ga('send', 'pageview');
Articles Hub

परिचय-Introduction a new short love story in hindi language of a college couple

परिचय…..
Introduction a new short love story in hindi language of a college couple,true love story in hindi in short,true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language
आनंद एक कॉलेज में सहायक पद पर नौकरी करता था, चूँकि वह काफी दिनों से वहां कार्यरत था, इसलिए सभी उसे जानते थे, वह अपना काम पूरी लगन से करता था, उसका स्वभाव भी बहुत अच्छा था, वह दुसरो की मदद भी किया करता था, लेकिन उसमे एक गलत आदत भी थी, वह बहुत ज्यादा फेकंता था, मतलब राई का पहाड़ बनाया करता था, उसके पापा मछली के बहुत बड़े व्यवसायी थे, जिससे उसके पापा की जान पहचान अच्छे लोगो से थी, वह उन्ही जान पहचान का हमेशा हवाला दिया करता था, एक बार उसके सहकर्मी को उसकी जरुरत पड़ी, हुआ यूँ की वह कॉलेज जल्दी आने के चक्कर में गलत दिशा से गाडी ले जा रहा था और पुलिस वाले ने पकड़ लिया, उसने तुरंत आंनद को कॉल किया और बोला, मैं मुसीबत में फँस चूका हूँ, तुम्हारा तो बड़े लोगो से जान पहचान है, मेरी मदद करो, यह सुन कर आंनद ने कहा, हाँ-हाँ, मैं अभी एस. पी को कॉल करता हूँ, कुछ देर तक उसका सहकर्मी इंतज़ार करता रहा, लेकिन किसी का कॉल नहीं आया, वह आंनद को फिर कॉल किया तो आंनद ने कहा, एस. पी कॉल नहीं उठा रहा है, रुको ए. एस. पी को कॉल करता हूँ, फिर से कुछ देर तक उसका सहकर्मी इंतज़ार करता रहा, लेकिन किसी का कॉल नहीं आया, वह आंनद को फिर से कॉल किया तो आंनद ने कहा, एस. पी भी कॉल नहीं उठा रहा है, अब उसका सहकर्मी समझ गया की आंनद झूठ बोल रहा है, इधर पुलिस ने फाइन नहीं देने के कारन, उसका गाडी उठवा लिया, वह बोलता रहा की मैं फाइन दे देता हूँ लेकिन पुलिस वाले नहीं माने और बोले थाने आ कर गाड़ी ले जाओ, जहाँ वह जल्दी कॉलेज पहुंचना चाहता था वही अब उसे लेट हो चूका था यह सब आंनद के फेकने की वजह से हुआ था, उसे आंनद पर बहुत गुस्सा आ रहा था, वह थाने गया जहाँ फाइन दे कर वापस कॉलेज आया तो बारह बज चुके थे, सभी ने लेट आने का कारन पूछा तो उसने सारी बात बताई, अब तो सभी आंनद की तरफ देखने लगे, आंनद ने कहा , मैंने कॉल किया था लेकिन कॉल नहीं लगा, अब सभी को मालूम पड़ गया की वह झूठ बोल रहा है, खैर, इस बात को कुछ दिन बीत गए और कुछ दिनों के बाद इसी तरह लंच में आंनद फेंकना शुरू किया तो सभी हसने लगे, और उसे फेंकू बुलाने लगे, लेकिन आंनद को इससे कोई फर्क नहीं पड़ रहा था, वह तो फेकने और अपना परिचय देने में लगा रहा था, अब उसके घर में उसकी शादी की बात चलने लगी, एक अच्छा रिश्ता आया, आंनद खुश था, जब लें दें की बात हुई तो आंनद ने फेंकना शुरू किया, उसके पास यह है वह है, जिससे उसे अधिक से अधिक दहेज़ मिल सके, लेकिन लड़की वाला भी तेज था, वह आंनद के कॉलेज से पता लगवाया तो पता चला की आंनद एक नंबर का झूठा इंसान है, सिर्फ लम्बी लम्बी बातें करता है, एक ने तो इतना तक कह दिया की उसे सभी फेंकू बुलाते हैं, लड़की वाला सतर्क हो गया और आंनद के पापा को लड़की के पापा ने सीधा सीधा बोल दिया मैं यह रिश्ता नहीं कर सकता हूँ क्योँकि आपका बेटा फेंकू है, अब तो मोहल्ले में भी बात फ़ैल गयी की आंनद का रिश्ता टूट गया क्योँकि वह फेंकू है,
और भी रोमांटिक प्रेम कहानियां “the love story in hindi” पढ़ना ना भूलें=>
बदरंग-colourless a new emotional love story in hindi language
निष्ठावान-a new short love in hindi language About the honesty in love
गलती-mistake a new short love story in hindi language of the time

Introduction a new short love story in hindi language of a college couple,true love story in hindi in short,true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language

अब तो कोई भी रिश्ता आता, सभी बोलते अच्छा फेंकू के लिए आये हो, आनंद परेशान और उसके पापा भी, क्योँकि जो उसके पापा की इज्जत थी वह आंनद के फेकने के चक्कर में चली गयी थी, अब आंनद सोच में पड़ गया की वह क्या करे? इसी बीच उसके एक दोस्त ने उसे बताया की वह अपना प्रोफाइल शादी वाले वेबसाइट पर दे दे, जिससे अच्छी लड़कियां मिल सकती हैं, आंनद ने ऐसा ही किया,एक बार फिर आदत से मजबूर आंनद ने अपने प्रोफाइल में बढ़ा चढ़ा कर लिख दिया,जिससे एक से बढ़कर एक रिश्ता आने लगा, लेकिन जब उसके ऑफिस या मोहल्ले से उसके बारे में पता करने के लिए कोई जाता तो सभी उसे फेंकू ही बुलाते थे, जिससे आंनद परेशान हो गया , उसकी समझ में कुछ नहीं आ रहा था, की वह क्या करे? अंत में उसे एक लड़की पसंद आयी जो आसनसोल की रहने वाली थी वह उससे बात करने लगा, लड़की देखने में बहुत सुन्दर थी और पढ़ी लिखी भी थी, आंनद उसे देख कर उससे बात कर बहुत खुश हो गया अब वह लड़की को अपने यहाँ बुलाने के बजाय वह खुद लड़की के यहाँ चला गया और लड़की के घर पहुँच कर लड़की से और लड़की के घर वालो से बात करके शादी तय कर लिया, वह शादी तय करके जल्दी ही शादी डेट भी तय करके चला आया और तय दिन बारात ले कर आसनसोल पहुँच गया, इतनी जल्दी में शादी का प्रोग्राम रखने के वजह से दोनों तरफ का अरेंजमेंट आंनद को ही करना पड़ा, जिससे उसका खर्चा बहुत बढ़ गया, जहाँ कल तक वह ज्यादा से ज्यादा दहेज़ लेने के चक्कर में था वहीँ अपने फेकने की आदत की वजह से अब उसे अपनी ही शादी में दोनों तरफ का खर्चा करना पड़ा, खैर शादी हो गयी, आंनद लड़की को ले कर अपने घर भी चला आया, और अब आंनद ने फेंकना बंद कर दिया था, क्योँकि उसे पता था की फेकने की वजह से कहीं उसकी बीवी भी परेशान हो कर वापस अपने घर न चली जाए, अब आंनद अपना सही परिचय सभी को देने लगा था.

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-Introduction a new short love story in hindi language of a college couple,true love story in hindi in short,true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language

80%
Awesome
  • Design
loading...
You might also like