ga('send', 'pageview');
Articles Hub

जिंदगी-life a sweet love story of a government employee and a simple girl

life a sweet love story of a government employee and a simple girl
life a sweet love story of a government employee and a simple girl, true love story in hindi in short, true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language
मनोहर सरकारी संस्थान में कार्य कर रहा था,वह इंटर पास कर ही नौकरी करने लगे थे, उसके पिताजी भी सरकारी संस्थान में कार्य करते थे, मनोहर से छोटा एक भाई और बहन था, जहाँ एक ओर मनोहर ऑफिस ओर घर दोनों में ताल मेल बिठा कर काम करता था, वहीँ उसके छोटे भाई को किसी से कोई मतलब नहीं रहता था, मनोहर को मोहल्ले में भी सभी जानते थे, वह ऑफिस के अलावा भी छोटा मोटा काम किया करता था, हलाकि उसके पिताजी चाहते थे की वह पढ़ाई करे ओर अच्छी नौकरी करे, लेकिन मनोहर इंटर पास करने के बाद जॉब करना शुरू कर दिया था, साथ ही साथ में पाध्ये भी किया करता था, वह जहाँ तैयारी किया करता था, वहां अब वह जाना छोड़ दिया था, हलाकि उसे जब जरुरत पड़ती थी वह पुराने इंस्टिट्यूट चला जाता था, इसी क्रम में उसकी मुलाकात एक लड़की से हुई, जिसे देख कर मनोहर उसे देखता ही रह गया, लड़की भी तैयारी करने आयी थी, जहाँ उसकी बात मनोहर से हुई तो मनोहर ने उसे बताया की वह काम करने के साथ साथ तैयारी भी कर रहा है, मनोहर उस लड़की को कैसे तैयारी की जाय यह भी बताया, मनोहर ने उस लड़की का नाम पूछा तो लड़की ने अपना नाम मानसी बताया, मनोहर खुश हो गया, मानसी ने उसके ख़ुशी का वजह पूछा तो मनोहर ने बताया की उसका नाम मनोहर है, दोनों का नाम म से शुरू हो रहा है, इस पर मानसी ने मुस्कुरा दिया, फिर मनोहर ने मानसी से उसका नंबर माँगा, तो मानसी ने बताया की उसके पास मोबाइल नहीं है, ना जाने क्यों , लेकिन मनोहर पास के ही एक दुकान से उसे मोबाइल ओर एक सिम अपने नाम पर ही खरीद कर दे दिया, मानसी को भी आस्चर्य हुआ की आज पहली मुलाकात में ही ओर छोटी सी बात चीत में ही मनोहर ने उसे मोबाइल खरीद कर दे दिया, पहले तो मानसी ने मोबाइल लेने से मना किया फिर मनोहर के बार बार कहने पर मोबाइल ले लिया, एक दिन के बाद मनोहर ने जब मानसी को कॉल किया तो मानसी ने कॉल लिया और मनोहर से बात की, काफी लम्बी बात चीत हुई जिसमे ज्यादातर समेत सिर्फ पढ़ाई की हुई, अब मनोहर हर शाम मानसी को कॉल करता और उससे बात करता, इसी बीच मनोहर के पिता जी बीमार पड़े और काफी इलाज के बाद भी वह चल बसे, उन्हें कैंसर हो गया था, मनोहर टूट चूका था लेकिन उसने हार नहीं मानी, मानसी ने भी इस परीस्थी में मनोहर का साथ दिया, मनोहर को ख़ुशी थी की कोई तो उसके साथ खड़ा है, लेकिन मनोहर की परेशानी काम नहीं हो रही थी, अब उसके गांव में उसके चाचा उसके पिता के मरने के बाद जमीन लेने की कोशिश करने लगे, जिससे मनोहर और परेशान हो गया,
और भी रोमांटिक प्रेम कहानियां “the love story in hindi” पढ़ना ना भूलें=>
एहसान-Favor A new short love story of Rahul and Rachna in hindi language
त्याग-Sacrifice a new short love story with the sweet memories of a couple
नया प्यार-New Love a sweet new true love story of an indian couple
life a sweet love story of a government employee and a simple girl, true love story in hindi in short, true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language
अब वह गाँव जा कर पापा के सारे कागजात मुखिया और पंचायत को दिखाया, उसके बाद चाचा को बोलै गया की मनोहर के पिता के जाने के बाद मनोहर वारिस है, जिससे मनोहर ने चैन की साँस ली, इन सभी चक्कर में मनोहर की पढ़ाई पूरी तरह से छूट चुकी थी ऑफिस में भी इतना छुट्टी लेने की वजह से सभी उससे नाराज हो गए थे, मनोहर इन सभी वजह से चिड़चिड़ा हो गया था, जिसकी वजह से उसे ऑफिस में काम करने में भी मन नहीं लग रहा था,ऐसे में मानसी ने कॉल कर दिया, मनोहर ने चिल्ला कर बात की, जिससे मानसी रोने लगी, उसका रोना सुन कर मनोहर को बाद में बहुत अफ़सोस हुआ, उसे समझ में आ रहा था की किसी और का गुस्सा वह किसी और पर उतर रहा है, लेकिन वह क्या कर सकता था,इसलिए वह बाद में मानसी को कॉल कर माफ़ी माँगा, मानसी ने कहा, मैं समझ सकती हूँ,पापा के जाने के बाद साडी जिम्मेदारी आप पर आ गयी है, लेकिन आप इतना टेंशन ना ले, परेशान होने से समस्या का समाधान नहीं हो सकता है, इसलिए धर्य से काम ले, मनोहर को मानसी की बात पसंद आ गयी और उसने उससे अपने प्यार का इजहार कर दिया,मानसी ने भी मनोहर के प्यार को अक्सेपक्ट कर लिया और कहा,मैं हमेशा तुम्हारे साथ रहूंगी,मनोहर सोच रहा था, मानसी ने सही तो कहा,वह मानसी की बात सोच रहा था और अपने प्यार के जरिये जो उसे जिंदगी का परिचय मिला उसे भी समझ रहा था, सही बात है यही तो जिंदगी है,जिसे ख़ुशी ख़ुशी जीना चाहिए, इसलिए वह अब मानसी से अच्छे से बात किया करता था, और उसे अब मानसी का साथ भी अच्छा लगने लगा था, अब उसे जब भी समय मिलता वह मानसी से मिलने पहुंच जाता और उसे मानसी का साथ बहुत अच्छा लगता, इस तरह उसने जिंदगी को जीना सिख लिया……

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-life a sweet love story of a government employee and a simple girl, true love story in hindi in short, true sad love story in hindi language, hindi love story in short love, love story novel in hindi language, romantic love stories in hindi language

loading...
You might also like