ga('send', 'pageview');
Articles Hub

जलालत-insulting a new short love story in hindi language About the insulting in relation

जलालत……
insulting a new short love story in hindi language About the insulting in relation, true love story in hindi in short,true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language
सतना,मध्य प्रदेश के रहने वाल श्वेतांग और सौरभ दिल्ली में पढ़ाई कर रहे थे, दिल्ली में ढंग का और सस्ता रहने के लिए फ्लैट मिल जाए, यह बहुत बड़ी बात थी आखिर कार बहुत ढूंढने के बाद उन दोनों को एक अच्छा और सस्ता फ्लैट रहने के लिए मिल ही गया, फ्लैट का मकान मालिक भी बहुत अच्छा था, और उन दोनों की मदद भी किया करता था, दोनों घर का सारा काम खुद करते थे, खाना भी बनाते थे और पढ़ाई भी करते थे, उनका किचेन और बाथरूम बालकनी में था, जिसकी वजह से उन्हें कमरे से निकल कर हमेशा बालकनी में जाना पड़ता था, खैर दोनों खुश थे, समय बीतने के साथ साथ गर्मी का मौसम आ गया, और दिल्ली की गर्मी तो नामी है ही, अब लाइट भी जाने लगी थी, जिसकी वजह से दोनों को हमेशा बालकनी में खड़े हो कर हवा खाना पड़ता था। उनके सामने में फ्लैट में एक परिवार रहा करता था, जो दिल्ली का ही निवासी था, लाइट जाने के बाद वो लोग भी बालकनी में निकल जाते थे, उस परिवार में एक लड़की भी थी, जो बालकनी में खड़ी हो कर उन दोनों को देखा करती थी, लेकिन श्वेतांग और सौरभ आपस में ही बात किया करते थे, आगे के भविष्य के बारे में सोचा करते थे, उन्होंने कभी भी उस लड़की की तरफ ध्यान नहीं दिया, अचानक लाइट आ गयी और वो दोनों वापस अपने कमरे में चले गए, एक बात और थी की दोनों रात भर जगा करते और पढ़ा करते थे, जबकि सुबह बहुत लेट उठा करते थे, मतलब जब सारे लोग सो जाया करते थे तो वो दोनों पढ़ा करते थे और जब सभी जग जाया करते थे तो दोनों सोया करते थे, उनका रूटीन ही उल्टा था, इसका वजह भी था की रात को माहौल शांत हो जाया करता था जहाँ उन्हें पढ़ने में अच्छा लगता था, जबकि दिन में काफी शोर शराबा हुआ करता था, इसलिए वो रूम बंद करके सो जाते थे,
और भी रोमांटिक प्रेम कहानियां “the love story in hindi” पढ़ना ना भूलें=>
इज़हार-express a new Love story in hindi language of an one sided lover
तलाश-Find a new short love story about finding of true love
नसीब-luck a new sweet and awful love story in hindi language
insulting a new short love story in hindi language About the insulting in relation, true love story in hindi in short,true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language

एक शाम लाइट गयी हुई थी, वो दोनों बालकनी में खड़े हो कर बात कर रहे थे, तभी एक लाल रंग की रोशनी उनके चेहरे पर आयी, दोनों सामने देखने लगे, लेकिन वहां कोई नहीं था, फिर वह रोशनी आयी, फिर वो सामने नजर किये तो वहां कोई नहीं, उनकी समझ में नहीं आ रहा था की आखिर यह कौन कर रहा है? फिर लाइट आने के बाद दोनों अपने कमरे में गए और पढ़ने लगे, तभी वह लाल रौशनी उनके कमरे में भी दिखाई दी, पहले श्वेतांग कमरा से बाहर आया और देखने लगा आखिर यह कौन कर रहा है, जब वह बाहर आया तो रोशनी बंद हो चुकी थी, फिर उसके कमरे में जाते ही वह रोशनी फिर से आने लगी अब सौरभ बाहर आया तो वह रोशनी फिर बंद हो गयी, सौरभ को गुस्सा आ रहा था की आखिर यह बदमाशी कौन कर रहा है? उसने पता लगाने का मन बना लिया और वह अपने कमरा ना जा कर किचेन चला गया और वहां से सामने वाले घर पर नजर रखने लगा, रोशनी आते ही सौरभ सामने वाले घर की तरफ देखा तो उसे पता चला की सामने वाले घर में रहने वाली लड़की लेजर टॉर्च से वह रौशनी दिखा रही थी, अचानक से सौरभ किचेन से निकल कर बालकनी में आ गया, जिससे वह लड़की घर नहीं जा पायी और सौरभ से नजर मिलने के बाद उसने नजर निचे कर ली और उसके चेहरे पर मुस्कान थी, जिसे देख कर सौरभ उसे देखता ही रह गया। इतने दिनों से वहां वह रह था लेकिन आज पहली बार वह उस लड़की को गौर से देखा लड़की बहुत ही प्यारी लग रही थी, लेकिन सौरभ बिना कुछ बोले वहां से चला आया, उसने सारी बात श्वेतांग से बताई, श्वेतांग ने कहा की वह ध्यान ना दे, वो लोग यहाँ के मूल निवासी हैं, अगर वह गलती भी करेंगे तो उसका इल्जाम हम पर ही आएगा, यह बात सौरभ को पसंद नहीं आयी, आखिर गलती लड़की कर रही है तो वो लोग दोषी क्यों होंगे? खैर इस बात को हुए 1 महीना बीत गया, और इस एक महीने में वो लाइट नजर नहीं आया, लेकिन शाम को वह लड़की जरूर बालकनी पर खड़ी नजर आती थी, बालकनी में जब भी सौरभ खड़ा होता वह लड़की उसे देखने लगती थी, जहाँ श्वेतांग लड़की से दूर भागता था , वहीँ सौरभ उस लड़की की नजर से नजर मिलाता था, एक शाम उस लड़की ने पेपर पर लिख कर सौरभ को दिखाया, और उसे अपने घर के निचे बुलाया, जिसे देख कर सौरभ उसके घर के निचे चला गया, जहां लड़की ने उस पेपर को गिरा दिया, लेकिन सौरभ की किस्मत अच्छी नहीं थी, क्योँकि वह पेपर हल्का होने की वजह से सौरभ के पास ना गिर कर उस लड़की के भाई के पास जा कर गिर गया, और पेपर पढ़ने के बाद लड़की के भाई ने सौरभ पर हाथ चला दिया, जिसके बाद सौरभ ने भी लड़की के भाई को पीट दिया, अब तो वहां खड़े लोग बिच बचाव करने लगे, लड़की के भाई के कुछ दोस्त और आ गए जिन्होंने सौरभ को मारा, जब हल्ला बढ़ा तो श्वेतांग और मकान मालिक भी निचे आ गए और मामला को शांत करके सौरभ को वापस अपने फ्लैट लाया गया, भले ही सौरभ की गलती नहीं थी फिर भी उसे जिल्लत सहनी पड़ी, इसलिए वह दिल्ली छोड़ कर वापस सतना आ गया, हाँ यह जरूर था की उस कागज के टुकड़ा में लड़की ने ” आई लव यू ” लिखा था, क्योँकि मार पीट के दौरान लड़की के भाई ने यह बात बोली थी, लेकिन सौरभ जलालत बर्दास्त नहीं कर पाया और वापस अपने घर चला आया ……

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-insulting a new short love story in hindi language About the insulting in relation, true love story in hindi in short,true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like