ga('send', 'pageview');
Articles Hub

चाहत-Choices a new style of love story in hindi language of a sweet couple

चाहत …..
Choices a new style of love story in hindi language of a sweet couple, true love story in hindi in short, true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language
सुल्तानगंज का रहने वाला फिरोज बचपन से मेहनती था, वह अपनी पढ़ाई के साथ साथ छोटा-मोटा काम भी किया करता था, जिससे उसका खर्चा निकल सके, उसकी चाहत थी की वह अच्छा पैसा कमाए, अच्छी जगह उसे नौकरी मिले, इसके लिए वह शुरू से कोशिश करने में लगा हुआ था, हालाँकि वह पढ़ने में तेज नहीं था, जल्दी उसके दिमाग में कुछ नहीं जाता था, या यूँ कह ले की मोटी बुद्धि का था, लेकिन मेहनत बहुत किया करता था, इसलिए वह जहाँ भी काम करता था, सभी उससे खुश थे। पढ़ाई के साथ साथ उसने प्रिंटिंग प्रेस में काम शुरू कर दिया, जहाँ उसने बहुत मेहनत की , जिसकी वजह से वह सारा काम करना सिख गया, वहीँ वह कंप्यूटर चलना भी सीख लिया, अब उसकी टाइपिंग स्पीड भी अच्छी हो गयी थी, कुल मिला कर उसे कंप्यूटर पर सारा काम आ गया था, वह पास के ही एक कंप्यूटर इंस्टिट्यूट से कंप्यूटर का डिग्री भी ले लिया। वह खुश था की पढ़ाई के साथ साथ उसे कंप्यूटर का डिग्री भी मिल गया, इसी क्रम में उसकी मुलाकात मिर्ज़ा साहेब से हुई, मिर्ज़ा साहेब मौलाना कॉलेज के प्रिंसिपल थे, और उन्हें अपनी बेटी की शादी का कार्ड छपवाना था, उन्होंने जिस प्रिंटिंग प्रेस को वह काम दिया था वहीँ फिरोज काम करता था, प्रिंटिंग प्रेस के मालिक ने ही मिर्ज़ा साहेब की बेटी की शादी का कार्ड छापने और डिजाइन का काम फिरोज के दे दिया। फिरोज कॉलेज जा कर मिर्ज़ा साहेब से मिला और उन्हें कार्ड के कुछ डिजाइन दिखाए, उसी दौरान मिर्ज़ा साहेब और फ़िरोज़ के बीच बहुत अच्छी बात चीत हुई, वहीँ मिर्ज़ा साहेब ने फ़िरोज़ को कॉलेज में कंप्यूटर ऑपरेटर का जॉब देने की बात कही। फिरोज तैयार हो गया, भले ही सैलरी कम थी लेकिन यह प्रिंटिंग प्रेस से ज्यादा अच्छा काम था, फ़िरोज़ ने मिर्जा साहेब को उनके मन लायक शादी का कार्ड और कम दाम में दे दिया, जिसके बदले मिर्ज़ा साहेब ने उन्हें कॉलेज में नौकरी पर रख लिया, फ़िरोज़ बहुत खुश था, फ़िरोज़ से करीब 10 साल छोटा भाई इमरोज़ था, फ़िरोज़, इमरोज़ को कभी समस्या ना आये, और उसकी पढ़ाई अच्छे से हो इसके लिए वह अपने भाई का सारा खर्चा उठाता था, वह इमरोज़ का हर ख्वाइश पूरी करने की कोशिश किया करता था, इमरोज़ भी अपने बड़े भाई की बात माना करता था, दोनों भाई में बहुत अच्छा रिश्ता था,जब फ़िरोज़ को कॉलेज में नौकरी लग गयी तब इमरोज़ ने अपने भाई से शादी कर लेने की बात कही, हलाकि वह जानता था की फ़िरोज़ कॉलेज के समय में अपने साथ पढ़ने वाली लड़की से प्यार करता था, लेकिन पढ़ाई के साथ साथ काम करने की वजह से वह कभी भी उस लड़की के साथ समय नहीं बीता पाया जिसकी वजह से लड़की उसे छोड़ दूसरे से शादी कर ली थी। अब तो वह पढ़ाई भी छोड़ चूका था, उसे अच्छी और खूबसूरत लड़की कहाँ से मिलती, तभी एक दिन फिरोज सुबह सुबह अपने घर के बालकनी में खड़ा था, और उसने एक लड़की को जाते हुए देखा, लड़की के हाथ में कॉपी और किताब थे, मतलब वह पढ़ने जा रही थी, लड़की को देख फ़िरोज़ का दिल जोर जोर से धड़कने लगा। उसकी समझ में नहीं आ रहा था की उसे क्या हो रहा है? उसने अपने दिल को थामा, लेकिन उसका दिल था की मान ही नहीं रहा था, लगातार धड़के जा रहा था, तभी इमरोज़ आ गया, उसने अपने भाई से पूछा की कोई समस्या है, भाई ने कहा की नहीं, फिर इमरोज ने कहा की सीने को क्यों थामा हुआ है, तब फ़िरोज़ को ध्यान आया की वह अपने हाथ से सीने को थामा हुआ है, फ़िरोज़ ने कहा की अभी अभी एक लड़की गुजरी है, जिसे देख कर दिल धड़कने लगा था, इमरोज़ बहुत खुश हुआ, आखिर कार उसके भाई को कोई लड़की पसंद तो आयी उसने कहा, लड़की कहाँ है ? फ़िरोज़ ने कहा वह तो चली गयी, अब दोनों भाई सुबह होने का इंतज़ार करने लगे, दोनों भाई सुबह सुबह बालकनी में जा कर खड़े हो गए, कुछ देर के बाद वही लड़की पीले सूट में हाथ में किताब और कॉपी दबाये जा रही थी, जिसे देख फ़िरोज़ ने कहा , यही लड़की है,
और भी रोमांटिक प्रेम कहानियां “the love story in hindi” पढ़ना ना भूलें=>
सिर्फ तुम-only you a new short emotional love story of a student from his institute
प्रेरणादायक सच्ची कहानी-Motivational true story in hindi language very short story
नीले कुत्ते की आँखें-eyes of the blue dog a new emotional hindi motivational story
Choices a new style of love story in hindi language of a sweet couple, true love story in hindi in short, true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language

लड़की को देख कर इमरोज़ चौंक गया क्योँकि वह लड़की जेबा थी, जो उसके साथ ही पढ़ती थी , और वह जेबा को पसंद भी करता था। अब इमरोज़ को समझ में नहीं आ रहा था की वह क्या करे? उसने कहा, ठीक है भैया मैं पता करता हूँ, लेकिन वह जानता था की वह उसके साथ ही पढ़ने वाली लड़की जेबा है, फिर भी अपने भाई से झूठ बोल दिया, वह पूरा दिन परेशान रहा, फिर उसने निर्णय लिया की वह जेबा की शादी अपने भाई से करवा देगा, इसलिए वह जेबा के घर गया और उसके पिता से अपने भाई के लिए जेबा का हाथ माँगा, उसने बताया की उसका भाई में कोई बुरी आदतें नहीं हैं, वह कॉलेज में काम करते हैं, अच्छी सैलेरी मिलती है। यह सब सुन कर जेबा के पापा खुश हो गए, इधर जब जेबा ने इमरोज़ को देखा तो वह समझ नहीं पायी, क्योंकि उसे मालूम था की इमरोज़ उसे क्लास में देखा करता है, लेकिन वह अपने बड़े भाई के लिए क्यों रिश्ते की बात करने आया है, इमरोज़ को देख कर वह चौंकी भी थी, जेबा के पापा ने जेबा से पूछा तुम इसे जानती हो, जेबा ने ना में उत्तर दिया, इस तरह दोनों परिवार ने बैठ कर तय किया और फ़िरोज़ और जेबा की शादी हो गयी, जो लड़की कल तक इमरोज की जान हुआ करती थी आज वह भाभी जान हो गयी, खैर इमरोज़, जेबा से प्यार करता था, यह किसी को नहीं पता चला , ना ही जेबा को ना ही उसके बड़े भाई फिरोज को, उसकी चाहत उसके दिल में ही दब गयी.

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-Choices a new style of love story in hindi language of a sweet couple, true love story in hindi in short, true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like