Articles Hub

जब धोती खुल गयी-funny story in hindi for facebook

funny story in hindi for facebook,most unbelievable story in hindi,funny but true news in hindi satire news in hindi language, satire news in hindi, hindi satire quotes, faking news hindi, hindi satire quotes, हिंदी में व्यंग्य
पंकज दिल्ली में रहता था, उसका घर गोरखपुर था, उसके माता पिता भी गोरखपुर में ही रहते थे, लेकिन पंकज दसवीं की परीक्षा देने के बाद आगे की पढ़ाई के लिए दिल्ली चला गया, और वहीँ से अपनी पूरी पढ़ाई करके वहीँ जॉब करने लगा, हलाकि छुट्टियों में वह अपने घर जाय करता था, लेकिन घर पर बहुत कम ही दिन रहता था, उसे घर से ज्यादा दिल्ली में मन लगता था,चूँकि दिल्ली में ही वह शुरू से रह गया तो उसके ज्यादातर दोस्त वहीँ के हो गए, जब भी समय मिलता वह अपने दोस्तों के साथ खूब घूमता और मस्ती करता. जॉब करते हुए उसे दो साल हो गए, जहाँ उसी के साथ काम करने वाली प्रणिता से उसे प्यार हो गया, शुरू शुरू में तो उसे प्रणिता काफी पसंद आयी, ज्योँ ज्योँ वह उसके करीब आता गया उसे प्रणिता से प्यार होता गया. एक दिन उसने अपने प्यार का इजहार प्रणिता से कर दिया, प्रणिता सुन कर चौंक गयी और उसने साफ़ साफ़ कह दिया की वह उसे सिर्फ अपना अच्छा दोस्त मानती है, उसने उसे कभी भी प्यार वाली नजरो से नहीं देखा, यह सुन कर पंकज का दिल बैठ गया और वह उदास हो गया, फिर उसने प्रणिता से कहा की वह मुझे एक बार मौका तो दे अगर उसे पसंद ना आउ तो वह अलग हो जाएगा , इस बार प्रणिता ने साफ़ साफ़ कह दिया की वह अपने माता पिता के पसंद किये हुए लड़के से ही शादी करेगी. मतलब साफ़ था की पंकज को अलग होना ही था, इधर पंकज के घर से भी उसकी शादी को ले कर उसके माता पिता उसे फोन करने लगे, इस पर पंकज ने अपने माता पिता को अपने लिए लड़की पसंद करने को कह दिया, मतलब अब वह अपने माता पिता के द्वारा की पसंद किये हुए लड़की से शादी करने को तैयार हो गया. कुछ ही दिनों में उसके माता पिता ने उसके लिए लड़की पसंद कर ली. लड़की बहुत सुन्दर थी, साथ ही साथ घरेलू और संस्कारी थी, हाँ यह था की लड़की ज्यादा पढ़ी लिखी नहीं थी, फिर भी पंकज ने हामी भर दी. शादी एक लिए पंकज वापस गोरखपुर आ गया, यहाँ आ कर उसे पता चला की शादी के लिए उसे कुर्ता और धोती पहनना होगा, और आज तक अपनी जिंदगी एम् पंकज ने कभी धोती पहनी नहीं थी,

और भी व्यंग्य कहानियां पढ़ें=>
क्या सोनम गुप्ता बेवफा है.
ऑनलाइन मजाक
ये हैं बाबा
फेसबुक ने मारा बिट्टू को
पहले तो उसने मना कर दिया लेकिन फिर माता पिता के आगे झुक कर उसने धोती पहन ली. शादी का रस्म शुरू हुआ उसे बार बार ऐसा लग रहा था की कहीं धोती ना खुल जाए, इसलिए वह बार बार धोती को पकड़ रहा था, जबकि उसके रिश्तेदार उसे बोल रहे थे की वह टेंशन ना ले धोती नहीं खुलेगा.खैर वह धूम धाम से बारात ले कर लड़की वालो के घर पहुंचा, जहाँ बड़ा सा स्टेज बना हुआ था , जहाँ लड़की वरमाला ले कर अपने दोस्तों के साथ आयी, स्टेज पर वरमाला का रस्म होना था इधर से पंकज के कुछ दोस्त और भाई थे तो लड़की की तरफ से लड़की के दोस्त और बहन थी, फिर वरमाला का कार्यक्रम शुरू हुआ तो पंकज के दोस्तों ने पंकज को उठा लिया,इधर लड़की के भाई ने लड़की को लड़की को उठा लिया, मतलब दोनों अब हवा में थे,दोनों की तरफ से दोनों को हवा में और उठाया जाने लगा,वीडियो रिकॉर्डिंग हो रही थी, फोटो पर फोटो लिए जा रहे थे, पंकज के दोस्त भी अपने मोबाइल से रिकॉर्डिंग किया जा रहा था. इसी क्रम में कब पंकज का धोती खुल गया,ना ही पंकज को और ना ही पंकज के दोस्तों को पता चला, खैर जयमाला तो हो गया, लेकिन जब पंकज को निचे उतरा गया तो धोती खुली हुई और पंकज सिर्फ चड्डी में था, अब तो सभी हसने लगे, जल्दी से पंकज को स्टेज पर उतारा गया और फिर से धोती पहनाया गया, अब तो पंकज का चेहरा देखने लायक था, वह दिन था और आज उस दिन को करीब 12 साल हो गए पंकज कभी गोरखपुर नहीं गया, उसके माँ बाप ने काफी मिन्नतें की लेकिन पंकज नहीं माना, क्योँकि का वीडियो तो बन चूका था, और देखते ही देखते वायरल भी हो चूका था…….

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-funny story in hindi for facebook,most unbelievable story in hindi,funny but true news in hindi satire news in hindi language, satire news in hindi, hindi satire quotes, faking news hindi, hindi satire quotes, हिंदी में व्यंग्य

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like