Articles Hub

hindi real love story-अजब प्यार की गजब कहानी

 

hindi real love story ,most romantic love story in hindi language, love story in hindi,, हिंदी प्रेम कहानियां,रोमांटिक कहानियां, sad love story in hindi

हम आपको एक से बढ़कर एक रोमांटिक प्रेम कहानियां प्रकाशित करते हैं।इसी कड़ी में पेश है आज अजब प्यार की गजब कहानी hindi real love story. आशा है ये आपको पसंद आएगी।




प्रिया अपने दो भाई के साथ दिल्ली में पढ़ती थी। एक छोटे से गांव में रहने वाले तीनो भाई-बहन दिल्ली में काफी दिनों से रह कर पढ़ाई कर रहे थे,इसलिए वो वापस अपने गांव नहीं जाना चाहते थे। लेकिन पढ़ाई समापत होने के बाद उन्हें वापस अपने घर जाना ही था । इसी सोच में प्रिया डूबी हुई थी,फिर उसने सोचा क्यों ना यही जॉब कर लू । वैसे भी प्रिया की इंजीनिरिंग की पढ़ाई पूरी होने वाली थी,और उसका कैंपस होने वाला था, लेकिन प्रिया के मम्मी-पापा नहीं चाहते थे की उसकी बेटी किसी प्राइवेट कंपनी में जॉब करे। वो बार बार उसे सरकारी जॉब करने को बोलते थे,लेकिन सरकारी जॉब इतनी आसानी से मिलने वाली कहाँ थी? इसलिए प्रिया ने कुछ जुगाड़ लगाने का सोचा और इसी दौरान उसकी मुलाकात पंकज से हुई जो किसी प्रकार का जॉब लगवा देता था। इसलिए उसे सभी जुगाड़ू कहते थे। सही में वो जुगाड़ू था,कोई भी सरकारी परीक्षा होती थी तो उसके पास परीक्षा शुरू होने से पहले प्रश्न आ जाते थे,और वो अपने कैंडिडेट को सब कुछ तैयारी करवा कर परीक्षा में बैठा देता था,जिसकी वजह से सभी पास कर जाते थे।परीक्षा पास होते ही पंकज कैंडिडेट से अपना फीस ले लेता था,जिसकी वजह से उसके पास बहुत पैसा था,और धीरे धीरे वो अमीर भी हो गया था, पंकज के बारे में सुन कर प्रिया भी पंकज से मिली और उसे अपना सरकारी जॉब लगवाने को कहा। पंकज तैयार हो गया , उसने प्रिया का फॉर्म भरवा दिया और परीक्षा से ठीक पहले उसे प्रश्न ला कर दिया, लेकिन किस्मत को शायद कुछ और ही मंजूर था और परीक्षा कैंसिल कर दिया गया.
और प्रेम कहानियां पढ़ें==>
एक झलक काफी है
ये इश्क़ नहीं आसान
जब प्यार में आया कंडीशन
वो चांदनी रात
फिर से परीक्षा लेने में करीब 7 महीने का समय लग गया,लेकिन ये सात महीनो ने प्रिया और पंकज एक दूसरे के बहुत ही करीब आ गए थे, प्रिया कब पंकज से प्यार करने लगी थी,उसे खुद मालूम नहीं चल रहा थाज्यों-ज्यों समय बीत रहा था,पंकज और प्रिया का प्यार और गहरा हो रहा था। वो दिन भी आ गया जब प्रिया को परीक्षा देना था,प्रिया से ज्यादा टेंशन पंकज को था,और पंकज को प्रश्न मिल गया, उसने प्रिया को बता दिया साथ ही उसको उत्तर की भी तैयारी करवा दी। प्रिया ने पंकज के कहे अनुसार सरे प्रश्न का उत्तर दिया और रिजल्ट आने पर प्रिया का सलेक्शन हो गया। प्रिया बहुत खुश हुई,आज वो सरकारी इंजीनियर बन गयी थी।अपने गांव आने के बाद उसके मम्मी-पापा बहुत खुश हुए और उसकी शादी एक सरकारी इंजीनियर से करवाना चाहे,लेकिन प्रिया के दिल में तो पंकज था,
hindi real love story ,most romantic love story in hindi language, love story in hindi,, हिंदी प्रेम कहानियां,रोमांटिक कहानियां, sad love story in hindi



इसलिए वो मना करके वापस दिल्ली लौट गयी,जहाँ उसने पंकज से शादी से कर ली, इसमें प्रिया के दोनों भाई ने प्रिया का साथ दिया। इसके बदले पंकज ने अपने दोनों साला का जॉब भी जुगाड़ से सरकारी विभाग में करवा दिया। लेकिन पंकज जब भी कोई सरकारी फॉर्म भरता, कैसे ना कैसे प्रश्न देने वाले को पता चल जाता और उसे वो प्रश्न नहीं देते, उनका मनाना था की अगर पंकज को जॉब हो गया तो उसका जुगाड़ का धंधा बर्बाद हो जायेगा,इसलिए वो पंकज को प्रश्न नहीं देते और पंकज बिना प्रश्न के पास नहीं कर पाता। अंत में पंकज ने फॉर्म भरना ही छोड़ दिया और उसने फोटो स्टेट की दुकान खोल ली, साथ ही जुगाड़ का काम करता रहा। वैसे भी अब उसे जॉब की जरुरत नहीं रही,क्योंकि प्रिया को अच्छी सैलरी मिल रही थी और वो खुश था। धीरे- धीरे वक्त बीतता चला गया, सरकार का शिकंजा कसता चला गया और पंकज के जुगाड़ का व्यवसाय भी मंदा होने लगा,लेकिन पंकज को अब किसी बात का टेंशन नहीं था,क्योंकि वो बहुत ज्यादा कमा चूका था,साथ ही उसकी पत्नी प्रिया अच्छे पोस्ट पर पहुंच चुकी थी, is तरह एक जुगाड़ से शुरू हुई प्रेम कहानी आज सफल हो चुकी थी । प्रिया और पंकज के बिच का प्यार देख प्रिया के मम्मी-पापा ने भी पंकज को अपना दामाद मान लिया। आज भले ही पंकज जुगाड़ का काम छोड़ चूका था,लेकिन उसकी किस्मत ने उसका साथ नहीं दिया,इसलिए चाह कर भी उसे सरकारी नौकरी नहीं मिली,फिर भी वो खुश था,क्योंकि उसके साथ प्रिया जो थी ।
आशा है ये “hindi real love story” आपको पसंद आयी होगी।कृपया अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ इसे व्हाट्स ऐप और फेसबुक पर शेयर करें।

hindi real love story




loading...
You might also like