Articles Hub

पहलू सिक्के का-Great Motivational story in hindi language

Great Motivational story in hindi language on patience,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
ये तो सभी जानते हैं की सिक्के के दो पहलू होते हैं, लेकिन अगर इंसान सिक्के का एक ही पहलू देखे तो? विवाद सम्भव है, कुछ ऐसा ही इस कहानी से ज्ञात होगा…..
एक गांव में 6 अंधे लोग हुआ करते थे, उनमे बहुत अच्छी दोस्ती भी थी, और सभी एक दूसरे की मदद भी किया करते थे. एक दिन उस गाँव में एक हाथी आया, चूँकि उन 6 अंधे लोगो ने कभी हाथी नहीं देखि थी, इसलिए सबो ने यह तय किया की वो लोग हाथी को छू कर उसकी परिकल्पना करेंगे, भले वह देख नहीं सकते हैं लेकिन छू कर तो परिकल्पना कर ही सकते हैं, इसलिए वो लोग हाथी के पास पहुँच गए, और हाथी को छूने लगे…
पहले व्यक्ति ने हाथी का पैर छूते हुए कहा कि , ” हाथी एक खम्भे की तरह होता है”.
जबकि दूसरे व्यक्ति ने पूँछ पकड़ते हुए कहा कि, “हाथी तो रस्सी की तरह होता है”.
वहीँ तीसरे व्यक्ति ने सूंढ़ पकड़ते हुए कहा, “मैं बताता हूँ, ये तो पेड़ के तने की तरह है”.
” तुम लोग क्या बात कर रहे हो, हाथी एक बड़े हाथ के पंखे की तरह होता है.” , चौथे व्यक्ति ने कान छूते हुए सभी को समझाया.
“नहीं-नहीं , ये तो एक दीवार की तरह है.”, पांचवे व्यक्ति ने पेट पर हाथ रखते हुए कहा.
” ऐसा नहीं है , हाथी तो एक कठोर नली की तरह होता है.”, छठे व्यक्ति ने अपनी बात रखी.
Great Motivational story in hindi language on patience,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
बदलाव की एक प्रेरक कहानी
चालक भेड़िये और खरगोश की प्रेरक कहानी
कोयल और मोर की प्रेरणादायक कहानी
और फिर सभी आपस में बहस करने लगे और खुद को सही साबित करने में लग गए.. ..उनकी बहस तेज होती गयी और ऐसा लगने लगा मानो वो आपस में लड़ ही पड़ेंगे. तभी पास से एक व्यक्ति गुजर रहा था और उसने लड़ाई कि वजह पूछी तो सभी ने अपना अपना तर्क दिया और सभी अपने आपको सही साबित कर रहे थे. इस पर व्यक्ति ने कहा कि तुम सभी सही बोल रहे हो, क्योँकि सबो ने हाथी के शरीर का एक पार्ट छुआ है सभी पार्ट नहीं अगर तुम सभी हाथी के शरीर का सभी पार्ट छूते तो समझ आता है, वैसे तुम सभी सही बोल रहे हो, जिस तरह सिक्के के दो पहलु होते हैं और दोनों पहलु देखने के बाद ही कुछ बोलना चाहिए, ठीक उसी तरह हाथी के सभी पार्ट को छूने के बाद भी असली हाथी कि परिकल्पना की जा सकती है.
इस पर अंधे व्यक्ति ने कहा, ” अच्छा !! ऐसा है.” सभी ने एक साथ उत्तर दिया . उसके बाद कोई विवाद नहीं हुआ ,और सभी खुश हो गए कि वो सभी सच कह रहे थे.
सही बात है, कई बार ऐसा होता है कि हम अपनी बात को लेकर अड़ जाते हैं कि हम ही सही हैं और बाकी सब गलत है. लेकिन यह संभव है कि हमें सिक्के का एक ही पहलु दिख रहा हो और उसके आलावा भी कुछ ऐसे तथ्य हों जो सही हों. इसलिए हमें अपनी बात तो रखनी चाहिए पर दूसरों की बात भी सब्र से सुननी चाहिए , और कभी भी बेकार की बहस में नहीं पड़ना चाहिए……..

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-Great Motivational story in hindi language on patience,inspirational in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

loading...
You might also like