ga('send', 'pageview');
Articles Hub

पलायन-getaway a new short inspirational story written by Selma Lagerlöf

getaway a new short inspirational story written by Selma Lagerlöf,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
दूर रेगिस्तान में एक खजूर का पेड़ हुआ करता था। इतना लंबा कि वहाँ से गुजरने वाले हर शख्स उसे जरूर देखता। दो इंसान चले जा रहे थे। एक पुरुष और एक स्त्री। उनके साथ ना कोई ऊँट था ना मश्क। ये दोनों सिर्फ मरने के लिए आये हैं पेड़ ने कहा। जल्द ही कोई शेर इन्हे मार डालेगा या कोई लुटेरा दिखाई देंगे और नहीं तो रेगिस्तानी लू इन्हे मार देगी। लगता है दोनों मूरख अपने साथ एक शिशु को भी लेकर आये हैं पेड़ ने कहा। बच्चे के शरीर पर ढंग का कोई कपड़ा भी नहीं था। ये भगोड़े लगते हैं ,यहां मरने से बेहतर था कि दुश्मन के हाथों मारे जाते। यक़ीनन ये भूखे -प्यासे हैं पेड़ बुदबुदाया। तभी पेड़ की पत्तियों में एक सिहरन दौड़ गयी शयद प्यास का एहसास पत्तियों ने किया हो। अगर मैं इंसान होता तो रेगिस्तान के अंदर कभी नहीं घुसता। अगर मैं बोल पाटा तो इन्हे लौट जाने की विनती करता खजूर के पेड़ ने सोचते हुए कहा। मेरी पट्टियां की सारी लावें काँप रही हैं इस बदनसीब की स्त्री कितनी सुन्दर है ? उसे उस यशस्वी रानी की याद आई जिसने बीज बोया था और अपने आंसूओं से सींचा था। खजूर को लगा मृत्यु की सरसराहट पत्तियों के लिए नहीं बल्कि इन दोनों भटके हुए लोगों के लिए है। ऊंट के बिखरे कंकाल ऊपर गिद्धों का मंडराना अशुभ संकेत ही तो हैं | कुवां दिखाई दिया पर वह सूखा था | बच्चे को नीचे लिटाकर स्त्री रोने लगी पुरुष असहाय ,बेबस सा जमीन पर मुट्ठियाँ मारने लगा। उनकी बातों से पता चला कि राजा हेरोदेस ने सारे बालकों को मारने का हुक्म दिया है क्योंकि उसे डर था कि यहूदियों के जिस राजा का इंतज़ार था उसका जन्म हो चुका है। ईश्वर हमारी सहायता करेंगे -स्त्री ने कहा। हमारे पास ना खाना है ना पीने को पानी ईश्वर हमारी सहायता कैसे करेंगे -पुरुष ने दुखी स्वर में कहा। खजूर के फुनगी पर गुच्छे लाडे थे पर उस ऊंचाई पर पहुँचना आसान नहीं था। बच्चे ने अपनी माँ की अंतर्मन की पुकार सुन ली वह सोचने लगा कि खजूर के पेड़ को नीचे लाये तो कैसे लाये ?
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
बदलाव-change a new short inspirational story of an old man in hindi language
शराबी शिष्य-Drunkard Student a new short inspirational story from a small play
धन दौलत-Wealth a new short inspirational story of a greedy shopkeeper
getaway a new short inspirational story written by Selma Lagerlöf,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

वह खजूर के पेड़ के नीचे गया और शिशु सुलभ आवाज में बोला -खजूर ,नीचे झुको लम्बे तने में कम्पन होने लगा। सिजदे में पेड़ ने अपने आप को झुका लिया। बच्चा किलकारी मारते हुए बूढ़े खजूर की फुनगी से एक के बाद एक गुच्छा निकलता गया। तब शिशु ने कोमल स्वर में कहा -खजूर उठो ,खजूर उठो। उस विशाल पेड़ ने तने के सहारे खुद को सीधा किया। पत्तियां वीणा सी बजती रहीं ,शायद मृत्यु राग बजा रही हों। पुरुष और स्त्री ने घुटनो के बल बैठकर ईश्वर को धन्यवाद किया। हमें अब किसी शत्रु का भय नहीं तु ही शक्तिमान है तभी तो खजूर के पेड़ को सरकंडे की तरह नीचे झुका दिया। अगली बार जब एक कारवाँ वहाँ से गुजरा तब यात्रियों ने देखा विशाल पेड़ की विशाल फुनगी मुरझा चुकी है। ऐसा कैसे हो सकता है ?एक यात्री ने कहा इस पेड़ को तबतक नहीं मरना था जब तक यह सुलेमान से बड़े किसी राजा को ना देख ले – श्याद इसने देख लिया है एक दूसरे यात्री ने कहा।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-getaway a new short inspirational story written by Selma Lagerlöf,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like