ga('send', 'pageview');
Articles Hub

महत्वाकांक्षा-Ambition a new short love story of a cute and sweet couple

महत्वाकांक्षा…..
Ambition a new short love story of a cute and sweet couple,true love story in hindi in short,true sad love story in hindi language, hindi love story in short love,love story novel in hindi language,romantic love stories in hindi language
देखा जाए तो महत्वाकांक्षी होना अच्छी बात है, लेकिन अत्यधिक महत्वाकांक्षी होना अच्छी बात नहीं, और जहाँ प्रेम का मामला हो वहां तो महत्वाकांक्षा का कोई गुंजाईश ही नहीं , क्योँकि प्रेम बिना स्वार्थ का होता है। जहाँ प्रेम है, वहां महत्वाकांक्षा नहीं, प्रेम में इंसान दब भी जाता है, क्योँकि प्रेम दिल से होता है दिमाग से नहीं. लेकिन पंकज के साथ ऐसा नहीं हुआ, बात दरसल ये हुआ की प्रदीप के पापा का ट्रांसफर इंदौर हुआ, जहाँ उन्होंने एक पॉश मोहल्ले में फ्लैट लिया, प्रदीप अपने परिवार के साथ फ्लैट में शिफ्ट कर गया, पंकज शुरू से किताबी कीड़ा था, उसे दुनिया दारी से कोई मतलब नहीं था। वह घर से बाहर भी बहुत कम ही निकलता था, वह अपने आप में दुनिया बसाये हुआ था, इसका वजह ये भी था की उसका कोई दोस्त नहीं था, किताबो के अलावा, इसलिए वह सिर्फ किताबो में खोया रहता था, उसे शिफ्ट किये काफी दिन हो गए। लेकिन उसे अपने पड़ोसियों के बारे में भी पता नहीं था, एक बार पंकज का छोटा भाई, उससे मिलने आया,पंकज अपने छोटे भाई से बहुत प्रेम करता था, उसके भाई का नाम संजीव था, संजीव ने अपने भाई से कहा, सारा दिन किताबो में खोये रहते हो, चलो घूम कर आते हैं। पंकज मान गया, हलाकि संजीव के बजाय यह बात किसी और ने कही होती तो पंकज मना कर देता, लेकिन संजीव ने कहा था इसलिए वह तैयार हो गया, दोनों शाम को तैयार हो कर घूमने निकले, घर के पास ही बने पार्क में वह घूम रहे थे, तभी उनकी नजर एक लड़की पर पड़ी, लड़की बहुत सुन्दर थी, वह अपने स्कूटी से पार्क के बगल से गुजर रही थी, जिसे देख कर पंकज ने कहा, दिखने में अच्छी है , संजीव ने भी हाँ में हाँ मिलायी, फिर दोनों कुछ खा कर वापस घर की तरफ लौट रहे थे, तो घर के पास पहुँचने के बाद संजीव ने अचानक से कहा, यह तो उसी लड़की की स्कूटी है, जिसे देख कर पंकज भी चौंक गया, तभी वह लड़की घर के बाहर निकली और स्कूटी घर के अंदर करने लगी, आस्चर्य की बात यह थी, उस लड़की का घर पंकज के घर के सामने वाला ही था, अब तो संजीव को हंसी आने लगी की इतने दिनों से यहाँ रहने के बाद भी पंकज ने कभी उस लड़की को नहीं देखा, खैर अब पंकज ने संजीव से कहा की इस लड़की से दोस्ती करवा दो, इसका कारण था की जहाँ एक और पंकज लड़कियों से बात नहीं करता था, वहीँ संजीव को लड़कियों से बात करने में कोई समस्या नहीं होती थी, लेकिन अचानक से किसी लड़की से क्या बात किया जाए, लड़की किस स्वभाव की है यह भी तो पता नहीं है, वह भी पंकज की पडोसी है, यह सब सोचते हुए संजीव थोड़ा रुक गया, पंकज के दोबारा कहने पर अचानक उसका ध्यान टुटा, फिर उसने सोचा क्या किया जाए, फिर कुछ सोचते हुए संजीव ने पूछा, कल शाम में घूमने नहीं जाएंगे,क्रिकेट खेलेंगे। यह सुन कर पंकज ने कहा, मैंने तुम्हे लड़की से बात कराने को कहा, तुम क्रिकेट खेलने की बात कह रहे हो, संजीव ने कहा, भाई तुम टेंशन मत लो, तुम्हारा काम हो जाएगा, कल शाम दोनों अपने घर के सामने खेलने लगे, संजीव ने बैटिंग करते हुए बॉल को उस लड़की के घर तरफ मार दिया,बॉल लड़की के घर के छत पर चला गया, अब संजीव ने पंकज से कहा की बॉल लेने उसके यहाँ जाए, अब पंकज घबरा गया, उसने कहा तुमने मारा है तुम लेने जाओ, इस पर संजीव ने कहा, लड़की चाहिए या नहीं,
और भी रोमांटिक प्रेम कहानियां “the love story in hindi” पढ़ना ना भूलें=>
ज्ञान-knowledge a new short love story in hindi language of a bookworm boy
एक बार फिर-one’s again a new short love story in hindi language
कसमकस-dilemma a new short hindi language love story about the dilemma of a couple
Ambition a new short love story of a cute and sweet couple,true love story in hindi in short,true sad love story in hindi language, hindi love story in short love,love story novel in hindi language,romantic love stories in hindi language

यह सुनते ही पंकज को सारा माजरा समझ में आ गया, लेकिन फिर भी वह नहीं गया अंत में संजीव उसके घर गया, आवाज देने पर लड़की की मम्मी घर से निकली, संजीव ने कहा, बॉल आपके छत पर चला गया है, दे दे , लड़की की मम्मी ने अन्नी कहते हुए आवाज दी, और कहा, छत पर जा कर बॉल दे दे, छत पर वही लड़की बॉल लेने गयी, जिससे संजीव समझ गया की लड़की का नाम अन्नी है, अन्नी ने बॉल निचे फेंक दिया, जिसे पंकज ने कैच लिया, इस तरह से पहली बार दोनों का आमना-सामना हुआ या यूँ कह ले की दोनों की नजरे आपस में मिली. पंकज ने मुस्कुरा कर थैंक यू कह दिया, लड़की ने सर हिला दिया, अब संजीव ने पंकज से कहा की अन्नी से मुलाकात हो गयी, पंकज ने कहा, लड़की का नाम अन्नी है, संजीव ने कहा हाँ, मतलब लड़की का नाम पता चल गया और निगाहें भी मिल गयी, अब पंकज की बैटिंग आयी तो वह लगातार कोशिश करने लगा की बॉल वापस उसके छत पर जाए, क्योँकि लड़की छत पर ही घूम रही थी, लेकिन पंकज मार नहीं पा रहा था , संजीव ने लड़की को दूसरी तरफ घुमा देखा तो बॉल को सीधे उठा कर उसके छत पर फेंक दिया, जिससे पंकज आस्चर्य से देखता रह गया, अब संजीव ने लड़की से कहा की बॉल दे दे, लड़की ने मुस्कुरा कर बॉल फिर से दे दिया, कुछ देर के अँधेरा होने लगा दोनों ने बैट-बॉल को घर में रख कर घूमने निकल गए, तो लड़की भी घर से निकल रही थी, लड़की आगे आगे और दोनों भाई पीछे पीछे,लड़की एक खाने के स्टाल पर जा कर रुकी,संजीव और पंकज भी दोनों वही रुक गए और खाने लगे, पेमेंट करने के समय संजीव थोड़ा सा आगे निकल कर लड़की के खाने का भी पेमेंट करने लगा, इस पर लड़की ने कहा, मैं पेमेंट कर दूंगी, आप मत दो, आप क्यों दे रहो हो? इस पर संजीव ने कहा की आपने बॉल ला कर दिया, इसके लिए खिलाना तो फ़र्ज़ बनता है, यह सुन कर अन्नी हसने लगी, उसका हस्ता हुआ चेहरा देख कर पंकज मानो घायल सा हो गया, फिर संजीव ने पंकज से कहा की भाई बात करो, पंकज ने बात करना शुरू कर दिया,, अन्नी ने भी अच्छे से बात किया, अन्नी से बात करके पंकज को लगा की लड़की उसी के टाइप की है, मतलब पढ़ाई और जॉब के लिए जागरूक ! इसलिए दोनों में अच्छी बात होने लगी, दो दिनों के बाद संजीव वापस अपने घर चला गया, लेकिन पंकज और अन्नी में लगातार बातें होते रही, अब दोनों मिलने के अलावे फ़ोन पर भी बातें किया करते थे,काफी दिनों के बाद एक दिन संजीव ने पंकज से बात की और अन्नी के बारे में पूछा तो पंकज ने कहा की अन्नी पटना छोड़ चुकी है वह पुणे में रहती है, और अब वह मुझसे बात भी नहीं करती, संजीव को सुन कर अजीब लगा, पंकज ने कहा की उसने अन्नी को भुला भी दिया है, संजीव ने वजह पूछी तो पंकज ने कहा की अन्नी बहुत महत्वाकांक्षी लड़की है, इतना महत्वाकांक्षा होना प्रेम में सही नहीं है, इस बात को संजीव ने भी सही बताया, इस तरह दोनों महत्वाकांक्षा की वजह से अलग हो गए…….

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-Ambition a new short love story of a cute and sweet couple,true love story in hindi in short,true sad love story in hindi language, hindi love story in short love,love story novel in hindi language,romantic love stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like