ga('send', 'pageview');
Articles Hub

कुछ तो है.-horror story in hindi 200 words

horror story in hindi 200 words

horror story in hindi 200 words, latest horror story in hindi, short spirit story in hindi,best horror story in hindi language, scary story in hindi language, ghost in hindi, भूत की कहानी
हम एक से बढ़कर एक डरावनी कहानियां प्रकाशित करते हैं। पेश है इसी कड़ी में आज हम “कुछ तो है”horror story in hindi 200 words प्रकाशित कर रहे हैं . आशा है आपको ये कहानी पसंद आएगी
पंकज का फॉर्म हाउस शहर से दूर एक जंगल के किनारे था. जंगल बहुत घना था, फॉर्म हाउस की दीवारे जंगल के करीब ही थी, हलाकि फॉर्म हाउस जहाँ से शुरू होता था, वहां मैदान था, लेकिन खत्म होते ही जंगल शुरू हो जाता था . जंगल भी बहुत घना था, यह फॉर्म हाउस पंकज के दादा जी ने बनवाया था, यहाँ कोई आता जाता नहीं था, पंकज के पिता भी इस फॉर्म हाउस पर ना के बराबर आते थे, लेकिन रिटयर्ड करने के बाद पंकज के पिता फॉर्म हाउस को सही करने में लग गए , इसलिए साथ में पंकज को भी आना पड़ता था, पंकज के पिता ने बहुत सारे नए नए पेड़ लगाए, तालाब में पानी भरवाया और मछली भी पालना शुरू कर दिए, फिर उन्हें मुर्गी पालने का भी शौक सवार हुआ इसलिए उन्होंने मुर्गी को रखने के लिए एक घोरंदा तैयार करवाया, कुछ दिनों तक तो सब कुछ सही चलता रहा.पंकज के पिता और भी काम करवाना चाहते थे, लेकिन ये क्या एक सुबह जब वो उठे तो उसने पाया की उनके द्वारा पाली गयी मुरगियाँ मर गयी है, पहले तो उन्हें लगा की कोई जानवर ने ऐसा किया है, लेकिन किसी भी मुर्गी के शरीर पर कोई चोट का निशान नहीं था, फिर किसने मुर्गी को मारा, लग रहा था की मुर्गी का सारा खून किसी ने निचोड़ लिया है जिसकी वजह से उसने दम तोडा है, पंकज ने ध्यान से देखा तो पाया की मुर्गी के गरदन में एक छोटा सा छेद है जिससे सारा खून पिया गया है, ऐसा ही छेद सारे मुर्गी में था,
और भी भूत की कहानियां horror stories पढ़ना ना भूलें==>
एक प्रेतात्मा का कहर
खुनी चुड़ैल और गर्ल्स हॉस्टल का आतंक
खुनी गुड़िया का कहर
खुनी हवेली का रहस्य

अब तो आस्चर्य की बात थी की भला किसने ऐसा किया होगा, पंकज ने घोरंदा और घर के आस पास कैमरा लगा दिया जिसकी वजह से सच्चाई का पता चल सके. अगली रात पंकज अपने लैपटॉप पर काम कर रहा था की अचानक उसके मॉनिटर स्क्रीन पर हरकत हुई, और उसने पाया की कुछ है, जो कैमरा की ही तरफ देख रहा है, उसकी आँखें पिली थी, भला पिली आँखें वाला कौन सा जानवर है , लेकिन ऐसा स्पस्ट पता चल रहा था की वह आँखें कैमरा को ही देख रही थी, तभी तस्वीर गायब हो गयी, पंकज घर से बहार निकला लेकिन वहां कोई नहीं था, पङकज को लगा की कोई विशालकाय मकड़ी थी, लेकिन तय नहीं हो पा रहा था की वह चीज क्या थी, तभी पंकज की खिड़की पर दस्तस्क हुई, पंकज डर गया क्योंकि पङकज दोमहल्ला पर रहता था और भला इतनी उचाई पर कौन दस्तक दे सकता है, यह कोई इंसान नहीं हो सकता, और होता भी तो गेट पर दस्तक देता न ाकि खिड़की पर, उसने यह बात अपने पिता को बताई , पिता गन ले कर बाहर गए, लेकिन कुछ देर तक कोई हलचल नहीं सुनाई दी ना ही गन की आवाज आयी, अचानक से पापा आये और उन्होंने वीडियो और तस्वीर डिलेट करने को बोला, वो हाफ रहे थे , उन्होंने बताया की यह एक बहुत मकड़ी थी, जो इंसानी आवाज में बात कर रही थी. पङकज सारे रिकॉर्ड डिलेट कर दिए लेकिन उन्होंने समझ नहीं आ रहा था की आखिर वो क्या थी? फिर पंकज और उसके पिता वापस शहर लौट आये.
मैं आशा करता हूँ की आपको ये कहानी आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।
Tags-horror story in hindi 200 words, latest horror story in hindi, short spirit story in hindi,best horror story in hindi language, scary story in hindi language, ghost in hindi, भूत की कहानी

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like