Articles Hub

love story in hindi book-एक लव स्टोरी ऐसी भी

love story in hindi book,most romantic love story in hindi language, love story in hindi, trending love story in hindi, sad love story in hindi

love story in hindi book

अनूप हमेशा इस ताक में रहता था की कब उसे ऐसा मौका मिले की वो अपने प्यार का इजहार स्वेता से कर दे,लेकिन उसे ऐसा करने का मौका ही नहीं मिल रहा था । धीरे-धीरे कॉलेज का दूसरा साल भी बीत गया और एग्जाम शुरू हो गया, इस एग्जाम में भी स्वेता अनूप के साथ ही बैठी हुई थी,और एक बार फिर अनूप स्वेता को पूरा उत्तर बता दिया,जिसकी वजह से स्वेता अच्छे नंबर से पास कर गयी । अब कॉलेज का फाइनल साल शुरू हो गया था। एक दिन अनूप कॉलेज पहुंचा तो देखा स्वेता उसी लड़के से बात कर रही थी,अनूप के आते ही स्वेता थोड़ा सा असजह हो गयी और अनूप भी उस लड़के को देख कर थोड़ा सा विचलित हो गया,अनूप उन दोनों के पास पहुंचा तो स्वेता ने उस लड़के से अनूप को ये कहते हुए मिलवाया की, “ये भैया मेरे साथ ही पढ़ते हैं और मेरी पढ़ने में हर संभव मदद करते हैं।” एक बार फिर जब अनूप ने अपने लिए भैया सुना तो उसको बहुत गुस्सा आया,और उस लड़के का परिचय कुछ इस तरह करवाया की,” ये मेरा बहुत अच्छा दोस्त है,इसका नाम शुभम है।” शुभम भी अपने लिए अच्छा दोस्त सुन कर चौंक गया,क्योंकि शुभम और स्वेता एक दूसरे से बचपन से प्यार करते आ रहे थे,दोनों शादी भी करने वाले थे, फिर अच्छा दोस्त क्यों बोला,ये बात शुभम की समझ में नहीं आया,इधर अनूप अपने लिए भैया सुन कर मन ही मन गुस्सा हो रहा था,शुभम के जाने के बाद अनूप ने स्वेता से पूछा की मुझे भैया क्यों बोला,इस पर स्वेता ने बोला की आप को मैं पहले दिन ही भैया बोला था,इसलिए वो ही समझती रह गयी,इस पर अनूप ने बोला की,लेकिन तुमने खुद मुझसे सॉरी बोला था और भैया ना बोलने का प्रॉमिस भी किया था,फिर भैया क्यों बोला? इस पर स्वेता ने बोला की उसका दिल उसे भैया मानता है,इसलिए मुँह से भैया ही निकल जाता है ।ये सुन कर अनूप का दिमाग कुछ देर के लिए काम करना बंद कर दिया,क्योंकि उसके दिल में जहाँ स्वेता का सैयां बनने का ख्वाब संजो रहा था,वहीँ स्वेता ने उसे भैया बना दिया था। उसकी समझ में नहीं आ रहा था की वो क्या बोले,फिर भी उसने रुआँसे आवाज में पूछा,क्या कभी एक पल के लिए भी उसे भैया छोड़ कर उसके दिल में कुछ और ख्याल नहीं आया,इस पर स्वेता ने सीधे-सीधे ना बोल दिया।अब तो अनूप चुप चाप वापस वहां से चला गया, और उसके दिमाग में पहले दिन से ले कर बीते दो साल की पूरी बातें आँखों के सामने आ गयी,किस कदर उसने स्वेता से प्यार किया,किस कदर उसने स्वेता की मदद की एग्जाम में भी उसकी मदद की और आज दो साल के बाद उसे सैयां के बदले भैया सुनने को मिल रहा है। कुछ दिनों तक अनूप ने स्वेता से कोई बात नहीं की,क्लास में ये हल्ला होने लगा की स्वेता और अनूप के बिच झगड़ा हो गया है,ये बात जब अनूप को सुनने को मिली तो उसने बहुत ही अफ़सोस करते हुए बोला की प्यार ही कब था,जो अब झगड़ा हो गया है। कुछ महीने बीतने के बाद एक दिन फिर अनूप कॉलेज कंपाउंड में खड़ा था,तभी एक लड़की आयी और उससे पूछ बैठी की भैया विज्ञानं संकाय का क्लास किधर है? इस पर अनूप को स्वेता की याद आने लगी और उस्सने स्वेता का गुस्सा उस लड़की पर निकालते हुए बोला, जाओ खुद से ढूंढ लो,लड़की को अजीब लगा की कैसे कैसे लोग कॉलेज में पढ़ने आते हैं,लेकिन वो चुप चाप वहां से चली गयी,इधर फाइनल ईयर का एग्जाम शुरू होने वाला था,एक बार फिर स्वेता ने अनूप से मदद के लिए बोला,लेकिन अनूप स्वेता की मदद नहीं करना चाहता था,स्वेता के बार बार कहने पर भी अनूप मना कर रहा था, स्वेता रोने लगी और बोलने लगी भैया प्लीज,आखिरी बार मदद कर दो। एक बार फिर भैया सुन कर अनूप लाल-पीला हो गया और उसने बोला सिर्फ और सिर्फ एक भैया शब्द की वजह से मैं तुम्हारी मदद नहीं करूँगा.
और प्रेम कहानियां पढ़ें=>ये कमब्खत इश्क भी,ये इश्क़ नहीं आसान,बस में प्यार
स्वेता ने पूछा आखिर क्यों? इस पर अनूप ने बोला मैं तुम्हे चाहने लगा था और तुमने मेरी चाहत का ये सिला दिया, इस पर स्वेता ने बोला,एक बार बोल तो देते,मैं पहले ही मना कर देती,क्योंकि मैं शुभम से प्यार करती हो वो भी बचपन से,उसे धोखा नहीं दे सकती,जब अनूप ने शुभम का नाम सुना तो उसके होश उड़ गए, आखिर उसे सारा मामला समझ में आ गया था, लेकिन स्वेता ने जब उसके प्यार का वास्ता दिया तो अनूप ना चाहते हुए भी उसकी मदद करने के लिए तैयार हो गया,क्योंकि प्यार तो आखिर प्यार होता है । परीक्षा खत्म हो गयी और आज कॉलेज का अंतिम दिन था,इसलिए जूनियर ने उन सबो के लिए एक पार्टी रखा था, जिसमे वो लड़की भी शामिल हुई जिसने…..
love story in hindi book,most romantic love story in hindi language, love story in hindi, trending love story in hindi, sad love story in hindi
ये love story in hindi bookअगली पेज में भी जारी है, आगे पढ़ने के लिए निचे क्लिक करें।



loading...
You might also like