ga('send', 'pageview');
Articles Hub

एहसान-Favor A new short love story of Rahul and Rachna in hindi language

एहसान…
Favor A new short love story of Rahul and Rachna in hindi language, true love story in hindi in short, true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language
राहुल के पापा का ट्रांसपोर्ट का व्यवसाय था,जो अच्छा चल रहा था। वह चाहते थे की राहुल उनका कारोबार आगे बढ़ाये,लेकिन राहुल खुद का कम्पनी खोलना चाहता था,चूँकि पापा के साथ रहते हुए,उसे भी ट्रांसपोर्ट व्यवसाय का ज्ञान हो गया था,इसलिए उसने भी इसी में आगे करने की सोची और वह अपनी सोच के साथ टूरिस्ट का कंपनी खोल लिया। उसने अपनी कंपनी को हाई टेक बनाने के लिए अपने कंपनी में सब कुछ ऑनलाइन कर दिया,वह अपने कस्टमर के साथ ऑनलाइन ही डील करता था,जिससे उसका व्यवसाय तेजी से फैलने लगा,छोटे से जगह से उसने कंपनी शुरू की और देखते ही देखते बहुत बड़ी कम्पनी में तब्दील कर लिया,वह खुश था उसकी मेहनत रंग ला रही थी,काम बढ़ता देख उसने स्टाफ भी रखना शुरू किया,इसी क्रम में उसने रचना को नौकरी पर रखा,रचना ने बताया की वह बहुत जरूरमंद है,उसके परिवार में कमाने वाला कोई नहीं है,उसके ही पैसे से उसका परिवार चलेगा,क्योँकि उसके पापा इस दुनिया में नहीं हैं,और उसे अपने मम्मी और छोटे भाई-बहन का ध्यान रखना है,यह सुन कर राहुल को महसूस हुआ की वाकई यह जरुरत मंद है,इसलिए उसने रचना को काम पर रख लिया,थोड़े ही दिन में रचना ने सारा काम सीख लिया और वह ऑफिस में मन लगा कर काम करती थी,जिससे राहुल रचना से बहुत खुश था,उसका काम भी अच्छे से होने लगा,इसलिए राहुल ने कुछ ही महीनो में रचना का काम देख कर उसकी सैलरी भी बढ़ा दी,अब रचना भी ऑफिस पूरी तरह से तैयार हो कर आती थी,वह सुन्दर तो शुरू से ही थी,लेकिन उसका तैयार हो कर आना राहुल के आँखों से सीधे दिल में उतरने का काम करने लगी,राहुल रचना को देखता तो उसका मन खुश हो जाता,पहले जहाँ वह मार्किट में ज्यादातर समय रहता था,अब वहीँ मार्किट के लिए उसने स्टाफ रख लिया और ऑफिस में ज्यादातर समय गुजारने लगे,कुछ महीनो के बाद वह रविवार को मार्किट के स्टाफ को छुट्टी देने लगा लेकिन ऑफिस के स्टाफ को नहीं देता,मतलब साफ़ था की ऑफिस में सिर्फ राहुल और रचना रहते थे,अब राहुल रचना से बात चीत करता उसके बारे में और उसके परिवार के बारे में पूछता था,रचना ने भी राहुल को अपने करीब आने दिया,इस तरह समय बीतने के साथ साथ दोनों में प्रेम हो गया,राहुल, रचना को महंगी महंगी गिफ्ट देने लगा,उसने उसे छोटे भाई बहन के लिए भी गिफ्ट खरीदना शुरू कर दिया,रचना ज्योँ ज्योँ राहुल के पास जाती राहुल उस पर पैसे लुटाना शुरू कर दिया,दोनों बहुत खुश थे,दोनों इतने करीब आ गए की दोनों ने सामाजिक दुरी भी तोड़ दी,अब राहुल रचना से शादी करने का मन बना लिया और उसे अपने घर ले जाने को कहा, जिससे वह उसकी माँ से उसका हाथ मांग सके, लेकिन रचना कभी भी उसे अपने घर नहीं ले गयी, जब राहुल उस पर दवाब बनाने लगा तो रचना ने ऑफिस आना बंद कर दिया, यह कहते हुए की उसका तबियत खराब है अब राहुल परेशान,उसने डॉक्टर से इलाज करवाने को कहा,रचना ने पैसा ना होने की बात कही,राहुल ने तुरंत रचना के अकाउंट में पैसे डाल दिए,अब राहुल का मन काम में नहीं लगता,वह हमेशा रचना के बारे में ही सोचता,अब रचना हमेशा इलाज के नाम पर राहुल से पैसे मांगती, उसने कहा की वह माँ बनने वाली है,राहुल खुश हो गया उसे लगा की यह बच्चा उसका है इसलिए वह और पैसा देने लगा और कहा की वह घबराये ना,वह उससे शादी करेगा।
और भी रोमांटिक प्रेम कहानियां “the love story in hindi” पढ़ना ना भूलें=>
धोखा-Cheating a heart breaking love story of a sweet couple
मोहब्बतें-Mohabbatein a new short emotional hindi love story
अनोखी कहानियां-unique stories two different unique stories with inspirational message
Favor A new short love story of Rahul and Rachna in hindi language, true love story in hindi in short, true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language

हॉस्पिटल में जब रचना को बच्चा हुआ तो उस हॉस्पिटल का पूरा खर्चा राहुल ने उठाया,और अपने बच्चे से मिलने के लिए हॉस्पिटल पहुंचा,तो उसने पाया की उसका बच्चा किसी और की गोद में है, उसने बच्चा माँगा, तो उसे पता चला की वह आदमी रचना का पति है,अब तो राहुल सुन कर चौंक गया। उसे विश्वास नहीं हुआ, हॉस्पिटल में उसे पता चला की रचना उसके यहाँ जॉब करने से पहले से शादी शुदा थी, उसके पापा भी ज़िंदा थे यह सब सुन कर राहुल के आँखों में आसूं आ गए,वह चुप चाप हॉस्पिटल से लौट गया और ऑफिस पहुंच कर उसे रचना पर बहुत गुस्सा आया क्योँकि रचना ने झूठ बोला, उसे धोखा दिया,लेकिन वह कुछ कर नहीं सकता उसने सिर्फ इतना सोचा की उसने रचना पर एहसान कर दिया और वह फिर से अपने काम में मन लगाने लगा…………

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-Favor A new short love story of Rahul and Rachna in hindi language, true love story in hindi in short, true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like