ga('send', 'pageview');
Articles Hub

कर्तव्य का पालन-Follow the Duty a new short inspirational Story in hindi

Follow the Duty a new short inspirational Story in hindi,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
किसी गांव में एक धनवान व्यक्ति रहता था वह धनवान होने के साथ-साथ धर्मात्मा भी था। उसने एक मंदिर बनवाया और मंदिर के पास धर्मशाला, बगीचे आश्रम आदि बनवाएं जिससे कि गरीब और भूखे लोग आकर वहां रह सके और उन्हें खाना मिल सके।
मंदिर मैं अनेक लोग आने लगे और दान दक्षिणा भी आने लगी जिससे लोगों को भोजन, कपड़ा आदि प्रदान होने लगा, लेकिन अब उस धनवान व्यक्ति की चिंता बढ़ गई कि इस मंदिर का प्रबंध किसे दें अतः उसने ऐलान करवाया कि मंदिर के प्रबंधक के लिए एक नेक इंसान की आवश्यकता है।
वहां कई पढ़े-लिखे विद्वान लोग इस कार्य हेतु आए, लेकिन उसने सभी को मना कर दिया। उसने कहा मुझे एक नेक इंसान की आवश्यकता है सभी लोग उसे मन ही मन गालियां देते बेवकूफ और न जाने क्या – क्या कहते थे। वाह चुपचाप सब सुनता रहता। एक दिन उसने देखा कि एक व्यक्ति जिसके कपड़े गंदे हैं मंदिर के अंदर आ रहा था तब उसने उस व्यक्ति को अपने पास बुलाया और कहा कि मैं तुम्हें मंदिर का प्रबंधक बनाना चाहता हूं।
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
अभ्यास की आवश्यकता-Need of practice a new short inspirational story with a moral
अमूल्य रत्न-Precious gem a new short inspirational story of horse and a man
व्यथित ह्रदय-emotional heart a new short inspirational story in hindi language
Follow the Duty a new short inspirational Story in hindi,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

वह व्यक्ति बोला मैं पढ़ा लिखा नहीं हूं मुझे कुछ नहीं आता है, फिर आप मुझे प्रबंधक क्यों बनाना चाहते हैं? तब धनवान व्यक्ति कहता है कि मैं कई दिनों से अपने घर से मंदिर में आने जाने वाले को देख रहा था वहां रास्ते में एक ईट का टुकड़ा गड़ा हुआ है जिससे सभी को ठोकर लग रही थी सभी ठोकर खाते उठकर चले जाते लेकिन तुम्हें उससे ठोकर नहीं लगी फिर भी तुमने उसको देखा तो मजदूर से फावड़ा लेकर उस इट के टुकड़े को निकाल दिया तो सच्चा प्रबंधक वही होता है जो रास्ते में आने वाले सारे कांटों को हटा दें अतः मैं तुम्हें मंदिर का प्रबंधक बनाना चाहता हूं
और उसे प्रबंधक मंदिर का प्रबंधक बना दिया गया।
इस कहानी का सार यही है कि मनुष्य को अपने कर्तव्यों का पालन करते रहना चाहिए।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-Follow the Duty a new short inspirational Story in hindi,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like