ga('send', 'pageview');
Articles Hub

एक भयानक रात-horror story in hindi pdf

horror story in hindi pdf

darawani kahaniyaan, latest horror story in hindi, short spirit story in hindi,best horror story in hindi language, scary story in hindi language, ghost in hindi, भूत की कहानी
हम एक से बढ़कर एक darawani kahaniyaan प्रकाशित करते हैं। पेश है इसी कड़ी में आज हम “एक भयानक रात”horror story in hindi pdf प्रकाशित कर रहे हैं . आशा है आपको ये खबर पसंद आएगी
एक भयानक रात…..
अल्ताफ एक संयुक्त परिवार में रहता था. उसके पापा की दुकान थी, और सभी घर वाले साथ में दुकान संभालते थे. एक रात की बात है, अल्ताफ अपने चाचा के साथ अपने घर लौट रहा था. रात काफी हो गयी थी, चूँकि दोनों किसी काम के सिलसले में शहर से बाहर गए थे, और लौटते लौटते काफी अँधेरा हो गया था, इसलिए दोनों ने फैसला किया की शार्ट कट रास्ता अपनाया जाए जिससे वो दोनों घर जल्दी पहुँच जाए. इसलिए वो तेजी से गलियों से हो कर गुजरने लगे. मैन रोड से रास्ता ज्यादा लम्बा हो जाता और घर पहुँचने में भी लेट हो जाता, इसलिए उन्होंने गलियों का रास्ता चुना.जितने तेजी से वो आगे बढ़ रहे थे, अँधेरा भी घना होते जा रहा था.तभी उन्होंने देखा की सामने एक मज्सिद है, और मस्जिद से दो गली छोड़ के तीसरे वाली गली में जब वो आये, जो बीच वाली गली थी वो बहुत पतली और सुनसान रहती थी, और वहां कोई आया जाया नहीं करता था.
तो वो दोनों जैसे ही उस गली में घुसे उन्होंने देखा की सामने से एक साइकिल का टायर अपने आप चलता हुआ उनके पास आ रहा है. जबकि उस गली में उस वक़्त कोई नहीं था बिलकुल सुनसान गली थी.आस्चर्य की बात थी की मज्सिद के आस पास भीड़ थी, लेकिन यह गली बहुत ही सुनसान थी.उन दोनों ने सोचा की शायद कोई बच्चा खेल रहा होगा और उसका टायर यहाँ आ गया होगा जैसा की आमतौर पर बच्चे टायर से खेलते हैं.वो दोनों गली में आगे बढ़ते रहे, और वो टायर भी धीरे धीरे घूमता हुआ उनकी तरफ आने लगा.यह बात उन दोनों को कुछ अजीब लगा, और उन्होंने ध्यान से उस टायर को देखा.फिर क्या था, उनके देखते ही वो टायर वहीं रुक गया.

और भी भूत की कहानियां horror stories पढ़ना ना भूलें==>
एक प्रेतात्मा का कहर
खुनी चुड़ैल और गर्ल्स हॉस्टल का आतंक
खुनी गुड़िया का कहर
खुनी हवेली का रहस्य

नोर्मल्ली अगर टायर ऐसे घूम रहा है और रुकता है तो नीचे गिर जाता है.लेकिन आस्चर्य की बात यह थी की वो टायर बिलकुल सीधा खड़ा था,फिर देखते ही देखते वो टायर चाचा जी की आँखों के सामने अपनी शेप चेंज करने लगा और किसी जंगली जानवर की आकृति लेने लगा. की वो किसी बड़े काले कुत्ते के जैसा लग रहा था.
कुत्ते की आकृति नीचे से बननी शुरू हुई. पहले उसके पंजे, पैर फिर धीरे धीरे पूरा बनने लगा.कुछ ही मिंटो बाद वो टायर पूरा कुत्ता बन चुका था, और सीधा सामने खड़े उन दोनों की तरफ घूर रहा था.ये देखते ही उन दोनों के होश उड़ गए और वो पसीना पसीना हो गए. वो दोनों हिलने की कोशिश कर रहे थे लेकिन डर के मारे हिल भी नहीं पा रहे थे. दोनों ने एक दूसरे का हाथ कस कर थमा, दोनों का डर के मारे हालत खराब था, दोनों का चेहरा पीला पड़ चूका था. वो बस चुपचाप वहां खड़े थे, बिलकुल खम्बे की तरह.फिर कुछ पलो बाद वो कुत्ता गली के साथ में बनी झाड़ियों में कूद गया.वो दोनों इतना डर गए थे की हिलने की हिम्मत नहीं कर पाए और करीब आधे घंटे तक वहीँ खड़े रहे.करीब आधे घंटे बाद उस गली से कोई गुजर रहा था, तो उसने उन दोनों से पूछा की वहां क्यों खड़े हो, तब जाके उन दोनों को होश आया. इसके बाद दोनों घर आये और घर वालो को पूरा किस्सा सुनाया.
इसके बाद करीब 3-4 दिन तक तो चाचा जी को बहुत तेज बुखार रहा, और अल्ताफ भी नजर नहीं आया, दोनों सदमे में रहने लगे थे.उसके बाद अल्ताफ ने जब मुझे बताया तो मैन जब सोचता हूँ तो यकीन नहीं होता की ऐसे कैसे हो सकता है. लेकिन अल्ताफ और उसके चाचा जी बहुत समझदार इंसान हैं और बहादुर भी हैं. उन्होंने जरूर कुछ न कुछ देखा था उस रात. जिसकी वजह से वो दोनों सदमे में थे.

मैं आशा करता हूँ की आपको ये खबर आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।
Tags-horror story in hindi pdf, latest horror story in hindi, short spirit story in hindi,best horror story in hindi language, scary story in hindi language, ghost in hindi, भूत की कहानी

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like