Articles Hub

क्या ईयरफोन आपको बहरा बना रहा है-health related news in hindi language

health related news in hindi language

health related news in hindi language, latest health news in hindi, health tips news in hindi, healthcare news in hindi, dainik jagran health news in hindi
हम हेल्थ से जुड़े लेखों का प्रकाशन करते रहते हैं। इसी कड़ी में प्रस्तुत है “क्या ईयरफोन आपको बहरा बना रहा है” health related news in hindi language. आशा है ये आपको अच्छी लगेगी।
संगीत और गाने का किसको शौक नहीं है, किसी को दर्द भरे नग्मे पसंद आते हैं तो किसी को रोमांटिक गाने तो किसी को गजल ! सभी की अपनी अपनी पसंद है,लेकिन सभी को गाने पसंद आते हैं. शायद इसलिए ज्यादातर लोगो के कानो में ईयरफोन लगा हुआ मिलेगा. कुछ लोग ईयरफोन लगा कर बात करते हैं, तो कुछ लोग इसे लगा कर गाना सुनते हैं तो कुछ वीडियो भी देखते हैं. ईयरफोन लगा लेने से दूसरे लोग डिस्टर्ब नहीं होते हैं,साथ ही साथ ईयरफोन लगाने के बाद आप भी डिस्टर्ब नहीं होते हैं,आपका पूरा ध्यान गाना या वीडियो पर होता है.इसलिए तो आजकल आपको मेट्रो, बस और बाइक से चलते लोग कान में ईयरफोन/हेडफोन लगाकर तेज आवाज में गानें सुनते दिख जायेंगे. मगर वह यह नहीं जानते कि संगीत का यह मजा उनके लिए ऐसी सजा भी बन रहा है जो आने वाले समय में उन्हें बहरेपन के कगार पर लाकर खड़ा कर सकता है. तेज आवाज में होने के कारण यह गाने कानों के पर्दे पर विपरीत प्रभाव डालते हैं. कई शोधों में भी यह बात सामने आयी है कि तेज आवाज में गाने सुनना आपको बहरा तक बना सकता है.पिछले 15 सालों के दौरान अमेरिकी किशोरों में बहरेपन की समस्या तेजी से बढ़ी है. अब हालत यहां तक आ गई है कि पांच में से एक किशोर उतनी गंभीर श्रवण समस्या से जूझ रहा है जितनी अमूमन 50 से 60 साल की उम्र वाले लोगों को होती है. हार्वर्ड स्कूल आफ पब्लिक हेल्थ और बर्मिघम एंड वूमेंस हास्पिटल [बीडब्लूएच] के शोधकर्ताओं के अनुसार, 1988-94 के सर्वेक्षण से लिए गए आंकड़ों की तुलना में, 2005-06 में 12-19 साल के अमेरिकी किशोरों में किसी भी तरह के बहरेपन में 30 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. साथ ही, पिछले 15 सालों के दौरान अमेरिकी किशोरों में ‘हल्के या गंभीर रूप से बहरेपन’ में 70 फीसदी की बढ़ोत्तरी पाई गई है. शोधकर्ताओं ने पांच में से कम से कम एक किशोर में सुनने की क्षमता में कमी के प्रमाण पाए हैं जबकि 20 में से एक में सुनने की क्षमता में बेहद हल्की कमी पाई है.बीडब्लूएच में चेनिंग प्रयोगशाला के फिजीशियन इंवेस्टिगेटर और अध्ययन के अगुवा रहे जोसेफ शारगोरोडस्काई ने कहा कि इन किशोरों ने सामान्य फुसफुसाहट, सीटी, कुछ निश्चित संगीत के सुर और उच्च आवृत्ति वाली आवाजों को सुनने में दिक्कतें महसूस की होंगी. उन्होंने कहा, ‘किशोरों में सुनाई देने की क्षमता में कमी पिछले अध्ययन को देखते हुए और चिंताजनक हो जाती है.जिसका एक कारण लगातार इयरफोन का उपयोग करना भी बताया गया है. मतलब साफ़ है की,अगर आप लगातार इयरफोन को उपयोग करते हैं तो आप बहरेपन को आमंत्रण दे रहे हैं.
और भी स्वास्थय से जुडी खबरें पढ़ें==>
गंजेपन का शर्तिया इलाज
बर्फ के ये 15 फायदे जानकर चौंक जाएंगे आप
कुछ इस तरह से पिए पानी और वजन कम करे-
आसान तरीका अपने लम्बाई बढ़ाने का
आशा है आपको हमारा “health related news in hindi language” लेख अच्छी लगी। कृपया इसे व्हाट्स एप्प और फेसबुक पर ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करें।




health related news in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like