ga('send', 'pageview');
Articles Hub

नाग नागिन की कहानी-Life story of a pair of snakes in hindi language

Life story of a pair of snakes in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language
यह एक अजीब दास्ताँ है ,ना कोई फ़िल्मी कहानी और ना ही कोई किस्सा। स्नेह भरा एक दास्ताँ ,जहां इस मायावी दुनिया में इंसान ही इंसान का दुश्मन है ,वही पशु -पक्षियों का अप्रतिम प्रेम अनुकरणीय है। इस नाग -नागिन की प्रेम कहानी को जिसने भी देखा वह विश्वास नहीं कर पाया। एक गड्ढे में दो फुट का नाग मृत पडा था और उसके मृत शरीर से लिपटी थी नागिन। वह विगत दो दिनों से नाग की देह से लिपटी मानो विलाप कर रही थी। वह नाग से ऐसे चिपटी थी जैसे उसके ज़िंदा होने का एहसास ही ना हो। जब कुछ लोगों ने मृत नाग को हिलाया तब नागिन ने गुस्से में अपना फन उठाया। पहले तो वह उस मृत नाग के चारों तरफ चक्कर लगाई फिर नाग के शरीर से लिपट गई। यह किस्सा हरियाणा के कैथल जिले की है। रूपनगर के रहनेवाले एक युवक ने बताया कि किसी ने नाग को मारकर वहाँ फेंक दिया था। नवरात्रा में नाग के इस तरह मरे पड़े रहना अशुभ समझा जाता है ,ऐसी मान्यता है। लोगों ने उस मृत नाग को दफनाने की सोची। गड्ढा खोदने के बाद लाठी के सहारे जैसे ही उस मृत नाग को उठाने की कोशिश की गई , देह से लिपटी नागिन क्रोध से अपने फैन को उठाया। सभी युवक पीछे हट गए। नागिन अब नाग के पास फन फैलाये बैठी थी। जब भी नाग को लाठी के सहारे उठाने की कोशिश की जाती नागिन फुंफकार अपना विरोध प्रगट करती . भीड़ जुटाने लगी। ख़ास कर महिलाओं की। लोगों का कहना है कि नागिन को बिना नुक्सान पहुँचाये मृत नाग को दफनाने का प्रयास कर रहें हैं नागिन किसी तरह जंगल की तरफ चली जाय . अगर वे जबरदस्ती नाग को हटाते हैं तो नागिन उन्हें नुक्सान पहुंचा सकती है। –
और भी प्रेरक कहना पढ़ना ना भूलें==>
दो अनूठी कथायें-two unique and motivational stories in hindi
विल्व पत्र-some motivational words in hindi from Swami Vivekanand

ठग का ग्रास-Try of swindler a new short hindi language for motivation
Life story of a pair of snakes in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

मैं आशा करता हूँ की आपको ये story आपको अच्छी लगी होगी। कृपया इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ फेसबुक और व्हाट्स ऍप पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। धन्यवाद्। ऐसी ही और कहानियों के लिए देसिकहानियाँ वेबसाइट पर घंटी का चिन्ह दबा कर सब्सक्राइब करें।

Tags-Life story of a pair of snakes in hindi language,inspirational story in hindi,inspirational story in hindi for students, motivational stories in hindi for employees, best inspirational story in hindi, motivational stories in hindi language

loading...
You might also like