ga('send', 'pageview');
Articles Hub

घायल की गति घायल ही जाने-injured knows the pain of injured new Hindi story

injured knows the pain of injured new Hindi motivational story,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
घायल की गति घायल ही जाने -ओ हेनरी – चोर ने भीतर पैर जल्दी से रखा और कुछ देर प्रतीक्षा करने लगा। सदाबहार पौधों को देखकर चोर समझ चुका था कि घर की मालकिन समुद्र किनारे किसी बरामदे में बैठी होगी। उसे अंदाज़ा हो गया था कि घर का मालिक लौटकर आ गया है और जल्दी ही रोशनी बुझाकर सो जाएगा। चोर ने एक सिगरेट जलाई। वह तीसरी किस्म का चोर था। इस किस्म के चोर की अभी तक ना पहचान हुई है ना स्वीकार की गई है। कालर उसकी विशेष पहचान है। जब कोई चोर बिना कालर का पकड़ा जाता है तब उसे एकदम दुराचारी और दुष्ट समझा जाता है। कालर पहनेवाला जीवन में जुवारी होता है। दिन में वह सज्जन बना रहता है। रात होते ही अपना चोरी का धंधा अपना लेता है। अमेरिका के हर राज्य में उसकी एक पत्नी होती है और हर प्रांत में एक मंगेतकर होती है। इस चोर ने एक नीला स्वेटर पहन रखा था। चोर को कोई विशेष रकम प्राप्त होने की आशा नहीं थी। चोर ने सिंगारदान की तरफ दो -तीन कदम बढाए। एकाएक बिस्टेर पर पड़े आदमी के मुंह से एक चीख जैसी कराह निकली और उसने अपनी आँखें खोल दी। चोर ने कहा -चुपचाप पड़े रहो। चोर की पिस्तौल की गोल नोक देखकर वह आदमी चुपचाप पड़े रहने में ही भलाई समझी। चोर ने उसे अपने दोनों हाथ ऊपर करने को कहा। उसने कहा कि वह अपना दूसरा हाथ नहीं उठा सकता। क्यों क्या तकलीफ है ?कंधे में गठिया है। आदमी ने कहा -खड़े -खड़े क्या मुंह बनाते हो ? चोरी करने आये हो तो चोरी करते क्यों नहीं ? चोर बोला – माफ़ करना तुम्हारी हालात देबेरी खकर मुझे धक्का पहुंचा है . मुझे भी गठिया है। मेरे बाएं हाथ में गठिया है , मेरी जगह दूसरा कोई और होता तो बायां हाथ नहीं उठाने पर गोली मार देता , एक बार गठिया हो जाए तो समझो तुम जीवन भर गठिया गए। उस आदमी ने पूछा -सांप का तेल कभी इस्तेमाल किया ? लिया है ,कोई फायदा नहीं। चोर बिस्तर पर बैठ गया और अपने घुटनो पर पिस्तौल रख ली। उसने कहा -बड़ी टीस उठती है। दर्द भी बहुत होता है। डॉक्टर के पास इसका कोई इलाज़ नहीं है। मेरी भी यही हालात है। बरसात में गठिया सुजता है। चोर ने पूछा -कभी तारपीन तेल से मालिश किया है ? हमारी एक सामान तकलीफ है बस इस गम का एक ही इलाज है -शराब।
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
ककड़ी के बीज-Seeds of cucumber a new short inspirational nepali story
दो अदुत कथाएं-Two strange and unique motivational stories in hindi language
ताबूत-Coufin a new short inspirational story about the life and the death in hindi language
injured knows the pain of injured new Hindi motivational story,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

जल्दी से कपडे पहन ,चल इकट्ठे शराब पीते हैं .उसने उस ब्यक्ति को कपडे पहना दिए। अजीब बात है चोर ने कहा -यह रहा तुम्हारा कमीज पहन लो। मैं एक आदमी को जानता हूँ जो उम बेरी ऑइंटमेंट से दो हप्तों में इतना अच्छा हो गया कि दोनों हाथों से टाई बांधने लगा। वह आदमी घूमकर वापिस जाने लगा। -लगता है पैसे लेना भूल गया हूँ। कल रात सिंगारदान पर रखे थे। चोर ने उसकी दाहिनी बांह पकड़ ली। मज़े से बोला -चलो ना ,मेरे पास पैसे हैं और बताओ कभी जैतून और विंटरग्रीन के तेल का प्रयोग किया है?और आज का ज्ञान -दुनिया में सबसे भाग्यशाली वही है जिसके पास भोजन के साथ भूख है बिस्तर के साथ नींद है ,और धन के साथ धर्म है।

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-injured knows the pain of injured new Hindi story,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like