Articles Hub

फेंकू बंसी बाबू-funny short story in hindi

funny short story in hindi,most unbelievable story in hindi,funny but true news in hindi satire news in hindi language, satire news in hindi, hindi satire quotes, faking news hindi, hindi satire quotes, हिंदी में व्यंग्य
बंसी बाबू को फेकने की बहुत बुरी बीमारी थी, जब देखो तब अपनी बातों को बढ़ा-चढ़ा कर कहा करते थे, हाँ यह जरूर था की उनके कहने के अंदाज से, सभी उस पर विश्वास भी कर लिया करते थे, बंसी बाबू दिमाग के भी बहुत तेज थे, सारा दिन सिर्फ बातें बनाना, उनसे बातो में तो कोई जीत ही नहीं सकता था, हाँ ज्ञान की बातें तो बिलकुल ही नहीं करते थे, बस डींगे हाकना. डींगे बहुत ज्यादा हाकंते थे, पोल तो तब खुली जब उन्होंने यह कह दिया की उनका जान पहचान बड़े बड़े नेता से है, और उनके पड़ोस में रहने वाले शर्मा जी को नेता से पैरवी करवाना था, उन्होंने बंसी बाबू को बोला, बंसी बाबू आदत से मजबूर बोल पड़े की काम हो जाएगा, नेता जी से अच्छा जान पहचान है. लेकिन समय बीत रहा था और बंसी बाबू आज कल किये जा रहे थे, एक दिन शर्मा जी बंसी बाबू को बिना बताये, उन्हें अपनी गाडी पर बैठाया, और नेता जी घर ले आये, बंसी बाबू को यह भी पता नहीं था की वो जिस नेता को अपना जैदी दोस्त बताते थे यह घर उसी नेता का है, घर के अंदर जाने के बाद तो 100 तरह के सवाल होने लगे, शर्मा जी ने बताया की नेता जी बोलिये उनका जिगरी दोस्त बसी बाबू उनसे मिलना चाहते हैं, नेता जी को आस्चर्य हुआ की यह कौन दोस्त है जिसका नाम वह सुने भी नहीं है, फिर भी वो घर के बहार आये और पूछा कौन है बंसी बाबू, बंसी बाबू अपना मुँह छिपा रहे थे, लेकिन शर्मा जी ने परिचय करवाया, इस पर नेता जी ने बोला यह कौन है, इसे तो मैं जानता भी नहीं, इससे तो पहली बार मिल रहा हूँ, जिसे सुन कर शर्मा जी के चेहरे पर हवइया उड़ने लगती. कल तक जो बसी बाबू नेता जी को जिगरी दोस्त और ना जाने क्या क्या बोलते थे, वो तो पहचानते भी नहीं है, यह सुन कर शर्मा जी को बहुत गुस्सा आया और वह चुप चाप बंसी बाबू को वहीँ छोड़ गाडी से वापस घर आये, घर वाले और आस पड़ोस के लोगो ने पूछा, शर्मा जी काम हो गया, इस पर शर्मा जी ने पूरी कहानी सुना दी, अब तो सभी को आस्चर्य हुआ की बंसी बाबू आज तक सिर्फ और सिर्फ फेंकते आ रहे थे.इधर बंसी बाबू आये तो गाडी से थे, जाएंगे कैसे? पैसे तो साथ में लाये नहीं थे, पैदल ही आना पड़ा, वापस आते आते काफी रात हो गयी थी,

funny short story in hindi,most unbelievable story in hindi,funny but true news in hindi satire news in hindi language, satire news in hindi, hindi satire quotes, faking news hindi, hindi satire quotes, हिंदी में व्यंग्य
और भी व्यंग्य कहानियां पढ़ें=>
क्या सोनम गुप्ता बेवफा है.
ऑनलाइन मजाक
ये हैं बाबा
फेसबुक ने मारा बिट्टू को
बिना किसी को कुछ बोले अपने घर में चुप चाप जा कर सो गए, अगली सुबह एक बार फिर फेकने लगे की नेता जी तो मजाक कर रहे थे, शर्मा जी तो गुस्से में चले आये उसके बाद नेता जी ने खाना खिलाया और अपनी गाडी से मुझे घर छोड़ने आये, एक बार फिर सभी आस्चर्य में पद गए की किसी बात सच माने. शर्मा जी ने बोला, इसमें क्या है , आज फिर शाम को उनके घर चलते है, अब तो बंसी बाबू सोच में पड़ गए, फिर उन्होंने बताया की नेता जी पार्टी के काम से दिल्ली गए हैं वापस आने पर चलेंगे , सभी ने बंसी बाबू की बात मान ली और बंसी बाबू ने चैन की सांस ली, लेकिन रात को समाचार आया की नेता जी तो शहर में ही हैं, वो किसी दुकान का उद्घाटन कर रहे थे, एक बार फिर सबो को लगा बंसी बाबू ने फिर झूठ बोला,इस पर बंसी बाबू ने बताया की वो दिल्ली जाने वाले ही थे की दुकान का उद्घाटन का प्रोग्राम बन गया लिए वो नहीं जा पाए, सबो ने एक बार फिर बंसी बाबू पर विश्वास कर लिया, लेकिन शर्मा जी के बेटे को नहीं हुआ, उसने अपने एक दोस्त से कहा, जो नेता जी के बेटे का भी दोस्त था, फिर नेता जी के बेटे ने बताया की वो किसी बंसी को नहीं जानते ना ही उसके पापा कभी उससे मिले हैं. बात साफ़ हो गयी की बंसी बाबू झूठ बोल रहे हैं, इस पर शर्मा जी और उनके बेटे ने जबदरस्ती बंसी बाबू को गाडी में बिठाया और एक बार फिर नेता जी के घर चले गए और वहां जा कर बोला की उनका बचपन का दोस्त बंसी बाबू नेता जी से मिलने आये हैं, इस पर नेता जी के सुरक्षा कर्मी ने बंसी बाबू को देख कर बोला तुम फिर आ गए, पहली बार भी धक्का मार कर निकाला था फिर दोबारा आ गए, यह सुन कर शर्मा जी और उनके बेटे को सच पता चल गया, और वो बंसी बाबू को वहीँ छोड़ वापस चले आये और मोहल्ले वालो को सब सच बता दिया, इधर एक बार फिर बंसी बाबू को पैदल ही वापस अपने घर आना पड़ा, लेकिन उन्होंने सोच लिया की अब वह कभी नहीं फेंकेंगे…………
मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-funny short story in hindi,most unbelievable story in hindi,funny but true news in hindi satire news in hindi language, satire news in hindi, hindi satire quotes, faking news hindi, hindi satire quotes, हिंदी में व्यंग्य

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like