ga('send', 'pageview');
Articles Hub

किस जन्म में-in which birth a new short motivational hindi story

किस जन्म में
in which birth a new short motivational hindi story,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
एक भव्य आश्रम का सभागार ,ऊँचे आसन पर विराजमान पर विराजमान गुरूजी प्रवचन दे रहे थे। भक्तजन तन्मय होकर उनकी अमृत वचन को मुग्ध होकर सुन रहे थे। जन्म -मृत्यु शाश्वत है ,जन्म के बाद मृत्यु और मृत्यु के पश्चात जन्म का सतत चक्र चलता रहता है। पूर्व जन्म के कर्मों का फल अगले जन्म में भोगना ही पड़ता है। अगर इस जन्म में कोई कुकर्म करता है तो अगले जन्म में उसे कुफल की प्राप्ति निश्चित है। अतः हमें इस जन्म में सुकर्म करना चाहिये ताकि अगला जन्म सुखमय हो। सहसा सभागार के एक कोने से एक मधुर आवाज़ सुनाई पड़ी। एक तरुणी कुछ कह रही थी -प्रवचन के मध्य बोलने की धृष्टता के लिए माफ़ी चाहती हूँ महाराज ,समस्त भक्तजनो की नज़रे उसी पर टिकी थी गुरूजी ने कहा -अनुमति है वत्सा ,कहो ,क्या कहना चाहती हो? युवती ने मृदुभाषा में कहना प्रारम्भ किया ,यह सत्य है कि जिन्हे जन्म के बाद मृत्यु प्राप्त होती है वे एक जन्म में सत्कर्म कर अगला जन्म सुधारने का प्रयास कर सकते हैं परन्तु महाराज ,जिन कन्याओं का जन्म लेने से पहले ही गर्भ में क़त्ल कर दिया जाता है ,वे किस जन्म में कर्म करें और कौन सा जन्म सुधारें ?सभागार में मौन पसर गया था
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
सबसे अच्छी इच्छा-The very best desire a story of brothers from denmark
मुर्ख साधू और ठग-A short inspirational story in hindi language of a saint and a con
देवता और दैत्य-a new short mythological story of gods and demon in hindi
in which birth a new short motivational hindi story,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-in which birth a new short motivational hindi story,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like