ga('send', 'pageview');
Articles Hub

कमल का फूल-flower of lotus a new short love and inspirational story in hindi

flower of lotus a new short love and inspirational story in hindi
flower of lotus a new short love and inspirational story in hindi,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
किवंदती के अनुसार कमल एक अभिशप्त प्रेमी है। कहानी एक गाँव में रहने वाले नवयुवक की है। स्वस्थ और सुन्दर युवक। उसका एक भाई था। माता -पिता का देहांत हो चुका था। वह अपने भाई के साथ जो थोड़ी सी जमीन थी उसपर खेती करता था। गुजर -बसर करने में भी कठिनाई थी। एक बार युवक गाँव के जमींदार की खेतों में पानी दे रहा था। जमींदार के खेतों में एक बड़ा सा कुवाँ था। युवक कुवें से पानी खींचता और नाली में डाल देता। अचानक उसे लगा कि कोई उसके पास खड़ा है। सामने एक बंजारन मटका लिए खड़ी थी। युवक ने इतनी सुन्दर बंजारन अब तक नहीं देखी थी। वह भी युवक को देखे जा रही थी। वह युवक के प्रति इतनी आशक्त हो गई थी कि पानी मांगना भी भूल गई थी युवक ने उसे प्यार भरी नज़रों से देखा। बंजारन ने भी नशीली आँखों से देखा। युवक घबरा गया और रस्सी छूट गई और बाल्टी सहित कुवें में जा गिरी। बंजारन खिलखिलाकर हंस पड़ी। वह अपने डेरे पर लौटी और एक पतली रस्सी और काँटा लेकर वापस आ गई। बंजारन ने कुवें में काँटा डाला और रस्सी ,बाल्टी निकाल ली। आँखों की भाषा पढ़ ली गई थी। युवक को रात भर नींद नहीं आई। युवक सुबह होते ही अपने काम पर लग गया आँखे अलसायी हुई थी। बंजारन आई मटके में पानी भरा और वापस चली गई। आँखों -आँखों में ही कुछ बातें हो गई। कुछ दिनों बाद उसे बंजारन ने अपने बापू से मिलवाया। उसका बाप बहुत लालची था। जब उसे पता चला कि युवक एक गरीब किसान है तब उसने विवाह करने से साफ़ मना कर दिया। बहुत मनाने पर पांच सौ चांदी के सिक्के लाने पर बेटी के विवाह पर राज़ी हुआ। युवक तैयार हो गया। बंजारे दूसरे गाँव की तरफ चले गए। उसने जमींदार से उसने पांच सौ सिक्के मांगे। वह सौ सिक्के प्रतिमाह देने को तैयार हो गया बशर्ते वह दिन रात काम करेगा। उसे जो काम मिलता वह करता बीमारी में भी काम करता। एक महीने बाद उसने जमींदार से सौ सिक्के मांगे। जमींदार वादे से मुकर गया। युवक को क्रोध आ गया उसने जमींदार को पत्थर पर पटक दिया। जमींदार मर गया। इसके पहले कि जमींदार के कारिंदे उसे पकड़ पाते वह भाग निकला। वह भागता रहा। भूख से उसकी हालत खराब होने लगी। चौथे दिन वह एक बगीचे में बैठा था तभी एक युवती सामने खड़ी उसने युवक की व्यथा सुनी और उसे भोजन कराया। रात हो गई युवती का कही अता -पता नहीं था। तभी युवती सामने आई और उससे लिपट गई। वह युवती का साथ नहीं देना चाहता था क्योंकि उसके ह्रदय में बंजारन बसी थी।
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
आत्मा की कीमत-price of soul a new short inspirational story in hindi for employees
हेव ऐ गुड डे-have a good day a new short inspirational story of a old man
हँसिकाएँ-jokeful two new short funny stories in hindi language
flower of lotus a new short love and inspirational story in hindi,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
वास्तव में वह सुन्दर स्त्री एक। जादूगरनी थी। जब युवक ने उसकी बात नहीं मानी तब उसने उसे एक फूल बना दिया। इधर जादूगरनी ने बंजारन को विश्वास दिलाया कि वह उसके प्रेमी से मिलवा देगा। वह यह सब अपनी जादुई शक्ति से कर रही थी। उसने बताया कि उसने युवक को तालाब में कमल के फूल बनाकर तालाब में रखा है। उसने बंजारन को एक कीड़ा बना दिया। बंजारन तेज़ी के साथ कमल के पास पहुंची और उसमे समा गई। जादूगरनी उसे ढूंढ रही थी पर वह नहीं मिली इसी समय कमल मुरझाया और बंजारन को लिए हुवे पानी में समा गया।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-flower of lotus a new short love and inspirational story in hindi,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like