ga('send', 'pageview');
Articles Hub

कसमकस-dilemma a new short hindi language love story about the dilemma of a couple

dilemma a new short hindi language love story about the dilemma of a couple
dilemma a new short hindi language love story about the dilemma of a couple,true love story in hindi in short,true sad love story in hindi language,hindi love story in short love,love story novel in hindi language,romantic love stories in hindi language
भोपाल की रहने वाली दिव्या, पढ़ने में बहुत तेज थी, लेकिन परिवार की परिवार की मजबूरियों की वजह से वह भोपाल से निकल पायी, हालाँकि उसकी ख्वाइश थी की वह मेट्रो सिटीज में जाए, लेकिन लड़की होने की वजह से उसके पिता नहीं जाने दिया। इसलिए उसने भोपाल में ही रह कर बी० एड० की पढ़ाई करने लगी, उसी दौरान उसकी मुलाकात अमित से हुई, जो भोपाल में नौकरी करता था, दिव्या से उसकी मुलाकात बी० एड० के क्लास जाते समय हुआ, बात दरसल ये हुई की दिव्या ऑटो से कॉलेज जा रही थी, तभी ऑटो खराब हो गया, दिव्या ऑटो से उतर गयी, और इधर-उधर देखने लगी,वह दूसरे ऑटो का इंतज़ार करने लगी, जिसकी वजह से दिव्या को कॉलेज के लिए देरी होने लगा, तभी अमित वहां से गुजर रहा था, दिव्या ने उसे रुकने का इशारा किया, अमित रुक गया, दिव्या ने अमित से रिक्वेस्ट की उसे कॉलेज तक ड्राप कर दे, अमित मान गया, वह दिव्या को कॉलेज तक छोड़ दिया, जल्दबाजी में दिव्या ने अमित को थैंक्स भी नहीं कहा, कॉलेज से निकलने के बाद उसे याद आया की उसने बाइक वाले का ना ही नाम पूछा, ना ही उसे थैंक्स कहा, खैर वह घर पहुँच गयी। अगले दिन जब वह कॉलेज जाने लगी, तो उसे रास्ते में फिर वही बाइक वाला मिला,एक बार फिर दिव्या ने उसे रोका और थैंक्स बोला, अमित ने कहा, कॉलेज छोड़ दू, दिव्या ने हाँ में इशारा किया, बाइक पर बैठने के बाद दोनों ने बात करना शुरू किया, फिर एक दूसरे को अपना नाम बताया, अब यह रोज की रूटीन बन गयी थी, कहीं ना कहीं दोनों एक दूसरे को पसंद करने लगे थे, लेकिन एक दूसरे से जाहिर नहीं कर पा रहे थे, वहीँ दिव्या सोच रही थी की उसे मम्मी पापा से मिलवाये, अगर मम्मी पापा मान जाए तो वह अमित से शादी कर लेगी, इधर अमित भी दिव्या को पसंद करने लगा था, एक दिन उसने बातो ही बातो में दिव्या से अपने मन की बात कह दी,
और भी रोमांटिक प्रेम कहानियां “the love story in hindi” पढ़ना ना भूलें=>
गलती-mistake a new short love story in hindi language of the time
मतलबी प्यार-Egocentric love a new short love story of the egocentric of couple
प्यार का स्वरूप-Structure of love a simple sweet love story in hindi language
dilemma a new short hindi language love story about the dilemma of a couple,true love story in hindi in short,true sad love story in hindi language,hindi love story in short love,love story novel in hindi language,romantic love stories in hindi language
अब दिव्या की बारी थी, दिव्या ने भी हाँ कह दिया, उसने उसी शाम अपनी मम्मी से बात की, उसे अमित के बारे में बताया, लेकिन उसकी मम्मी ने मना कर दिया, और कहा की यह बात वह पापा को नहीं बताये, क्योँकि उसके पापा तैयार नहीं होंगे, अब दिव्या परेशान, दिव्या ने अमित को कहा की वह उसे वहां से ले जाए, यह सुन कर अमित चौंक गया, उसने पूछा, क्यों? इस पर दिव्या ने कहा की उसके पेरेंट्स नहीं मानेंगे, इसलिए वह उसे भगा ले जाए, लेकिन अमित इसके लिए तैयार नहीं था, वह सीधे दिव्या के घर गया और उसके पापा से दिव्या का हाथ माँगा, लेकिन दिव्या के पापा ने मना कर दिया, इसलिए अमित चुप चाप लौट गया, और उसने दिव्या को कह दिया की वह उसे भूल जाए, क्योँकि उसके पेरेंट्स के मर्जी के खिलाफ वह शादी नहीं करेगा, इस तरह दिव्या को ना चाहते हुए भी अमित को भूलना पड़ा, और अमित भी अब उस रास्ते से अपना ऑफिस जाना छोड़ दिया, वह अब दूसरे रास्ते से ऑफिस जाने लगा, क्योंकि वह दिव्या की नजर से बचना चाहता था

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-dilemma a new short hindi language love story about the dilemma of a couple,true love story in hindi in short,true sad love story in hindi language,hindi love story in short love,love story novel in hindi language,romantic love stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like