ga('send', 'pageview');
Articles Hub

अच्छी बाते-Good talks a new short inspirational story of two brothers

Good talks a new short inspirational story of two brothers,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
किसी गांव में दो भाई रहते थे जिनके नाम थे, सोहन और मोहन दोनों भाई बड़े प्यार से रहते थे मोहन अपने बड़े भाई सोहन का बहुत आदर करता था उसकी हर बात मानता था। गांव में दोनों भाइयों के प्यार का उदाहरण दिया जाता था। दोनों भाई बड़े हुए दोनों के अपने-अपने परिवार हो गए फिर भी उनका प्यार बना रहा लेकिन एक दिन दोनों भाई मैं किसी बात पर झगड़ा हो गया और वह इतना बढ़ गया कि दोनों भाई एक दूसरे का मुंह भी नहीं देखना चाहते थे। अब दोनों अपने-अपने परिवार के साथ अलग रहने लगे, यदि कभी रास्ते में एक दूसरे को मिल जाते तो अपना रास्ता ही बदल देते थे।इस प्रकार कई वर्ष बीत गए उनके बच्चे भी बड़े हो गए। अब छोटे भाई मोहन की लड़की का विवाह होने वाला था वह सोचता है; बड़े आखिर बड़े होते हैं उनके बिना विवाह कैसे हो सकता है? मुझे अपने भाई को मनाना चाहिए।वह अपने बड़े भाई सोहन के पास जाता है और उसके पैरों में गिरकर उससे अपनी गलती की माफी मांगता है और कहता है कि भैया चल कर विवाह का काम संभालिए लेकिन उसकी बातों का बड़े भाई पर कोई असर नहीं होता और वह जाने से मना कर देता है। छोटा भाई निराश होकर अपने घर आ जाता है। वह सोचता है भाई को कैसे मनाए? विवाह के दिन पास आने लगे तभी उसे पता चला कि उसका भाई किसी संत के यहां प्रतिदिन जाता है और उनकी बात को मानता है। दूसरे दिन छोटा भाई संत के यहां पहुंचा और उन्हें सारी बात बता दी और कहा कि आप मुझे मेरे भाई को विवाह में आने के लिए मना ले मैं आपका यह उपकार कभी नहीं भूलूंगा, संत ने उसे विश्वास दिलाया कि ऐसा ही होगा और वह अपने घर चला गया।
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
गुरु भक्ति गुरु श्रद्धा-Guru bhakti a new short inspirational story in hindi of teacher
गरीबी का सबक-Teaching of Poverty a new short inspirational story in hindi language
कोलाहल से दूर-A new short emotional story in hindi for young audiance
Good talks a new short inspirational story of two brothers,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

अगले दिन जब सोहन संत के यहां प्रवचन सुनने आया, तब संत ने उससे पूछा कि तुम्हारे छोटे भाई की लड़की का विवाह है और तुम कौन सा कार्य संभाल रहे हो, तब उसने उत्तर दिया कि मैं विवाह में सम्मिलित नहीं हो रहा हूं। संत ने कहा प्रवचन के बाद मुझसे मिलकर जाना।
जब सोहन प्रवचन के बाद संत से मिलने गया तो संत ने उससे पूछा कि तुम विवाह में सम्मिलित क्यों नहीं हो रहे? सोहन ने कहा मोहन ने मुझे कड़वे शब्द कह दिए थे जिसे मैं भूल नहीं पा रहा हूं। संत ने यह बात सुनकर सोहन से पूछा पिछले रविवार को मैंने तुम्हें क्या प्रवचन दिया था? कुछ देर सोचने के बाद सोहन बोला गुरु जी माफ कीजिए मुझे याद नहीं आ रहा है। गुरुजी बोले कि मैंने तुम्हें आठ दिन पहले जो कहा था वह तुम्हें याद नहीं और तुम्हारे भाई ने जो शब्द इतने वर्ष पहले कहे थे वह तुम्हें आज तक याद है।
तुम्हें अच्छी बातें तो याद नहीं रहती तो फिर यहां आने का क्या फायदा? इसलिए कल से तुम मत आना और अपना समय नष्ट मत करना ।
यह सुनकर सोहन की आंखों में आंसू आ गए और उसे अपनी गलती का एहसास हुआ वह दौड़ कर अपने भाई मोहन के घर गया और उसे गले से लगा लिया उसकी आंखों से आंसू बह रहे थे, दोनों भाई गले मिले खुशी-खुशी दोनों भाई ने एक साथ मिलकर विवाह का कार्य पूर्ण किया और फिर से उन दोनों के बीच में पहले जैसा प्यार जागृत हो गया।
इसी प्रकार हमें भी अपने जीवन में बुरी बातों को छोड़कर अच्छी बातों पर ध्यान देना चाहिए।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-Good talks a new short inspirational story of two brothers,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like