ga('send', 'pageview');
Articles Hub

ना जाने कहाँ और कैसे-Don’t know where and how a new short inspirational Story

ना जाने कहाँ और कैसे -किसी जमाने में एक आदमी था जो अकेला और कुंवारा था। एक दिन वह शिकार पर निकला। पर एक भी शिकार हाथ नहीं लगा। वह घर लौट रहा था कि अचानक एक पेड़ पर एक कबूतरी बैठी दिखी। उसने कबूतरी को तीर से बींध डाला /उसका गर्दन मड़ोड़ने वाला…

दुश्मन कैसे बनते हैं-How enemies are made a new small article about life

किसी झाडी में जब आग लगती है तब एक भयानक दृश्य उत्पन्न होता है। सभी कुछ बर्बाद हो जाते हैं और जो जीव -जंतु भाग नहीं पाते वे घुटन से या जल कर मर जाते हैं। एक बार किसी बड़ी झाड़ी में आग लगी। सभी जानवर नदी की तरफ भागे। अधिकाँश जीव तैरकर नदी…

हाथी दाँत की खोज में-story about the search of the teeth of the elephant in hindi language

एक राजा थे जिनके दो पुत्र थे। चूँकि बड़ा बेटा भावी उत्तराधिकारी होने वाला था इसलिये राजा को उससे ईर्ष्या होने लगी थी। बड़ा बेटा बहादुर और लोगोनो का प्यारा भी था। लोग पिता की जगह बड़े बेटे यानी राजकुमार को ज्यादे पसंद करते थे। राजा ईर्ष्या…

एक मछुआरा-a fisherman a new short inspirational Story in hindi language

एक समय की बात है दो मछुआरा भाई जंगल की तरफ मछलियां पकड़ने गए। पास में ही एक बूढ़ा आदमी अपनी बेटी के साथ रहता था। मछली कैसे पकड़ा जाय इसका गुर सिखने के लिए उनसे दोस्ती की। कुछ समय बाद दोनों भाई उस खूबसूरत लड़की के मोह -पाश में बांध गए लेकिन लड़की…

मन का दर्पण-mirror of mind a new motivational story about the mind

एक गुरुकुल में आचार्य अपने शिष्य की सेवा से बहुत खुश थे विद्या पूरी होने पर जब वह विदा होने लगा तब गुरूजी ने आशीर्वाद स्वरुप उसे एक दर्पण दिया। वह एक साधारण दर्पण नहीं था। उस दर्पण में किसी की मनोभावों को दर्शाने की शक्ति थी। वह बहुत…

बर्बरीक कौन थे-Who is barbaric a character sketch of barbaric from mahabharata

बर्बरीक घटोत्चक का पुत्र और भीम का पौत्र था। उसके पास ऐसी दिव्य शक्तियां थी कि वह अकेले ही महाभारत युद्ध ख़त्म कर सकता था। एक दिन वह अपनी दादी हिडिम्बा के पास आराम कर रहा था। उसने अपनी दादी से पूछा -मुक्ति अर्थात मोक्ष क्या है ? दादी ने कहा…

धैर्य-patience a new short inspirational Story in hindi language for young audiance

एक साधू वृक्ष के नीचे ध्यान में मग्न रहते। वे हर रोज एक लकड़हारे को जंगल से लकड़ियां काटकर ले जाते देखते। उन्होंने एक दिन लकड़हारे से कहा -सुन भाई। तुम दिन भर लकड़ियां काटता है ,फिर भी दो जून की रोटियां नहीं जुटा पाता , तू आगे क्यों जाता आगे…

आईना-Mirror a new short artical about the mirror and a face

सुंदरता मनोभावों से दिखती है। शारीरिक सुंदरता तात्कालिक है ,जबकि मन और विचारों की सुंदरता सुगंध लिए दूर -दूर तक फैलती है। दार्शनिक सुकरात दिखने में अत्यंत कुरूप थे। एक दिन आईना हाथ में लिए अपना चेहरा देख रहे थे। तभी उनका एक शिष्य कमरे में…

निर्दयी जादूगर-Cruel magician a new short inspirational Story in hindi language

एक व्यापारी था जिसकी दाढ़ी बहुत लम्बी थी। सभी उसे लम्बी दाढ़ी वाले कह कर बुलाते थे। उसकी पत्नी कहीं गम हो गई थी इसलिए वह अपने पडोसी की बेटी सारा से विवाह करना चाहता था। कुछ समय बाद उसका विवाह सारा के साथ हो गया। एक बार उसे काम के सिलसिले…

नेवर एंग्री-never angry a new sweet motivational story of a small girl

कहते हैं अच्छे स्वाभाव वालों को जीवन में अनेकों कठिनाईओं का सामना करना पड़ता है। वैसे हर कोई अपने क्रोध को नियंत्रण में रखना चाहता है। एक बच्ची थी जो कभी चिल्लाती नहीं थी उसका नाम रखा गया -नेवर एंग्री। बच्ची जब बड़ी हुई वह कभी किसी अन्य…