Articles Hub

hindi romantic love story books- प्यार का तकाजा

hindi romantic love story books, short love story in hindi language, most romantic love story in hindi language, love story in hindi,, हिंदी प्रेम कहानियां





देसिकहानियाँ में हम एक से बढ़कर एक प्रेम  कहानियां प्रकाशित करते हैं। पेश है इसी कड़ी में “प्यार का तकाजा” hindi romantic love story books आशा है,ये आपको पसंद आएगी।


लेखक- आदित्य

सोनम अपनी मम्मी-पापा और भाइयो की लाड़ली थी, लाड़ली हो भी क्यों ना, वो सबसे छोटी थी और उससे बड़े तीन भाई थे,जो उससे बहुत प्यार  करते थे. वो बहुत खुश थी,खुश भी क्यों ना हो, उसकी हर ख्वाइश उसके मम्मी-पापा और भाई पुरे जो कर रहे थे.लेकिन सोनम को प्यार करने की वजह भी थी,सोनम के पैदा  होने के बाद ही उनके घर की स्थिति अच्छी हुई थी, उससे पहले  उनकी घर की हालत  सही  नहीं  थे. जिसकी  वजह से सोनम की शादी बचपन में ही कर दी गयी थी, लेकिन बच्ची  थी इसलिए उसे वहीँ छोड़ दिया गया था, बड़ी होने के बाद ससुराल वाले उसे ले जाते, लेकिन ज्यों-ज्यों सोनम बड़ी हो रही थी, उनके घर की स्थिति अच्छी हो रही थी,इसलिए सभी उसे बहुत प्यार करते थे,सोनम थी भी बहुत सुन्दर,बड़ी होने के साथ साथ उसकी खूबसूरती बढ़ती जा रही थी, उसके रहने से घर में हमेशा हलचल रहती थी, एक दिन शाम को सोनम की दोस्त ने सोनम को अपने घर बुलाया,वजह थी उसके दोस्त की भाभी आयी थी, उससे मिलने के लिए सोनम चली गयी, वहां पहुँच कर उसने देखा की वहां एक लड़का भी आया हुआ था,जो भाभी का भाई था,भाभी के भाई का नाम संजीव था, जो बहुत खूबसूरत था, संजीव ने जब सोनम को देखा तो उसे पहली नजर में उससे प्यार हो गया और वो सोनम के करीब आने की कोशिश करने लगा, लेकिन सोनम उसके करीब नहीं जा रही थी,वजह संजीव को नहीं मालूम पद रहा था, अब तो जब भी उसे सोनम से मिलने होता वो अपनी बहन के यहाँ आ जाता,धीरे-धीरे सोनम को भी संजीव अच्छा  लगने  लगा, सोनम के खयालो  में अपने पति का रूप भी संजीव की तरह ही लग रहा था, कुछ दिनों के बाद जब संजीव को पता चला की सोनम की शादी बचपन में ही हो गयी थी और उसके ससुराल वाले उसे लेने आ रहे हैं तो उसे बहुत रोना आया लेकिन वो क्या कर सकता था? कुछ  दिनों के बाद सोनम ससुराल चली  गयी, और संजीव अकेला हो गया लेकिन वो सोनम को भुला    नहीं पा रहा था, उधर ससुराल पहुँच कर सोनम बहुत अपसेट हो रही थी,क्योंकि उसका पति बहुत ही काला था, इधर उसके ससुराल वाले भी अच्छे नहीं थे.
और भी रोमांटिक प्रेम कहानियां पढ़ना ना भूलें==>
प्यार का एहसास
एक सच्ची प्रेम कहानी
प्रेम विवाह का भूत
कैसा ये इश्क़ है

hindi romantic love story books, short love story in hindi language, most romantic love story in hindi language, love story in hindi,, हिंदी प्रेम कहानियां
उसके ससुर और सास बहुत ही कड़े स्वभाव थे,जबकि ननद भी गुस्सा वाली थी और उसका पति पहले ही दिन से सोनम की खूबसूरती पर फ़िदा था, इधर सोनम का पति सोनम को देख बहुत खुश हुआ, क्योंकि वो काला था जबकि सोनम बहुत सुन्दर और खूबसूरत के साथ साथ बहुत ही गोरी थी. जहाँ सोनम अपने घर में खुश थी कोई काम नहीं करती थी वहीँ ससुराल में उसे बहुत काम करना पड़ रहा था,जिसकी  वजह से वो बहुत रोती  थी,गलती होने पर उसकी ननद और सास उसे मारती भी थी,और उसका पति इतना डरपोक था की कभी भी अपनी माँ और बहन को कुछ नहीं बोल पाया,एक दिन सभी पार्टी में गए सिर्फ सोनम घर पर अकेली थी तभी  सोनम की ननद के पति घर जल्दी आ कर सोनम को छूने लगे, इसकी शिकायत सोनम ने अपने पति से की लेकिन उसने कुछ नहीं कहा,उलटे  सोनम की ननद ने सोनम को पिट  डाला , जिसकी  वजह से सोनम रात  को ही घर से निकल गयी और नदी में कूदने चली गयी,जहाँ संजीव ने उसे देख लिया  और उसने सोनम की जान बचाई, पूरी सच्चाई जानने के बाद उसने सोनम से शादी कर ली और वहां से दूर उन दोनों ने एक अलग घर बसा कर ख़ुशी ख़ुशी रहने लगे.
मैं आशा करता हूँ की आपको ये “hindi romantic love story books” प्रेरक कहानी आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।
इस कहानी का सर्वाधिकार मेरे पास सुरक्छित है। इसे किसी भी प्रकार से कॉपी करना दंडनीय होगा।




80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like