ga('send', 'pageview');
Articles Hub

बेदर्दी-Cruelty a new short hindi love story with an emotional ending

Cruelty a new short hindi love story with an emotional ending, true love story in hindi in short, true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language
अनुपमा और अलोक एक ही साथ पढ़ते थे, दोनों में अच्छी दोस्ती भी थी,जहाँ एक और अलोक पढ़ने में बहुत तेज था, वहीँ अनुपमा पढ़ने में ठीक ठाक थी, हाँ यह जरूर था की अनुपमा पुरे क्लास में देखने में सभी लड़कियों में सुन्दर थी, और अनुपमा को क्लास के कई और लड़के पसंद करते थे, इसलिए अलोक को लड़के पसंद नहीं करते थे, उसकी दोनों वजह साफ़ थी की वह पढ़ने में भी तेज था और क्लास की सबसे सुन्दर लड़की अनुपमा उसकी दोस्त थी, हलाकि अलोक अनुपमा से ज्यादा बात नहीं किया करता था, उसे डॉक्टर बनाना था इसलिए वह पढ़ाई पर ज्यादा ध्यान दिया करता था, यह बात अनुपमा को भी मालूम थी, जहाँ एक और अलोक को लगता था की अनुपमा उसकी अच्छी दोस्त है, और वह उसके पढ़ाई में अच्छे होने के कारन उसके साथ दोस्ती की है, उसके उलट अनुपमा, अलोक से प्यार करती थी, वह उसके पढ़ाई की वजह से नहीं उसके स्वभाव या यूँ कह ले की अनुपमा अलोक से पहली नजर में प्यार करने लगी थी उसे अपना दिल दे बैठी थी, इसलिए अनुपमा अलोक से हर समय बात करने और उसे अपने करीब लाने की कोशिश किया करती थी, लेकिन अलोक की नजर मीनू पर थी, क्योँकि मीनू पढ़ने में बहुत तेज थी, वह देखने में भी सुन्दर थी, हलाकि क्लास के अन्य लड़को का मानना था की अनुपमा क्लास की सबसे सुन्दर लड़की है, लेकिन अलोक की नजर में मीनू उसे ज्यादा पसंद थी,वैसे भी मेडिकल क्लास में लड़को से ज्यादा लड़ियों की संख्या थी, जहाँ एक और उसके क्लास में 20 लड़कियां थी तो लड़के मात्र 10 ही थे, जहाँ क्लास के सभी लड़को की नजर अनुपमा पर थी वहीँ अलोक की नजर मीनू पर थी, चूँकि अनुपमा, अलोक को पसंद करती थी, इसलिए अलोक को लगता था की मीनू उसकी तरफ ध्यान नहीं देती, मीनू का भी स्वभाव कुछ अलोक की तरह ही था, वह भी सिर्फ और सिर्फ डॉक्टर बनने के ख्याल से ही पढ़ाई कर रही थी, इसलिए वह क्लास में सिर्फ अपने पढ़ाई पर ध्यान देती बांकी किसी चीजों पर नहीं, धीरे धीरे समय बीतता चला गया, अलोक मीनू को इम्प्रेस करने में लगा था, वहीँ अनुपमा अलोक को, मीनू आलोक की तरफ ध्यान नहीं देती तो अलोक भी अनुपमा की तरफ ध्यान नहीं देता, अनुपमा ने बहुत कोशिश की वह अलोक को अपनी तरफ आकर्षित करे, इसके लिए वह अपने मेक अप और अपने ड्रेस की तरफ ज्यादा ध्यान देती , जिसका नतीजा था की क्लास के अन्य लड़के उसकी तरफ और ज्यादा तेजी से आकर्षित होने लगे, यह अलोक को और गुस्सा दिलाता था, अब वह वक्त आ गया था, जब क्लास के फाइनल एग्जाम होने वाले थे, उसी दौरान एक बार क्लास खत्म होने के बाद अनुपमा ने अलोक से बात की, और अपने प्यार का इजहार कर दिया, अलोक कुछ देर तक अनुपमा को देखा फिर उसने कहा, तुम जितना अपने सजने सवरने पर ध्यान देती हो अगर उतना पढ़ने पर ध्यान देती तो अच्छा होता, सजने सवरने से कुछ नहीं होता है, पढ़ाई करने पर तुम डॉक्टर बन सकती थी, यह सुन कर अनुपमा ने कहा, यह कोई जरुरी नहीं की हर कोई डॉक्टर ही बन जाए, मेरे लिए डॉक्टर बनने से ज्यादा जरुरी तुम हो, तुम मेरा हमसफर बन जाओ यही मेरी चाहत है, मुझे डॉक्टर नहीं मुझे अलोक चाहिए, यह सुन कर अलोक कुछ देर तक तो अनुपमा को एक बारगी फिर देखता रह गया, उसकी समझ में नहीं आ रहा था की वह क्या बोले, फिर उसने कहा, उसे डॉक्टर बनना है इसलिए वह उससे रिश्ता नहीं बना सकता है,
और भी रोमांटिक प्रेम कहानियां “the love story in hindi” पढ़ना ना भूलें=>
गधों का सत्कार-a new short motivational story with a funny and important message
तेरी गली-Her street a new short and sweet love story in hindi language of boy from Varanasi
कुछ छोटी प्रेम कहानियां-Some small love stories at one place in hindi language


अनुपमा ने कहा की वह उसका इंतज़ार करेगी और वहां से चली गयी, उस रात अलोक बहुत सोचा उसकी समझ में कुछ नहीं आया,फिर अगले दिन उसने तय किया की वह अपने प्यार का इजहार मीनू से करेगा, और शाम को उसने मीनू से पाने प्यार का इजहार किया तो मीनू ने साफ़ साफ़ कह दिया की वह उसे पसंद नहीं करती उसे डॉक्टर बनाना है, इसलिए वह प्यार नहीं करेगी, यह सुन कर तो अलोक के पैरो तले जमीन खिसक गयी, अलोक चुप चाप वापस घर आ गया, वह एक बार फिर से सोच में डूब गया की आज जो हालत उसकी है मीनू की बातें सुन कर कुछ ऐसी ही हालत अनुपमा की भी होगी जब उसने उसे इंकार कर दिया था, लेकिन वो कहते हैं ना,” कमान से निकला तीर और मुँह से निकली हुई बातें, वापस नहीं होती” अब क्या हो सकता था? लेकिन ना चाहते हुए भी यह बात धीरे धीरे सभी को पता चल गयी की अलोक ने अनुपमा के प्यार को ठुकरा दिया और मीनू ने अलोक के प्यार को,साथ ही साथ अनुपमा का मायूस चेहरा या यूँ कह ले की रोई हुई आँखें, उसके दिल का हाल बयान कर रही, क्लास के सभी लड़को ने अलोक को खूब सुनाया, क्योँकि सभी यह जानते थे की अनुपमा अलोक से बेइंतहा मोहोब्बत करती है, और अनुपमा के जुबान पर एक ही गाना आ रहा था,”बेदर्दी से प्यार का सहारा न मिला”, यह सब घटना होने के बाद और एग्जाम खत्म होते ही तीनो तीन दिशा चले गए…….

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-Cruelty a new short hindi love story with an emotional ending, true love story in hindi in short, true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like