्सुकता थी।

सहेली: बता ना कल रात को क्या हुआ?

लड़की: कुछ नहीं।

सहेली: पर कल तो तेरी सुहागरात थी, कुछ तो हुआ होगा?

लड़की: कह रही हूँ ना कुछ नहीं हुआ।

सहेली: अच्छा तो मुझे कल रात की सारी घटना बता।

लड़की: रात को दस बजे मेरे पति कमरे में आये।

सहेली: फिर क्या हुआ?

लड़की: उन्होंने अपना कोट उतारा और खूँटी पर टांग दिया।

सहेली: फिर क्या हुआ?

लड़की: फिर उन्होंने अपनी टाई उतारी और खूँटी पर टांग दी।

सहेली: फिर क्या हुआ?

लड़की: फिर उन्होंने अपनी शर्ट उतारी और खूँटी पर टांग दी।

सहेली: फिर क्या हुआ?

लड़की: फिर उन्होंने अपनी बनियान उतारी और और खूँटी पर टांग दी।

सहेली: फिर क्या हुआ?

लड़की: फिर उन्होंने अपनी बेल्ट उतारी और खूँटी पर टांग दी।

सहेली: फिर क्या हुआ?

लड़की: फिर उन्होंने अपनी पैंट भी उतार कर खूँटी पर टांग दी।

सहेली: फिर क्या हुआ?

लड़की: फिर उन्होंने मेरी साड़ी उतारी और खूँटी पर टांग दी।

सहेली: फिर क्या हुआ?

लड़की: फिर मेरा ब्लाउज उतारा और खूँटी पर टांग दिया।

सहेली: फिर क्या हुआ?

लड़की: फिर उन्होंने मेरा पेटीकोट भी उतारा और खूँटी पर टांग दिया।

सहेली: फिर क्या हुआ?

लड़की: फिर उन्होंने मेरी ब्रा भी उतार कर खूँटी पर टांग दी।

सहेली: फिर तो जरूर कुछ मजेदार हुआ होगा?

लड़की: हाँ हुआ था ना बहुत मजा आया।

सहेली: क्या हुआ था?

लड़की: इतने सारे कपड़े लादने की वजह से खूँटी टूट गई और वो सारी रात खूँटी ही ठोकते रह गए।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये “adult non veg jokes” कहानी आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें। इस कहानी का सर्वाधिकार मेरे पास सुरक्छित है। इसे किसी भी प्रकार से कॉपी करना दंडनीय होगा।

adult non veg jokes

loading...
You might also like