Articles Hub

Awesome mobile technology – अलविदा चार्जर: बैटरी के बिना चलने वाले फोन का हुआ आविष्कार

Awesome mobile technology

technology news in hindi today,best latest technology news in hindi,best latest technology news,hindi tech news,information technology news in hindi,must know,intresting news,देसिकहानियाँ में हम हर दिन एक से बढ़कर एक अजब गजब बॉलीवुड के लेख प्रकाशित करते हैं। इसी कड़ी में हम आज ” Awesome mobile technology ” प्रकाशित कर रहे हैं। आशा है ये आपको अच्छी लगेगी।
लेखक – आदित्य

आजकल के इस डिजिटल समय में इंसानो के बीच स्मार्टफोन्स ने अपनी एक अहम् जगह बना ली है और स्मार्टफोन्स को एक्टिव रखने के इसे बैटरी की आवश्यकता होती है | आजकल हम ज्यादा से ज्यादा क्षमता वाली बैटरी से भी संतुष्ट नहीं हो पा रहे है इसलिए वाशिंगटन विश्वविद्यालय (यूडब्ल्यू) के शोधकर्ताओं ने ऐसे फोन का आविष्कार किया है जो कि बिना बैटरी के भी एक्टिव रह सकता है |

वाशिंगटन विश्वविद्यालय (यूडब्ल्यू) के शोधकर्ताओं ने एक फोन का आविष्कार किया है जो कुछ माइक्रोवेस्टमों की शक्ति का इस्तेमाल करता है, जिसमें परिवेश में रेडियो संकेत या प्रकाश की आवश्यकता होती है और बैटरी की आवश्यकता नहीं होती है। सिनहुआ न्यूज़ एजेंसी की रिपोर्ट में रिपोर्ट दी गई है कि बैटरी से मुक्त सेल फोन से चार्जर्स, डोरियों और डेड फोनों से आगे बढ़ने में एक प्रमुख मदद मिलेगी | रिपोर्ट में बताया गया है कि प्रोसेडिंग्स ऑफ द एसोसिएशन फॉर कंप्यूटिंग मशीनरी ऑन इंटरएक्टिव, मोबाइल, वेरेएबल और यूबीक्विटस टेक्नोलॉजीज में प्रकाशित एक पत्र में विस्तृत है।

कंप्यूटर वैज्ञानिकों और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरों की टीम ने सेलुलर प्रसारण में एक शक्ति-भूख कदम का सफाया कर दिया, अर्थात् एनालॉग सिग्नल को परिवर्तित कर के जो कि डिजिटल डेटा में ध्वनि को व्यक्त करके एक फ़ोन समझेगा | इससे इतनी ऊर्जा खपत होती है जो कि एक फोन को डिज़ाइन करना असंभव है जो परिवेश ऊर्जा स्रोतों पर भरोसा कर सकता है | इसके बजाय, नई तकनीक एक फोन के माइक्रोफ़ोन या स्पीकर में छोटे कंपन का लाभ लेती है, जब कोई व्यक्ति फ़ोन पर बात करता है या कॉल को सुनता है।

उन घटकों से जुड़ा एक एंटीना, उस गति को एक सेलुलर बेस स्टेशन द्वारा उत्सर्जित मानक एनालॉग रेडियो सिग्नल में परिवर्तित करता है। इस प्रक्रिया में अनिवार्य रूप से प्रतिबिंबित रेडियो संकेतों में भाषण पैटर्न को ऐसे तरीके से एनकोड किया जाता है जो लगभग किसी भी शक्ति का उपयोग नहीं करता है। भाषण को संचारित करने के लिए, फोन प्रतिबिंबित संकेतों में भाषण पैटर्न को एनकोड करने के लिए डिवाइस के माइक्रोफ़ोन से कंपन का उपयोग करता है। भाषण प्राप्त करने के लिए, यह एन्कोडेड रेडियो संकेतों को ध्वनि कंपनों में परिवर्तित करता है जो फोन के स्पीकर द्वारा उठाए जाते हैं।

शोधकर्ताओं ने दो अलग-अलग स्रोतों से इस छोटी मात्रा की ऊर्जा का उत्पादन किया। फोन प्रोटोटाइप एक बेस स्टेशन द्वारा 9.45 मीटर दूर तक प्रसारित परिवेश के रेडियो संकेतों से एकत्र हुए बिजली पर संचालित कर सकता है और एक छोटे से सौर सेल के साथ परिवेश की रोशनी से काटा हुआ बिजली का उपयोग करते हुए, चावल के अनाज के आकार का आकार लगभग, डिवाइस बेस स्टेशन से 15.24 मीटर की दूरी पर संवाद करने में सक्षम होता है।

इसके बाद, यूडब्ल्यू द्वारा इस हफ्ते एक समाचार रिलीज़ के अनुसार, अनुसंधान टीम बैटरी मुक्त फोन की ऑपरेटिंग रेंज में सुधार लाने और उन्हें सुरक्षित बनाने के लिए बातचीत एन्क्रिप्ट करने पर ध्यान केंद्रित करने की योजना बना रही है।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये “Awesome mobile technology” कहानी आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें। इस कहानी का सर्वाधिकार मेरे पास सुरक्छित है। इसे किसी भी प्रकार से कॉपी करना दंडनीय होगा।

Awesome mobile technology

loading...
You might also like